Tue. Apr 23rd, 2024

चौथे टेस्ट मैच में संकट से उबरने वाले ध्रुव जुरेल करगिल युद्ध में विजय दिलाने वाले सैनिक के बेटे है, ध्रुव की मां ने बेटे के लिए बेच दिए थे अपने गहने

भारत और इंग्लैंड के बीच चौथा टेस्ट मैच रांची में खेला जा रहा है। इस मैच में इंग्लैंड की टीम ने पहली पारी में जो रूट के 122 रन की शतकीय पारी की बदौलत 353 रन बनाए। जवाब में भारतीय टीम की शुरुआत अच्छी नहीं रही और एक समय टीम का स्कोर 177 पर 7 विकेट गंवा दिया। इसके बाद ध्रुव जुरेल बल्लेबाजी करने आए। उन्होंने पहले कुलदीप यादव के 76 रनों की साझेदारी की। इसके बाद उन्होंने आकाशदीप और सिराज के साथ छोटी-छोटी साझेदारियां की। उन्होंने 90 रन बनाकर टीम को संकट निकाला और टीम को 307 रन तक पहुंचाया। ध्रुव ने जितनी साहस भरी पारी इस मैच में खेली है। उतना ही साहस भरा अब तक उनका जीवन रहा। आईये जानते है उनके करियर के बारे में।

पिता ने करगिल युद्ध में भूमिका निभाई थी

ध्रुव जुरेल का जन्म 21 जनवरी 2001 को उत्तर प्रदेश के आगरा में हुआ था. उनका पूरा नाम ध्रुव चंद जुरेल है। उनके पिता नेम सिंह जुरेल, भारतीय सेना में थे और 1999 के कारगिल युद्ध में सेवा की थी और देश को युद्ध में विजय बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। उनकी मां रजनी जुरेल, एक गृहणी हैं। ध्रुव की एक बड़ी बहन नेरू जुरेल है। ध्रुव जुरेल के पिता चाहते थे कि उनका बेटा भारतीय सेना में शामिल होकर देश की सेवा करे। लेकिन ध्रुव को क्रिकेट में दिलचस्पी थी, इसलिए उसने क्रिकेट को अपने करियर के रूप में चुना।

ध्रुव के पिता उनके क्रिकेट से खेलने से कभी खुश नहीं हुए। लेकिन ध्रुव ने हार नहीं मानी और लगातार क्रिकेट खेलते रहे। उन्होंने स्कूल के समय क्रिकेट से खूब लोहा मनवाया। हालांकि उनके घर की अर्थिक हालत काफी अच्छी नहीं थी। जिसके कारण उनके पिता चाहते थे कि वें सरकारी नौकरी करें। इस कारण से उनके पिता अक्सर उनको डांटते थे।

मां ने बेची बेटे के लिए अपनी चेन

एक बार उनके ध्रुव ने उनके पिता से क्रिकेट किट की मांग की। लेकिन ध्रुव के पिता ने उनसे मना कर दिया और डांट लगा दी। इसके बाद ध्रुव ने खुद को बाथरूम में बंद कर लिया। उनकी मां ने उन्हें मनाया और अपनी सोने की चेन बेचकर अपने बेटे को क्रिकेट की किट दिलाई। इसके बाद ध्रुव ने पीछे मुड़कर नहीं देखा। वह महज 13 साल की उम्र में आगरा से नोएडा आ गए। उन्होंने 14 साल की उम्र में वे अंडर-14 में चुने गए और फिर उत्तर प्रदेश के अंडर-16 और अंडर-19 टीमों के लिए खेला।

इसके बाद 10 जनवरी 2021 को, ध्रुव जुरेल ने 2020–2021 के सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में उत्तर प्रदेश के लिए टी20 डेब्यू किया। बाद में अगले रणजी ट्रॉफी में डेब्यू किया। साल 2023 में 05 अप्रैल को, ध्रुव जुरेल ने पंजाब किंग्स के खिलाफ अपना आईपीएल डेब्यू किया. उन्होंने बतौर इम्पैक्ट प्लेयर डेब्यू करते हुए अपने पहले आईपीएल मैच में 15 गेंदों में 3 चौके और 2 छक्कों की मदद से नाबाद 32 रन बनाए. उनकी शानदार बल्लेबाजी ने काफी चर्चा बटोरी थी। इसके बाद अब इस महीने में इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट में डेब्यू किया था और अपने सपने को पूरा किया।

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *