Tue. Apr 23rd, 2024

लखनऊ के लिए संकट मोचक बने Mayank Yadav, अपनी तेज रफ्तार गेदों से विकेट लेकर LSG को दिलाई 21 रन से जीत

LSG VS PBKS : लखनऊ सुपरजाइंट्स (LSG) ने पंजाब किंग्स( PBKS) को रन से हराकर टूर्नामेंट का पहला मैच जीता। उन्होंने अपने होम ग्रांउड पर खेलते हुए अपनी पहली जीत हासिल की। इस मुकाबले में एक समय पंजाब की टीम 102 रन के बिना विकेट की थी। इसके बाद युवा गेंदबाज Mayank Yadav आए और उन्होंने 3 विकेट लेकर मैच पलट दिया और अपनी टीम को जीत के करीब ले गए। अंत में पंजाब की टीम 200 रन के लक्ष्य से रन पीछे रह गई।

डी काॅक ने खेली अर्धशतकीय पारी

मैच में पंजाब किंग्स की टीम ने टाॅस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। इस मैच में टीम की कप्तानी के एल राहुल की जगह निकोलस पूरन ने की।के एल राहुल इम्पैक्ट प्लेयर के तौर पर खेले। टीम के लिए डी काॅक और के एल राहुल ने पहले विकेट के लिए 35 रन जोड़े। इसके बाद के राहुल 15 रन बनाकर और देवदत्त पाडिकल 9 रन बनाकर चलते बने। डी काॅक 54 रन बनाकर आउट हुए।

इसके बाद निकोलस पूरन और कुणाल पंड्या ने शानदार पारियां खेली। पूरन ने 42 रनों की ताबड़तोड़ बल्लेबाजी की। इसके बाद अंत में कुणाल पंड्या ने 22 गेदों पर 43 रनों की पारी खेली और टीम को 199 तक ले गए। पंजाब की ओर से सैम करन ने 3 विकेट हासिल किए।

Mayank Yadav की रफ्तार ने पलटा पासा

जवाब में पंजाब किंग्स की ओर से कप्तान शिखर धवन और जाॅनी बेयरस्टो ओपनिंग करने आए। दोनों बल्लेबाजों ने टीम को शानदार शुरुआत की। टीम के लिए साल 2022 के पहली शतकीय साझेदारी हुई और दोनों ने पहले विकेट के लिए 102 रन जोड़े। इस साझेदारी को लखनऊ के लिए डेब्यू कर रहे Mayank Yadav ने तोड़ी। जिन्होंने लगातार 150 से ज्यादा की स्पीड से गेंदबाजी कर जाॅनी बेयरस्टो को आउट किया।

इसके बाद अगले दो ओवर में उन्होंने जितेश शर्मा और प्रभसिमरन सिंह को आउट किया। इसके बाद मोहसिन खान ने लगातार दो गेंदों पर शिखर धवन 70 रन और सैम करन को शून्य पर आउट कर मैच लखनऊ की झोली में डाल लिया। अंतिम ओवर में टीम को 41 रन की जरूरत थी जो असंभव था। अंतिम ओवर में लियम लिविंगस्टोन ने बड़े शाॅट्स लगाए। लेकिन यह टीम के लिए काफी नहीं थे। टीम 20 ओवर में 5 विकेट खोकर 178 रन बना पाए। मैच में मयंक यादव की ओर से 4 ओवर में 27 रन देकर 3 विकेट हासिल किए।

जानिए कौन है Mayank Yadav, जिन्होंने पहले मैच में 156 की स्पीड गेंद फेंककर सुर्खियां बटोरी

LSG VS PBKS : लखनऊ सुपरजाइंट्स (LSG) और पंजाब किंग्स (PBKS) के बीच Mayank Yadav ने सुर्खियां बटोरी। इस मुकाबले में डेब्यूटेंट मयंक यादव Mayank Yadav एक सुपरस्टार बनकर उभरे। जिन्होंने लगातार 150 से ज्यादा की स्पीड से गेंदबाजी कर सभी को हैरान और हर कोई यह उत्सुक हो गया है कि कौन है ये मयंक यादव Mayank Yadav, जो लगातार 150 से ज्यादा तेज रफ्तार से गेंदबाजी कर रहा है। आईये हम आपको बताते हैं कि मयंक यादव के बारे।

