Sat. Jun 15th, 2024

मोदी के रोड शो के लिए दुल्हन सा सझा भोपाल, सीएम मोहन यादव ने पीएम को लेकर कही ये बड़ी बात

24 अप्रैल को भोपाल पहुँचे BJP के फायर ब्रांड नेता और देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 1.2 किमी का रॉड शो किया, शो के दौरान दोनों ही तरफ भारी मात्रा में पहुँचे लोगों ने मोदी का स्वागत किया। दरअसल, प्रधानमंत्री मोदी का यह मध्य प्रदेश का दूसरा रोड शो है। इससे पहले जबलपुर में रोड शो हुआ था। भोपाल में बुधवार को हुए रोड शो प्रधानमंत्री मोदी खुले वाहन में सवार थे और उनके साथ मुख्यमंत्री मोहन यादव, पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष विष्णु शर्मा और भोपाल के उम्मीदवार आलोक शर्मा भी थे।

400 पार के नारे, दोनों तरफ सड़कें भगवामय

जनता का अभिवादन कर रहे प्रधानमंत्री के स्वागत के लिए प्रदेश भाजपा ने कोई कमी नहीं छोड़ी थी खुद सीएम डॉ मोहन यादव ने एक दिन पहले सभी व्यवस्थाओं का जायजा लिया। सीएम ने कहा हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के नेतृत्व में हम तीसरी बार फिर सरकार बनाने जा रहे हैं। उनके स्वागत के लिए हम कोई कमी नहीं रखेंगे भोपाल दुल्हन से सझेगा।

रोड शो देखने उमड़ी भीड़ के हाथ में पीएम मोदी की तस्वीर लेकर मोदी-मोदी और अब की बार 400 पार के नारे लगा रही थी। जिस सड़क से रोड शो गुजर रहा था, वह पूरी तरह भगवा मय नजर आया। इस दौरान सांस्कृतिक दलों द्वारा प्रस्तुति भी दी गई। कई स्थानों पर तो महिलाएं हाथ में आरती लिए भी नजर आईं।

रोड शो से पहले हरदा में कई जनसभा

भोपाल के रोड शो से पहले बैतूल संसदीय क्षेत्र से प्रत्याशी डीडी उईके के समर्थन में जनसभा के लिए हरदा पहुँचे थे। मोदी ने कहा कि मैं हर बार कुछ न कुछ देने आता हूँ लेकिन इस बार मे आपसे लेने आया हूँ। मध्यप्रदेश भारत के दिल मे बस्ता है और ह्रदय से दिया हुआ आशीर्वाद खाली नहीं जाता, आप एक बार फिर हमें आशीर्वाद दें और देश मे भाजपा की सरकार बनाए।

MP में एक बार फिर हुई डिजिटली अरेस्ट से ठगी, व्हाट्सएप कॉल के जरिये डिजिटली अरेस्ट कर ठगे 2 करोड़ 40 लाख

Ujjain: इंदौर (Indore) में हुई डिजिटली गुत्थी सुलझी भी नहीं थी वैसा ही ठगी का मामला उज्जैन (ujjain) से सामने आया है। शहर के स्टील व्यापारी को व्हाट्सएप के जरिए कॉल करके डिजिटली अरेस्ट कर 2 करोड़ की ठगी की है। धोखेबाजों ने ठगी की रकम को 40 बैंक खातों में ट्रांसफर कर दिया। व्यापारी ने जब माधवनगर थाने में शिकायत की तो पुलिस भी दंग रह गई।।

जेट एयरवेज के मालिक तक जुड़े तार

ठगों ने व्यापारी को फ़ोन कर बताया कि जेट एयरवेज के मालिक नरेश गोयल के द्वारा किये गए फ़्रॉड का पैसा आपके एकाउंट में आया है। आरोपियों ने सीबीआई के लेटर हेड भी भेजे ताकि व्यापारी को विश्वास हो सके, जिसके बाद व्यापारी घबरा गया और उसने ठगों के कह अनुसार 2 करोड़ की राशि उनके एकाउंट में ट्रांसफर कर दी।

घटना के 4 दिन बाद समझ आया कि ठगी हुई

घटना के 4 दिन बाद स्टील व्यापारी को आभास हो गया की उनके साथ ठगी हुई है तो उन्होंने तत्काल माधवनगर थाना पहुंचकर पुलिस को शिकायत की। सनसनीखेज ठगी का मामला सामने आते ही एसपी प्रदीप शर्मा ने सीएसपी दीपिका शिंदे के नेतृत्व में सायबर सेल और क्राईम ब्रांच के साथ मिलकर 5 टीमें बनाई गईं।

