Wed. Apr 24th, 2024

कमलनाथ के करीबी सैयद जाफर ने छोड़ी कांग्रेस, लोकसभा चुनाव से पहले करीब पांच हजार बड़े-छोटे नेताओ ने थामा बीजेपी का दामन

लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस की स्थिति दिनों दिन खराब ही होती जा रही है। खासकर छिंदवाड़ा में कमलनाथ के कट्टर समर्थक अब उनसे एक-एक कर दूर जा रहे हैं। इसी बीच कमलनाथ के कट्टर समर्थक और उनकी बातों को प्रमुखता से रखने वाले सैयद जाफर ने भी उनके दर्जन भर से अधिक समर्थकों ने भी भाजपा का दामन थाम लिया है।

छिंदवाड़ा में कमलनाथ को बड़ा झटका

सैयद जाफर के पार्टी छोड़ने से छिंदवाड़ा में कमलनाथ को बड़ा झटका लग सकता हैं, दरअसल सैयद जाफर छिंदवाड़ा से ही आते हैं। उनकी गिनती कमलनाथ के वफादारों में होती थी। वह कमलनाथ के साथ मुस्तैदी से खड़ा रहते थे। कई बार जब कमलनाथ को लेकर अटकलें लगती थीं कि वह खंडन भी करते थे। अब सैयद जाफर ने बीजेपी की सदस्यता ग्रहण कर ली है। यह छिंदवाड़ा में कमलनाथ के लिए बड़ा झटका है। सैयद जाफर ने भोपाल में सीएम मोहन यादव और प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा के समक्ष बीजेपी की सदस्यता ग्रहण की है। दरअसल, मुख्यमंत्री मोहन यादव और प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने प्रदेश कार्यालय में कांग्रेस नेता सैयद जाफर, पथरिया के वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिनेश श्रीधर, कांग्रेस महामंत्री डॉ. मनीषा दुबे, रतलाम जिला पंचायत सदस्य संतोष पालीवाल, बसपा के प्रदेश प्रभारी डॉ. रामसखा वर्मा, पूर्व प्रचारक अभयराज सिंह समेत दर्जनों नेताओं को बीजेपी की सदस्यता दिलाई है। इस अवसर पर बीजेपी नेताओं ने अंगवस्त्र पहनाकर उनका स्वागत किया है।

क्या कहा वीडी शर्मा ने

कांग्रेस नेताओं के बीजेपी में शामिल होने पर प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने कहा है कि सभी लोगों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यों पर भरोसा जताया है। इसके बाद पार्टी की सदस्यता ग्रहण की है। गौरतलब है कि एमपी में कांग्रेस की जब से हार हुई है, उसके बाद से पार्टी नेताओं का छोड़ना जारी है। लोकसभा चुनाव से पहले करीब पांच हजार बड़े और छोटे नेताओ में भाजपा का दामन थाम लिया है।

कांग्रेस बाकि बची 19 लोकसभा सीटों पर इस हफ्ते घोषित कर सकती है उम्मीदवार

अभी तक कांग्रेस ने MP में सिर्फ 10 ही उमीदवार तय किए हैं, वहीं कल Mhow (डॉ अम्बेडकर नगर) के दिग्गज नेता अंतर सिंह ने बीजेपी का दामन थाम लिया

क्या वाकई में मध्यप्रदेश में कांग्रेस को नहीं मिल रहे हैं प्रत्याशी या फिर बड़े नेताओं के बीच नही बैठ रही पटरी। हालांकि आपको बता दें कि मप्र में विधानसभा चुनावों के बाद से लगातार कांग्रेसी नेता पार्टी छोड़ कर BJP का दामन थाम रहे हैं। ऐसे में पीसीसी चीफ़ पटवारी के लिए नेताओं का जाना गले मे फसी हड्डी की तरह हो गया है, क्योंकि जितने भी नेता गए है उन सभी का अपना जनाधार है ऐसे में पार्टी को चुनाव में बड़ा नुकसान उठाना पड़ सकता है।

19 सीटों पर प्रत्याशी तय होना बाकि है

कांग्रेस ने 29 में 10 उम्मीदवार ही तय किये हैं और बीजेपी ने अपने सभी उम्मीदवारों के नाम तय कर दिए हैं। कांग्रेस के नेता का कहना है कि लेट उम्मीदवार तय करने से हमे प्रचार के लिए क्षेत्र में कम समय मिल पाता है, जिससे हमें नुकसान उठाना पड़ता है।

प्रदेश अध्यक्ष कर रहे सम्भावित प्रत्याशी से चर्चा

ऐसा पहली बार हो रहा है कि जब किसी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष प्रत्याशियों से वन टू वन चर्चा कर रहे हैं, क्योंकि नेताओं के पार्टी छोड़ने से पार्टी 2014 वाली गलती दोहराना नहीं चाहती है।

मंगलवार तक फाइनल होंगे नाम

सोमवार को दिल्ली में केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक होगी। इसमें समन्वयकों की रिपोर्ट और विभिन्न माध्यमों से प्राप्त संभावित दावेदारों के नामों पर विचार कर अंतिम रूप दिया जाएगा और सभी 19 सीटों पर मंगलवार तक नामों की घोषणा की जाएगी।

घोषणा पत्र के लिए भाजपा 1 करोड़ से अधिक जानता का सुझाव लेगी, जिसके लिए जारी किया मोबाइल नंबर

भारतीय जनता पार्टी ने जिला स्तर पर विकसित “भारत मोदी की गारंटी आकांक्षा संग्रहण अभियान” लॉन्च किया है। इस अभियान के तहत पार्टी लोकसभा चुनाव के संकल्प पत्र के लिए एक करोड़ से अधिक लोगों के सुझावों को आमंत्रित कर रही है।

अभियान से जुड़ने के लिए किया मोबाइल नंबर जारी

जिला अध्यक्ष संतोष मकु परवाल ने मीडिया से बात चीत में कहा कि 1 मार्च को प्रदेश के पार्टी मुख्यालय से अभियान को प्रदेश ऑफिशियल तरीके से लांच किया गया है। अब सभी जिलों में ‘विकसित भारत’ मोदी की गारंटी आकांक्षा संग्रहण को लांच किया जा रहा है। परवाल ने बताया कि मोबाइल नंबर 9090902024 पर मिस्ड कॉल कर लोग इस अभियान से जुड़ सकते हैं, और अपना सुझाव दे सकते हैं। इस नंबर पर मिस्ड कॉल करने पर लिंक खुलेगी, जिसे भरकर भाजपा का संकल्प पत्र कैसा होना चाहिए, इसे लेकर सुझाव दिया जा सकता है।

भाजपा जिला मीडिया प्रभारी हितेंद्र शर्मा ने बताया कि संकल्प पत्र के सुझाव प्राप्त करने के लिए पार्टी सभी विधानसभा कार्यालयों में सुझाव पेटी भी रखेगी। इसके साथ ही नमो एप के माध्यम से भी लोग अपना सुझाव दे सकते हैं। उन्होंने बताया कि आठ से 12 मार्च के बीच हर बूथ पर घर-घर जाकर पार्टी के कार्यकर्ताओं द्वारा लोगों के सुझाव आमंत्रित किए जाएँगे।

प्रत्याशियों की घोषणा

इधर, भाजपा लोकसभा चुनाव के लिए 195 प्रत्याशियों की सूची जारी कर चुकी है। मध्य प्रदेश में भी पार्टी ने 29 में से 24 प्रत्याशियों के नामों का ऐलान कर दिया है। वहीं संभावना है कि पार्टी दूसरी सूची भी जल्‍द ही जारी कर सकती है।