Mayank Yadav ने बोर्ड एग्जाम छोड़कर क्रिकेट पर दिया ध्यान

पंजाब किंग्स (PBKS) के खिलाफ आईपीएल में डेब्यू करने मंयक यादव दिल्ली के रहने वाले है। उनकी उम्र महज 21 साल है। वें दिल्ली की नारायणी क्रिकेट एकेडमी से उभरकर आए। इस एकेडमी शिखर धवन और गौतम गंभीर सहित अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट उभरकर आए। अब इन्हीं अगला नाम मयंक यादव का नाम शामिल हो सकता है।

जानिए कौन है Mayank Yadav, जिन्होंने पहले मैच में 156 की स्पीड गेंद फेंककर सुर्खियां बटोरी

Mayank Yadav को शुरू से क्रिकेट खेलना पंसद था। उन्होंने काफी लंबे समय से क्रिकेट खेल रहे हैं। उनकी जिंदगी में एक समय ऐसा भी आया। जब उन्हें क्रिकेट या पढाई में से एक कुछ एक चुन्ना था। 10वी बोर्ड एग्जाम के समय उन्हें पढ़ाई या क्रिकेट में से एक चुन्ना था। उन्होंने क्रिकेट को चुना। इसके बाद उन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा।

Mayank Yadav ने लगातार 150 की रफ्तार से फेंकी गेंद

इसके बाद Mayank Yadav ने सबसे पहले सुर्खियां अंडर 23 सीके नायडू ट्राॅफी में बटोरी थी। जहां उन्होंने 6 मैच में 15 विकेट हासिल किए थे। इसके बाद पिछले साल सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में पदार्पण किया था। उन्होंने दिल्ली के कई मैचों में शानदार गेंदबाजी की और कई जीत दिलाई।

मयंक यादव ने पंजाब किंग्स की ओर से लगातार 150 से ज्यादा की रफ्तार से गेंदबाजी की। उन्होंने अपने पहले ही ओवर में 145 से ज्यादा रफ्तार से गेंदबाजी की। इसके बाद उन्होंने अपने 10वें ओवर में 150 से ज्यादा की रफ्तार से गेंदबाजी की। इस ओवर में उन्होंने बेयरस्टो को आउट किया। इस दौरान उन्होंने 156 की रफ्तार से भी गेंद की।

यह भीभी पढे – चेन्नई सुपर किंग्स ने गुजरात टाइटन्स को दी 63 रनों से शिकस्त, घर में सबसे ज़्यादा जीत का बनाया रिकॉर्ड

75वीं बार रंगपंचमी पर निकली रंगों से सराबोर गैर, 6 लाख से ज्यादा लोग हुए शामिल, जानिए 75 साल का इतिहास

मप्र के इंदौर की गेर केवल प्रदेश और देश ही नहीं, बल्कि पूरे विश्व में भी प्रसिद्ध है। रंगपंचमी पर निकलने वाली गेर में लाखों लोग एक साथ होली मनाते हुए एक-दूसरे को रंग गुलाल लगाते हुए नजर आए, फिर वह चाहे उनका परिचित हो या ना हो। इस बार गैर में 6 लाख से ज्यादा लोग शामिल हुए। होलकर शासन काल से शुरू हुआ गेर का यह सिलसिला 75 वर्ष पूरा कर चुका है। इसको पारिवारिक स्वरूप स्व. लक्ष्मण सिंह गौड़ के द्वारा 26 साल पहले राधाकृष्ण फाग यात्रा निकाल कर दिया गया।

चाय पीते पीते बनी गेर निकालने की योजना

टोरी कार्नर गेर के संयोजक शेखर गिरि बताते हैं कि पहले यहाँ लोग चाय पीते हुए पूरे शहर की जानकारी साझा किया करते थे, आकाशवाणी केंद्र होने से लोग समाचार के लिए आते थे तब हम लोगो ने ने रंगों से भरा कढ़ाव लगाना शुरू किया, जिसमें लोगों को डुबोया जाने लगा। इसके बाद लोग रंगभरी बाल्टियां लेकर राजवाड़ा पर इकट्ठा होने लगे और इस तरह शहर की सबसे पुरानी गेर निकलना शुरू हुई।