सभी ने तकनीकी साक्ष्य जुटाए और व्हाट्सएप कॉलिंग के साथ जिस बैंक खाते में रुपए ट्रांसफर किए गए उनकी जानकारी जुटाई। इसके बाद पुलिस की टीम यूपी और बिहार पहुंची, जहां पर बैंक शाखा में जाकर जिस खाते में रुपए गए थे। उसकी जानकारी निकाली तो पुलिस अधिकारी भी दंग रहे गए। उक्त 2 करोड़ रुपए 40 खातों में ट्रांसफर कर दिए गए थे।

इनको किया गिरफ्तार

पुलिस ने मुकेश पिता रामचंद्र सॉ 35 साल निवासी ग्राम भैंसासुर नालंदा बिहार, अमरेन्द्र कुमार पिता ब्रजनंदन प्रसाद 23 साल निवासी ग्राम बारापुर नालंदा बिहार, अनिल पिता भेरुसिंह यादव 31 साल निवासी नवादा मैनपुरी यूपी, शरद पांडे पिता अमोद पांडे 30 साल निवासी ग्राम कुशमरा मैनपुरी और शाहनवाज पिता मुन्ना आलम 18 साल निवासी ग्राम किंजर अरबल बिहार को गिरफ्तार किया।

जानिए आखिर क्यों दादी ने अपनी 4 दिन की पोती की हत्या कर दी

मध्यप्रदेश में एक बार फिर मानवता शर्मसार हुईं है, मप्र के ग्वालियर में एक दादी ने गुस्से में अपनी ही पोती को गला घोंटकर मार डाला। पोती सिर्फ 4 दिन की ही थी।

आखिर क्यों उठाया यह कदम

चार दिन की दुधमुंही बच्ची को उसी की दादी ने गला घोंटकर मार डाला और फिर इसे सामान्य मौत बताने की कोशिश करती रही। बात यह थी कि दादी को पोते की चाह थी लेकिन लड़की का जन्म होने से दादी ख़फ़ा थी। नवजात बच्ची जन्म से ही दिव्यांग थी, ऐसे में दादी बच्ची से पीछा छुड़ाना चाहती थी, इसीलिए उसने बच्ची को एक रात अपने पास सुलाकर गला दबा दिया। इस मामले में बच्ची के पिता की भी संदिग्ध भूमिका नजर आ रही है।

पोस्टपार्टम ना करने का दबाव बनाता रहा पिता, माँ की जिद के कारण हुआ फिर

अगले दिन सुबह आरोपी उठी तो उसने कहा कि बच्ची सांस नहीं ले पा रही है, हालांकि शक होने पर अस्पताल वालो ने पुलिस को सूचना दी तो पिता पुलिस पर दबाव बनाने लगा कि पोस्टमार्टम ना हो पर बची की माँ की ज़िद के चलते पोस्टपार्टम हुआ जिसमें गला घोंटने से मौत का कारण सामने आया।

छात्रा की खुदकुशी में आया नया मोड़, पुलिस ने सीन रिक्रिएट कर सुलझाई गुत्थी

प्रेमी ने छात्रा को शादी का वादा किया लेकिन 6 मार्च को युवक ने किसी और से शादी कर ली थी जिससे छात्रा आकृति काफी परेशान थी और आदित्य भी उसे प्रताड़ित कर रहा था।

धोखे से परेशान थी आकृति

पड़ाव थाना प्रभारी इला टंडन ने बताया कि आकृति और आदित्य शर्मा 2-3 साल से एक दूसरे को जानते थे और एक दूसरे के पड़ोसी भी हैं। एक दूसरे के सम्पर्क में आने के बाद दोनो के बीच प्रेम संबंध बने थे। आदित्य ने आकृति से शादी का वादा किया था लेकिन उसने किसी ओर से शादी कर ली थी जिसका पता चलने के बाद आकृति काफी परेशान रहनी लगी थी।

सीन रिक्रिएट कर सुलझाई गुत्थी

पुलिस ने क्राइम सीन को रिक्रिएट किया, इस दौरान आकृति के परिजन और उसके दोस्त मौजूद थे। परिजनों ने पुलिस को जानकारी दी कि घटना वाले दिन भी आकृति यहीं खड़ी थी और दोनों के बीच काफी झगड़ा हुआ था और आकृति ने सुसाइड की धमकी दी थी। इसी वक्त उसने किले से छलांग लगा दी।