हाथी-घोड़ों को साथ लेकर संगम कॉर्नर ने शुरू की नई प्रथा

संगम कॉर्नर ने गेर में 70 साल पहले हाथी-घोड़ो को शामिल कर एक नई प्रथा शुरू की। संगम कॉर्नर से जुड़े हेमन्त खंडेलवाल ने बताया कि इसकी शुरुआत नाथूराम खंडेलवाल जी ने बिना किसी बाहरी सहयोग के की थी पर समय के साथ राजनीतिकरण होने से हुड़दंग होने लगी थी।

परिवारिक स्वरूप देकर नया रूप दिया था

लक्ष्मण सिंह ने हुड़दंग होने के बाद स्व. लक्ष्मण सिंह गौड़ ने नृसिंह बाजार से 26 साल पहले राधाकृष्ण फाग यात्रा से शुरू की। इसमें यात्रा का धार्मिक और शालीन स्वरूप देकर महिलाओं की भागीदारी बढ़ाना शुरू की गई। संयोजक एकलव्य सिंह गौड़ बताया कि एक बार फिर रंगपंचमी पर यात्रा अपने स्वरूप में निकलेगी। इस बार फिर परिवार के साथ शामिल महिला के लिए विशेष सुरक्षा घेरा चलेगा। इसके साथ खास बात अयोध्या में बना राम मंदिर की प्रतिकृति आकर्षण का केंद्र बनेगा

विराट कोहली की पारी पर सुनील नारायण और वेकेंटश अय्यर ने फेरा पानी, KKR ने RCB को घर में लगातार 6वीं बार हराया

KKR VS RCB : कोलकाता नाईट राइडर्स (KKR) ने राॅयल चैलेंजर्स बेंगलुरु (RCB) को उनके घर में 7 विकेट से शिकस्त देकर टूर्नामेंट की दूसरी जीत हासिल की। केकेआर (KKR) की इस जीत में सुनील नरेन (47 रन और 1 विकेट) ने अपने आलराउंडर प्रदर्शन से महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। इसी के साथ इस साल टूर्नामेंट में लगातार होम टीम के जीतने का सिलसिला भी थम गया। यह केकेआर (KKR) की आरसीबी (RCB) के खिलाफ बेंगलुरु में लगातार 6वीं जीत है। केकेआर (KKR) की टीम लगातार 2016 से बेंगलुरु में जीत रही है।

कोहली ने खेली 83 की नाबाद पारी

मैच में आरसीबी ने टाॅस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। टीम की ओर से विराट कोहली के साथ कप्तान फाफ डू प्लेसिस ओपनिंग करने आए। टीम की शुरुआत अच्छी नहीं और कप्तान फाफ डू प्लेसिस 8 रन बनाकर हर्षित राणा का शिकार बने। इसके बाद कोहली ने कैमरून ग्रीन के साथ मिलकर पारी को संभाला। दोनों ने दूसरे विकेट के लिए 65 रनों की साझेदारी की। इस दौरान कैमरून ग्रीन को दो जीवनदान मिले। लेकिन वें 33 रन के स्कोर पर आंद्रे रसेल का शिकार बने।

इसके बाद मैक्सवेल ने कोहली के साथ पारी को आगे बढ़ाया और तीसरे विकेट के लिए 42 रन जोड़े। इसके बाद मैक्सवेल 28 रन बनाकर आउट हो गए। इस दौरान विराट कोहली ने अपना अर्धशतक पूरा किया। वें अंत तक टिके रहे और 83 रनों की पारी खेलकर नाबाद रहे। अंत में दिनेश कार्तिक ने 20 रन की पारी खेली। जिसकी बदौलत आरसीबी की टीम 6 विकेट के नुकसान पर 182 रन बनाए।

नारायण ने खेली तूफानी पारी

जवाब में केकेआर (KKR) की ओर से सुनील नारायण और फिल साॅल्ट ओपनिंग करने आए। दोनों बल्लेबाजों ने टीम को तूफानी शुरुआत की और पावरप्ले में 87 रन जोड़ डाले। सुनील नारायण ने 22 गेदों पर 47 रनों की पारी खेली। उनकी इस पारी में 5 छक्के और 2 चौके लगाए। उनके अलावा फिल साॅल्ट ने 2 चौके और 2 छक्के की मदद से 30 रन बनाए।

इसके बाद वेकेंटश अय्यर ने पारी को आगे बढ़ाया। उन्होंने कप्तान श्रेयस अय्यर के साथ 67 रनों की साझेदारी की। इस साझेदारी ने मैच केकेआर की झोली में डाल दिया। वेकेंटश अय्यर अपना आईपीएल का 8वां अर्धशतक पूरा करने के बाद 50 रन के स्कोर पर यश दयाल का शिकार बने। कप्तान श्रेयस अय्यर 39 रन और रिंकू सिंह 5 रन बनाकर नाबाद रहे। टीम ने 183 के लक्ष्य को 3 विकेट खोकर 16.5 ओवर में हासिल कर लिया।

विदिशा में 10 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ाया पटवारी

विदिशा जिले की सिरोंज तहसील के पटवारी को लोकायुक्त ने 10 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगेहाथ दबोचा। पटवारी जमीन के रकबा सुधारने के लिए 10 हजार रुपए की रिश्वत मांग रहा था।

जाने क्या है मामला

लोकायुक्त पुलिस ने गुरुवार को विदिशा जिले की सिरोंज तहसील में पटवारी विकास जैन को 10 हजार रुपए की रिश्वत लेते दबोचा है। जानकारी के अनुसार आवेदक रामप्रसाद कुशवाह निवासी ग्राम पारधा ने आवेदन दिया था। कुशवाह ने बताया कि उन्होंने अपने समधी माथुरालाल की खेती की जमीन के रकबे को सुधारने के लिए पटवारी से बात की। पटवारी ने उनको 10 हजार रुपयों की रिश्वत की मांग की। उन्होंने बताया कि मथुरालाल को पटवारी विकास जैन एक साल से चक्कर लगावा रहा है। और वह बिना रिश्वत के काम करने को तैयार ही नहीं था। मथुरालाल के पैर में चोट होने से ज्यादा चलने में उसे दर्द होता है। इसलिए उन्होंने रामप्रसाद कुशवाह को अपना काम कराने के लिए कहा। पटवारी विकास जैन ने रामप्रसाद से 10 हजार रुपए की रिश्वत मांगी और होली के बाद राशि लेकर आना तय किया।

एक कमरे में कर रहा था निजी कार्यालय संचालित

पटवारी ने अपने शासकीय कार्यों के लिए दिल्ली दरवाजा मोहल्ले में एक निजी कक्ष ले रखा है। इसी कक्ष में रामप्रसाद से पटवारी ने 10 हजार रुपए लिए। जहां लोकायुक्त पुलिस ने उसे रंगे हाथों दबोच लिया। भोपाल की टीम में इंस्पेक्टर रजनी तिवारी इंस्पेक्टर नीलम पटवा, प्रधान आरक्षक राजेंद्र पावन, मुकेश सिंह, मुकेश पटेल, अवध बाथवी, संदीप सिंह शामिल थे। तिवारी ने बताया कि पटवारी ने शासकीय कार्य के लिए यह कमरा किराए पर लिया था। इस कमरे में वह अपना निजी कार्यालय संचालित कर रहा था। आरोपित पटवारी के विरुद्ध भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के अंतर्गत कार्रवाई की गई है।

नाथ तो सांसद ‘बनते’ रहे पर युवाओं को सांसद बनने का मौका नहीं दिया: मोहन यादव

मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा बुधवार को नामांकन के अंतिम दिन जबलपुर, छिंदवाड़ा व बालाघाट लोकसभा प्रत्याशियों का नामांकन कराने पहुंचे थे। छिंदवाड़ा में उनके साथ मंत्री कैलाश विजयवर्गीय, प्रह्लाद पटेल व अन्य नेता शामिल हुए। सभी नेताओं के साथ प्रत्याशी विवेक बंटी साहू ने कलेक्ट्रेट कार्यालय पहुंचकर अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। इस दौरान वह कॉन्ग्रेस पर जमकर बरसे। उन्होंने कमलनाथ पर कई तीखे कटाक्ष किए।