अब भी गफलत में है पुलिस

पुलिस अब भी इसी गफ़लत में है कि आकृति किले पर खुद आई थी या उसे किसी ने फ़ोन करके बुलाया था हालांकि पुलिस ने आदित्य पर धारा 306 के तहत मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है और पूछताछ जारी है।

UPSC रिजल्ट 2023 में MP की बेटियों ने रचा इतिहास

यूपीएससी 2023 का फाइनल रिजल्ट घोषित हो गया है। इस बार मप्र की दो बेटियों ने टॉप 20 में जगह बनाई है। छोटे से गाँव मोरखा के रहने वाले शुभम ने 556वी रेंक हासिल की है, जबलपुर की स्वाति की 15वीं रैंक है।

इंटरव्यू में पूछा इंदौर को कैसे स्वच्छता में पीछे कर सकते हैं

इंदौर की रहने वाली अनुष्का शर्मा ने 20वी रैंक हासिल की है। उन्होंने तीसरी कोशिश में सफलता प्राप्त की है। अनुष्का ने बताया कि इंटरव्यू के समय पैनल ने इंदौर स्वच्छता में नम्बर 1 क्योँ है? और इसे कैसे पीछे कर सकते हैं? सवाल पूछे थे।

आईएस छोटे सिंह की बेटी छाया का भी हुआ चयन

राजस्व मंडल ग्वालियर में पदस्त अपर आयुक्त छोटे सिंह की बेटी छाया सिंह ने आखिरी प्रयास में 65वीं रैंक प्राप्त की है। इन्हीं के साथ भोपाल के रहने वाले दो सगे भाइयों डॉ सचिन गोयल को 209वी और समीर गोयल को 222वी रैंक मिली है।

आदिवासी बाहुल्य जिले के शुभम को भी सफलता

बैतूल जिले के छोटे से गाँव मोरखा के रहने वाले शुभम ने भी यूपीएससी में 556वी रैंक हासिल की है।
शुभम ने लॉ की पढ़ाई के साथ-साथ सिविल सेवा की भी तैयारी शुरू कर दी थी। उनके पिता भी वकील हैं और माता सरकारी टीचर। उनकी सफलता से पूरे गांव में जश्न का माहौल है।

सब इंस्पेक्टर की बेटी ने प्राप्त की 485वीं रैंक

सतना जिले में पदस्थ सब इंस्पेक्टर विजय सिंह कुशवाह की बेटी काजल सिंह ने प्रथम प्रयास में यूपीएससी परीक्षा पास कर 485वीं रैंक हासिल की है। काजल सिंह ने बताया कि अभी कुछ कमी रह गई है, उनका उद्देश्य यूपीएससी टॉप 10 में आकर आईएएस अधिकारी बनना है। इसके लिए वो पुनः प्रयास करेंगी।

मप्र से 31 अभियर्थियों का हुआ है चयन

अयान जैन-16वीं रैंक-भोपाल
तेजस अग्निहोत्री-37वीं रैंक-भोपाल
छाया सिंह-65वीं रैंक-भोपाल
मान्या-84वीं रैंक- ग्वालियर
आयुषी बंसल-97वीं रैंक-ग्वालियर
आकाश अग्रवाल-105वीं रैंक-भोपाल
मनोज कुमार-120वीं रैंक-सागर
कुलदीप पटेल-181वीं रैंक-छतरपुर
सचिन गोयल-209वीं रैंक-भोपाल
माधव अग्रवाल-211वीं रैंक-ग्वालियर
आराधना चौहान- 251 वीं रैंक, इंदौर
समीर अग्रवाल-222वीं रैंक-भोपाल
रीजू श्रीवास्तव-227वीं रैंक-भोपाल
अर्नव भंडारी-232वीं रैंक-भोपाल
जिज्ञासु अग्रवाल-326वीं रैंक-जबलपुर
क्षीतिज आदित्य शर्मा-384वीं रैंक-भोपाल
आदित्य धोहार-603वीं रैंक-भोपाल
मैत्रिय कुमार शुक्ला-633वीं रैंक-सीधी
मानव जैन-634वीं रैंक-गुना
साक्षी दुबे-654वीं रैंक-सागर
प्रजावल चौरसिया-694वीं रैंक-छतरपुर
नितिन चंद्रोल-700वीं रैंक-मंडला
वैभव राठौर-717वीं रैंक-भिंड
नीरज धाकड़-747वीं रैंक-मुरैना
अंकेश वर्मा-813वीं रैंक-रीवा
भारती साहू-850वीं रैंक-भोपाल
नीलेश-916वीं रैंक-होशंगाबाद
चंद्रशेखर मेहरा-947वीं रैंक-नरसिंहपुर
नीरज सोनगरा-964वीं रैंक-भोपाल
वेदिका बंसल- 96 वीं रैंक, रीवा
माही शर्मा-106 वीं रैंक, धार

लोकसभा चुनाव के लिए इंदौर कलेक्टर का नवाचार, मतदान कर्मियों की ली exam

सरकारी कर्मचारियों की योग्यता परखने लिए ली परीक्षा, 1967 में से 18 हुए फेल, फिर से लेना होगा परीक्षण

लोकसभा चुनाव (Loksabha Election) 2024 के लिए मतदान केंद्रों पर सरकारी कर्मचारियों की तैनाती के लिए उन्हें परीक्षण दिया जा रहा है। इंदौर कलेक्टर के प्रदेश में नवाचार के तहत सभी प्रशिक्षण ले रहे कर्मचारियों की योग्यता जाँचने के लिए ऑनलाइन एग्जाम लि गई। पहले दिन हुई परीक्षा में 1967 कर्मचारियों ने भाग लिया लेकिन 18 यह परीक्षा पास नही कर पाए। अब इनको दूसरी बार प्रशिक्षण लेना होगा।

मतदान केंद्रों पर गलती ना हो इसीलिए ले रहे एग्जाम

प्रशिक्षण कार्यक्रम के नोडल अधिकारी एवं इंदौर विकास प्राधिकरण के मुख्य कार्यपालन अधिकारी आर.पी. अहिरवार ने बताया कि प्रशिक्षण 15 अप्रेल से शुरू होकर 19 अप्रैल तक चलेगा और जो भी प्रशिक्षार्थी ऑनलाइन एग्जाम को पास नहीं कर पाए उन्हें दूसरे सत्र में फिर से प्रशिक्षण लेना होगा। उन्होंने बताया कि जिला प्रशासन इस बात पर विशेष तौर से ध्यान दे रहा है कि मतदान केंद्रों पर कोई गलती ना हो इसीलिए कर्मचारियों की सजगता और योग्यता जाँचने के लिए जिला निर्वाचन अधिकारी एवं कलेक्टर के आदेश पर ऑनलाइन एग्जाम का प्रबंध किया गया है।

994 प्रशिक्षार्थी को मिले शत प्रतिशत अंक

पहले दिन के प्रशिक्षण कार्यक्रम में 994 मतदानकर्मियों ने शत प्रतिशत अंक अर्जित किए। वहीं 405 मतदान कर्मियों को 90 प्रतिशत, 262 को 80 प्रतिशत, 150 को 70 प्रतिशत, 91 को 60 प्रतिशत तथा 47 को 50 प्रतिशत अंक प्राप्त हुए। 50 प्रतिशत से नीचे अंक लाने वालों को फैल माना गया।

माता-पिता जिन्न बने तो मुक्ति के लिए दे दी चाचा ने सगी भतीजी की बलि

MP के सागर से मानवता को शर्मसार करने वाला मामला सामने आया है जहाँ एक शख़्स ने अपने ही बड़े भाई की लड़की की निर्मम हत्या कर दी सागर (Sagar) जिले के खुरई तहसील शिवाजी वार्ड निवासी भारत ने अपनी सगी भतीजी तनु पिता राजेश अहिरवार की हत्या कर दी। हत्या करने के बाद आरोपी ने थाने जाकर आत्मसमर्पण भी कर दिया। हत्या के बाद से ही बच्ची के माता पिता का रो-रोकर बुरा हाल है।

आरोपी राजकोट (Rajkot) से एक दिन पहले ही आया था

आरोपी भारत गुजरात के राजकोट में किसी नमकीन बनाने वाली कंपनी में मजदूरी करता था, जहाँ से वो एक दिन पहले ही आया था। उसने पुलिस को बताया कि उसके माता पिता जिन्न बन गए हैं इसलिए उनकी मुक्ति के लिए उसने तनु की बलि दे दी।