छिंदवाड़ा में जो आए, वहीं कुंडली मार कर बैठ गए

उन्होंने कहा कि छिंदवाड़ा में सांसद तो बनते रहे, लेकिन कभी छिंदवाड़ा के युवाओं को सांसद बनने का मौका नहीं मिला। छिंदवाड़ा में जो आए, वहीं कुंडली मार कर ऐसे बैठ गए कि उठने का नाम ही नहीं ले रहे हैं। उनमें अब तो कोई दम ही नहीं है, वैसे ही बे-दम हैं। मुख्यमंत्री ने कटाक्ष करते हुए कहा कि एक भाई साहब कह रहे थे कि छिंदवाड़ा कांग्रेस का गढ़ है, ये गढ़ नहीं यहां सब गड़बड़ है, कोई बचा ही नहीं है।

13 महीने की सरकार उनकी थी और 3 महीने की सरकार हमारी है

उन्होंने कहा कि ये कहते हैं, समय नहीं मिला। 13 महीने की सरकार उनकी थी और 3 महीने की सरकार हमारी है। 3 महीने की सरकार में हमने हेलीकॉप्टर की सर्विस ली तो उसे घूमने के लिए नहीं। हमने कहा, प्रदेश के अंदर किसी भी गरीब आदमी का बच्चा, मां, बूढ़ा, बुजुर्ग बीमार है। उस हॉस्पिटल में अच्छे इलाज का इंतजाम नहीं है तो उसके लिए कलेक्टर से संपर्क करके डॉक्टर के माध्यम से बड़े से बड़े अस्पताल में ले जाने के लिए एयर एंबुलेंस के लिए हेलीकॉप्टर की सुविधा हमने अपनी तरफ से कराई। हमने एक और निर्णय किया। एंबुलेंस के लिए 108 मिलाओ तो एंबुलेंस दौड़ी-दौड़ी आती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि गो-शाला के लिए हमारी सरकार ने निर्णय किया कि कोई गाय सड़क पर तड़पते हुए पड़ी नहीं रहेगी। उसके लिए एंबुलेंस लगाएं और जो गो-शालाए चल रही है उनका अनुदान डबल कर दिया। पहले हम प्रति गाय के रूप में 20 रुपए देते थे। अब हमने उसे बढ़ाकर 40 रुपए कर दिए हैं।

इंदौर के आवेश खान बने राजस्थान (RR) की जीत के हीरो बने, अंतिम ओवर में 17 रन बचाकर अपनी टीम को दिलाई जीत

RR VS DC : गुरुवार को आईपीएल में राजस्थान राॅयल्स (RR) और दिल्ली कैपिटल्स (DC) की टीमें आमने-सामने हुई। जहां रोमांचक मुकाबले में राजस्थान राॅयल्स (RR) ने अंतिम ओवर में दिल्ली कैपिटल्स को 12 रन से हरा दिया। मुकाबले मे अंतिम ओवर में दिल्ली को 17 रन की जरूरत थी लेकिन राजस्थान के तेज गेंदबाज आवेश खान ने 4 रन ही बनाने दिए और अपनी टीम को एक महत्वपूर्ण जीत दिलाई। यह आईपीएल में इस सीजन का 9वा ऐसा मुकाबला रहा। जो होम टीम ने जीता।

RR के रियान पराग ने खेली जुझारू पारी

मैच में राजस्थान राॅयल्स ने पहले बल्लेबाजी की। लेकिन टीम की शुरुआत बेहद खराब रही। टीम के ओपनिंग बल्लेबाज यशस्वी जायसवाल 5 रन बनाकर आउट हो गए। इसके बाद जोश बटलर भी 11 रन बनाकर पवेलियन लौट गए। कप्तान संजू सैमसन कुछ खास नहीं कर सके और 15 रन बनाकर आउट हो गए। इसके बाद रियान पराग और आर आश्विन ने पारी को संभाला।

आर आश्विन ने 19 गेदों पर 29 रनों की तूफानी पारी खेली। इसके बाद रियान पराग ने भी जुझारू पारी खेली। उन्होंने अंत तक रूक कर 45 गेदौं पर 85 रनों की पारी खेली। उनके अलावा अंत में धुव्र जोरेल ने 20 रन और हेटमायर ने 14 रनों की पारी खेली। जिसकी बदौलत टीम ने 5 विकेट के नुकसान 185 रन बनाए।

अंतिम ओवर में RR को आवेश ने जिताया

जवाब में दिल्ली की शुरुआत भी अच्छी नहीं रही। टीम के ओपनर मिचेल मार्श 23 रन बनाकर चौथे ओवर में आउट हो गए। उन्हें नाद्रे बर्गर ने आउट किया। उन्होंने इसी ओवर में रिकी भुई को भी शून्य पर पैवेलियन लौटा दिया। इसके बाद रिषभ पंत और डेविड वार्नर ने पारी को संभाला। दोनों ने मिलकर तीसरे विकेट के लिए 67 रनों की साझेदारी की। इस साझेदारी को संदीप शर्मा ने तोड़ा। जिन्होंने 49 रन के स्कोर पर आवेश को कैच कराया। उन्होंने एक हाथ से बड़ा ही शानदार कैच किया।

इसके बाद पंत 28 रन बनाकर चहल का शिकार बने। अंत में ट्रिस्टन स्टब्स ने तूफानी बल्लेबाजी की और टीम को जीत के करीब ले गए। टीम को जीत के लिए अंतिम ओवर में 17 रनों की जरूरत थी। लेकिन राजस्थान राॅयल्स के आवेश ने 4 रन ही बनने दिए और अपनी टीम को 12 रन से जीत दिला दी। दिल्ली की टीम 173 रन ही बना सकी।

सबसे तेज अर्धशतक लगाने के बाद भी Abhishek Sharma की खैर नहीं, चप्पलों से स्वागत करेगें युवराज सिंह Abhishek Sharma का

SRH VS MI : बुधवार को सनराइजर्स हैदराबाद और मुंबई इंडियंस के बीच एक रिकार्ड तोड़ मुकाबला खेला गया।  इस मुकाबले में कई रिकॉर्ड बने और कई पुराने रिकार्ड टूटे भी। इस मैच में सनराइजर्स हैदराबाद की ओर से अभिषेक शर्मा (Abhishek Sharma) ने महज 16 गेदों पर तूफानी अर्धशतक लगाया और हैदराबाद की ओर से सबसे तेज अर्धशतक लगाने वाले बल्लेबाज बने। उनकी इस पारी की जबरदस्त तारीफ की गई। लेकिन अभिषेक (Abhishek) की इस पारी के बाबजूद युवराज सिंह ने उनका स्वागत चप्पल से करने की कही।

Abhishek Sharma का चप्पल से होगा स्वागत

अभिषेक शर्मा (Abhishek Sharma) की इस पारी के बाद कई लोगों ने उनकी तारीफ की। इसमें भारत के पूर्व क्रिकेटर और सिक्सर किंग युवराज सिंह भी शामिल रहे। उन्होंने अभिषेक शर्मा (Abhishek Sharma) की इस पारी को देखने के बाद ट्वीट किया, ‘वाह सर अभिषेक वाह। कमाल की पारी लेकिन आउट होने के लिए क्या गजब शॉट लगाया। लातों के भूत बातों से नहीं मानते, अब खास चप्पल तुम्हारा इंतजार कर रही है।’

युवराज के इस ट्वीट के बाद कई फैंस उन्हें रिप्लाई कर रहे हैं और उनके ट्वीर पर कमेंट भी कर रहे हैं। गौरतलब है कि अभिषेक शर्मा और युवराज सिंह दोनों ही पंजाब से आते हैं। युवराज सिंह अभिषेक शर्मा के मेटाॅर भी है। वें अक्सर अभिषेक को कोचिंग देते हुए दिखाई देते हैं।