पहले ही पूरी प्लानिंग कर रखी थी

तनु के पिता ने पुलिस को बताया कि सोमवार को किश्त भरनी थी इसीलिए हम दोनों बच्चियों के साथ बैंक जा रहे थे, तभी भारत ने तनु की माँ से बोला की तनु को बाजार ले जाना है तो वह तनु को चाचा के भरोसे छोड़कर चली गयी। भारत ने तनु के माता-पिता के जाते ही दुकान जाकर नया हसिया खरीदा और आकर उसी से तनु की हत्या कर दी।

गुंडे को थाने लाते ही आए कई बड़े नेताओं के फ़ोन, बाद में पुलिस ने जुलूस निकाला

इंदौर में खजराना चौराहे पर पुलिस कर्मी से झूमाझटकी करने वाला गुंडा करण सिंह मंत्री सिलावट की धौंस दिखाकर थाने से भाग गया, जिसके बाद डीसीपी की तत्परता के चलते गुंडे को फिर गिरफ्तार कर उसका जुलूस निकाला गया

मध्यप्रदेश में इस तरह गुंडों ने आंतक मचा रखा है कि गिरफ्तार होने के बाद पुलिस की गिरफ्त से भाग जाते हैं और पुलिस मुखदर्शक बनी देखती रहती है। दरअसल बात इंदौर के खजराना चौराहे की है, रविवार दिनांक 14 अप्रैल को रात 8:00 बजे ट्रैफिक पुलिस आरक्षण विकास शर्मा अपनी ड्यूटी पर तैनात थे। सिग्नल पर खड़ी हुई एक CAR का हूटर बज रहा था। CAR के शीशे पर ब्लैक फिल्म चढ़ी हुई थी, और नंबर प्लेट पर नंबर नहीं लिखा हुआ था। सूबेदार श्री बृजराज सिंह अजनार ने आरक्षक विकास शर्मा को भेजा। विकास ने जैसे ही गाड़ी साइड में लगाने के लिए कहा तो CAR में सवार युवक ने अभद्रता शुरू कर दी। फिर आरक्षक विकास को धक्का दिया जिससे वह जमीन पर गिर गया। फिर उसके पेट पर बैठकर उसे पीटा। इस दौरान उसकी वर्दी भी फाड़ दी।

थाने से भगा गुंडा, डीसीपी ने फिर पकड़ा

इतना ही नहीं यह आरोपी पुलिसवालों द्वारा थाने लाए जाने के बाद भी दादागिरी करते हुए थाने से भाग निकला। पुलिसकर्मी विकास शर्मा ने इसकी शिकायत की जिसके आधार पर आरोपी के खिलाफ सरकारी काम में बाधा सहित कई गंभीर धाराओं में केस दर्ज कर लिया गया है। रविवार की रात करणदीप गुंडई करते हुए थाने के अंदर से गाड़ी में चाबी लगाकर भाग निकला था। जैसे ही इसकी जानकारी आला अफसरों तक पहुँची तो डीसीपी अभिनय विश्वकर्मा ने टीआई को फटकार लगाई। उन्होंने धरपकड़ में पूरे स्टाफ को लगा दिया। बाद में आरोपी को द्वारकापुरी से गिरफ्तार करवाया।

पिता लिस्टेड गुंडे और बेटे करन को बचाने कई नेताओं के आए थे कॉल

बता दें कि गुंडे करण सिंह धालीवाल पर पहले से 6 आपराधिक मामले दर्ज हैं, करन के पिता सोंटा सरदार भी इंदौर पुलिस के निगरानीशुदा बदमाश थे। सूत्रों की माने तो करन सिंह का रौब इतना है कि उसके गिरफ्तार होते ही खजराना थाने में कई बड़े बड़े नेताओं के फ़ोन आने लगे थे।

बाद में गिरफ्तार कर चोराहे पर निकाला जुलूस

करन को फिर गिरफ्तार कर उसे उसी जगह लाया गया जहाँ उसने पुलिसकर्मियों से झूमाझटकी की थी, उससे कान पकड़कर माफी मांगी और उस दौरान वो बोलता रहा कि मैं गुंडा नहीं हूँ।

चमत्कारिक अष्ट मूर्ति बताकर पीतल मूर्ति को 50 लाख में बेचा, खरीददार की समझदरी से गिरफ्तार हुए ठग