मुझे नहीं था कि मैनें रिकॉर्ड बनाया

प्रेस कॉन्फ्रेंस में बोलते हुए अभिषेक ने कहा कि पैट कमिंस और डेनियल विटोरी का संदेश बाहर जाकर खुलकर खेलने का था। उन्होंने अपने साथी ट्रेविस हेड के बारे में बात करते हुए कहा, ‘ट्रैविस हेड मेरे पसंदीदा बल्लेबाजों में से एक है। मैंने वास्तव में उसके साथ बैटिंग का आनंद लिया। ईमानदारी से कहूं तो मुझे नहीं पता था कि मैंने SRH के लिए सबसे तेज अर्धशतक बना दिया है। मैं बस अपना नेचुरल खेल खेलना चाहता था। आउट होने के बाद, मुझे एहसास हुआ कि यह सबसे तेज अर्धशतक था और हां, मैंने इसका आनंद लिया।

गौरतलब है कि अभिषेक शर्मा ने हैदराबाद की ओर से सबसे तेज अर्धशतक लगाने का रिकॉर्ड बनाया था। उन्होंने महज 16 गेदों पर अर्धशतक लगाकर हेड (18 गेदों) का रिकॉर्ड तोड दिया था और सबसे तेज अर्धशतक लगाने का रिकॉर्ड अपना नाम कर लिया। वें 23 गेदों पर 63 रन बनाकर आउट हुए थे। उनकी इस पारी में 7 गगनचुंबी छक्के और 3 चौके शामिल थे। उनकी इस तूफानी पारी के लिए उन्हें मैन ऑफ द मैच का पुरस्कार मिला था।

SRH ने MI को ऐतिहासिक मुकाबले में 31 रनों से दी शिकस्त, IPL के एक मैच में बने सबसे ज्यादा रन

SRH VS MI : सनराइजर्स हैदराबाद (SRH) और मुंबई इंडियंस(MI) के बीच आठवां मुकाबला बुधवार को ऐतिहासिक मुकाबला खेला गया। इस मुकाबले में सनराइजर्स हैदराबाद (SRH) ने मुंबई इंडियंस (MI) को रनों से शिकस्त दी। इस मुकाबले में आईपीएल (IPL) इतिहास के सबसे ज्यादा 543 रन बनाए। वही इस मुकाबले में सनराइजर्स हैदराबाद (SRH) ने आईपीएल(IPL) इतिहास का सबसे बड़ा स्कोर 277 रन भी बनाया। जिसके जवाब में मुंबई इंडियंस (MI) ने 5 विकेट खोकर 246 रन बनाए।

SRH ने बनाया IPL इतिहास का सबसे बड़ा स्कोर

मैच में मुंबई इंडियंस (MI) ने टाॅस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। लेकिन सनराइजर्स हैदराबाद (SRH) के बल्लेबाजों हार्दिक पंड्या के फैसले को गलत साबित कर दिया। टीम की ओर से ट्रेविस हेड और अभिषेक शर्मा ने 45 रनों की साझेदारी की। इसके बाद मयंक अग्रवाल 11 रन बनाकर आउट हो गए। इसके बाद ट्रेविस हेड ने 18 गेदों पर अर्धशतक लागते हुए  वें 62 रन बनाकर आउट हो गए। इसके बाद अभिषेक शर्मा ने तूफानी बल्लेबाजी की। उन्होंने महज 16 गेदों पर अर्धशतक लगाकर हेड का रिकॉर्ड तोड दिया और सबसे तेज अर्धशतक लगाने का रिकॉर्ड अपना नाम कर लिया। वें 23 गेदों पर 63 रन बनाकर आउट हुए।

इसके बाद हेनारिक क्लासेन और एडम मार्क्रम ने तूफानी बल्लेबाजी की। दोनों बल्लेबाजों ने चौथे विकेट के लिए 116 रनों की साझेदारी की। जहां हेनारिक क्लासेन 34 गेदों पर 80 रन की पारी के साथ नाबाद रहे। उनकी इस पारी में 7 छक्के और 4 चौके शामिल रहे। हेनारिक क्लासेन का साथ मार्क्रम ने जबरदस्त निभाया। उन्होंने भी 28 गेदों पर 42 रनों की पारी खेलीइन दोनों की बदौलत हैदराबाद ने 20 ओवर में 3 विकेट के नुकसान 277 रन बनाए और आईपीएल इतिहास का सबसे बड़ा स्कोर बनाया।