सागर में जैन भगवान की मूर्ति के नाम पर ठगी करने वाले दो लोगों को गिरफ्तार किया है, व्यापारी ने अष्ट धातु की चमत्कारी मूर्ति बताकर 50 लाख में सौदा किया था, लेकिन खरीददार ने जब चेक करवाई तो मूर्ति पीतल की निकली, जिसके खरीददार ने पुलिस ने शिकायत दर्ज कराने के बाद पुलिस ने दो धोखेबाज आरोपी कंछेदी पिता जूतेलाल कुर्मी (58) निवासी ग्राम रसूलपुर (विदिशा) और सूरत पिता सुकई (43) निवासी देवलचौरी को गिरफ्तार किया।

मूर्ति 10 हजार एडवांस लिए बाकि रकम बाद में देनी थी

पुलिस ने बताया कि जाँच में दोनों आरोपियों ने अपना जुर्म कबूल किया है, आरोपी ने बताया कि हमने 10 हज़ार एडवांस में लिए थे और बाकि के पैसे मूर्ति चेक होने के बाद कि बात हुई थी।

अलीगढ़ से मंगवाते थे मूर्ति

आरोपियों ने पुलिस को बताया कि हम लोग यह पीतल की मूर्ति उत्तरप्रदेश के अलीगढ़ से मंगवाते थे, पुलिस ने धोखाधड़ी का केस दर्ज कर, आरोपियों के कब्जे से एक मूर्ति और बाइक जब्त की है।

यह भी पढें – मध्यप्रदेश कांग्रेस प्रभारी भाटिया ने नरेंद्र सिंह और सिंधिया की ली क्लास, चुनाव कार्यालय के उद्धघाटन में आये थे मुरैना

मध्यप्रदेश कांग्रेस प्रभारी भाटिया ने नरेंद्र सिंह और सिंधिया की ली क्लास, चुनाव कार्यालय के उद्धघाटन में आये थे मुरैना

मुरैना लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी सतपाल सिंह सिकरवार के चुनावी कर्यालय के उद्धघाटन करने पहुंचे एआईसीसी सदस्य (AICC) और प्रदेश प्रभारी शिव भाटिया ने केंद्रीय मंत्री सिंधिया और विधानसभा अध्यक्ष नरेंद्र सिंह तोमर पर जमकर हमला किया। उन्होंने प्रेस वार्ता में कहा कि सिंधिया जी इतने घिरे हुए हैं कि अपने क्षेत्र से ही निकल नहीं पा रहे हैं और नरेंद्र सिंह को उन्होंने चोर कहा डाला।

लोकतंत्र खतरे में है मिलकर बचाएंगे

समय कि जो लड़ाई है वह देश के लोकतंत्र को बचाने की है और कांग्रेस पार्टी ने जो बीड़ा उठाया है और जो इन मक्कार लोगों के खिलाफ मुहिम चालू की है। राहुल जी का संदेश जनता तक पहुंचाया गया है जिसमें पांच गारंटी और 25 उन्होंने अपने पॉइंट रखे हैं, उनको हम जनता के घर-घर तक पहुंचा देना चाहते हैं।

जिस तरह से झूठ और जुमले की सरकार 10 साल में हमें कुछ नहीं दे पाई। कर्जदारी, महंगाई, बेरोजगारी के बोझ के तले हमें दबाकर रख दिया। हमें उनसे बचना है और आगे 2024 के चुनाव में कांग्रेस की सरकार बनाकर हमें अपने देश की सुरक्षा करनी है।

वायरल वीडियो को लेकर पूर्व केंद्रीय मंत्री पर साधा निशाना

शिव भाटिया ने पूर्व केंद्रीय कृषि मंत्री और वर्तमान में मप्र विधानसभा को उनके बेटे के वायरल पर घेरा, करोड़ों रुपये के घोटाले के मशीहा है। आरोप लगाते हुए कहा कि नरेंद्र सिंह तक कहा डाला चोर हैं। प्रचंड बहुमत से जीतेंगे यह सीट भाटिया ने कहा कि हमारी तैयारी अच्छी है और सिकरवार जी ईमानदार छवि के व्यक्ति हैं, हम निश्चित ही बड़े प्रचण्ड बहुतम से जीत हासिल करेंगे।

भारतीय जनता पार्टी अपने झूठे वादे, गलत तरह से प्रचार और सरकारी तंत्र का गलत उपयोग करती है इसे जनता समझ चुकी है और इस बार जनता उन्हें पटकनी देगी।