MI नहीं कर पाया चेस

जवाब में मुंबई इंडियंस (MI) ने तूफानी शुरुआत की। टीम की ओर से ईशान किशन और रोहित शर्मा ने अतिशी बल्लेबाजी की। दोनों बल्लेबाजों ने 20 गेदों पर 56 रनों की साझेदारी की। इसके बाद ईशान किशन 34 रन बनाकर। इसके बाद 26 रन बनाकर आउट हो गए। इसके बाद नमन धीर ने 30 रन बनाए।

वही इसके बाद तिलक वर्मा ने 64 रनों की तूफानी पारी खेली। इसके बाद हार्दिक पंड्या ने 24 रन बनाए। अंत में टिम डेविड 42 रनों की पारी खेली। लेकिन वें टीम को जीत नहीं दिला सके। टीम 20 ओवर में 5 विकेट खोकर 246 रन बनाए। हैदराबाद की ओर से जयदेव उनदाकड और पैट कमिंस ने 2-2 विकेट हासिल किए।

अभिषेक शर्मा ने महज 20 मिनट में तोड़ा हेड का रिकॉर्ड, 16 गेदों पर लगाया सबसे तेज अर्धशतक

आईपीएल में सनराइजर्स हैदराबाद और मुंबई इंडियंस के बीच खेले जा रहे मुकाबले में जमकर रनों की बरसात हो रही है। हैदराबाद के बल्लेबाज जमकर रन बना रहे हैं। साथ ही वें रिकार्ड की बरसात कर रहे हैं। मुकाबले में हैदराबाद की ओर से पहले ट्रेविस हेड ने 18 गेदों पर अर्धशतक लगाया। इसके बाद महज 20 मिनट में अभिषेक शर्मा ने इस रिकार्ड को ध्वस्त कर दिया और 16 गेदों पर अर्धशतक लगाकर नया रिकार्ड बना दिया।

ट्रेविस हेड और अभिषेक शर्मा ने खेली रिकॉर्ड तोड़ पारियां

मैच में मुंबई इंडियंस के कप्तान हार्दिक पंड्या ने टाॅस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया। लेकिन हैदराबाद के बल्लेबाजों ने इस फैसले को गलत साबित कर दिया। हैदराबाद की ओर से मयंक अग्रवाल और ट्रेविस हेड ओपनिंग करने आए। दोनों बल्लेबाजों ने तूफानी शुरुआत की और 25 गेदों पर 45 रनों की साझेदारी की। इसके बाद अग्रवाल 11 रन बनाकर आउट हो गए।

लेकिन ट्रेविस हेड नहीं रूके। उन्होंने महज 18 गेदों पर अपना अर्धशतक पूरा किया। यह हैदराबाद की ओर से आईपीएल में सबसे तेज अर्धशतक था। वें 62 रन बनाकर आउट हो गए। इसके बाद अभिषेक शर्मा ने तूफानी बल्लेबाजी की। उन्होंने महज 16 गेदों पर अर्धशतक लगाकर हेड का रिकॉर्ड तोड दिया और सबसे तैज अर्धशतक लगाने का रिकॉर्ड अपना नाम कर लिया। वें 23 गेदों पर 63 रन बनाकर आउट हुए।

वॉर्नर ने महज 20 गेदों पर लगाया था अर्धशतक

इसके पहले डेविड वार्नर ने सनराइजर्स हैदराबाद की ओर से आईपीएल में सबसे तेज अर्धशतक लगाया था। उन्होंने 20 गेदों पर दो बार अर्धशतक लगाया था। उनके अलावा मोइजेज हेनरिक्स ने भी 20 गेदों पर अर्धशतक लगाया था। वही आईपीएल में ओवरऑल फास्टेस्ट फिफ्टी का रिकॉर्ड यशस्वी जायसवाल 13 गेंदों पर लगाया था।