Sat. Jun 15th, 2024

मदरसों में हिंदू बच्चों को पढ़ाने के मामले में राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने लिया बड़ा एक्शन, प्रदेश सचिव को किया तलब

बीते दिनों प्रदेश में मदरसों में हिंदू बच्चों को तालीम देने का मामला सामना आया था। जिसमें प्रदेश के कई मदरसों में 9 हजार से अधिक बच्चों को तालीम दी जा रही है। जिसके बाद पूरे प्रदेश में इसको लेकर हड़कंप मच गया था। मामले में राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने राज्य के मुख्य सचिव को तलब किया है। आयोग ने राज्य सरकार ने पूछा है कि मदरसों में 9417 हिंदू बच्चे कैसे पहुंचे। आयोग का मानना है कि यह संविधान के अनुच्छेद 28 (3) का उल्लंघन है। इसमें कहा गया है कि सरकारी सहायता लेने वाला कोई संस्थान किसी को अन्य धर्म की शिक्षा नहीं दे सकता।

18 जून को सचिव को दिल्ली बुलाया

वही इसको लेकर आयोग के अध्यक्ष प्रियंक कानूनगो ने कहा कि इस खेल में मतांतरण की आशंका से भी इनकार नहीं किया जा सकता है। आयोग ने सरकार से पूछा है कि बच्चों को मदरसों से निकालकर स्कूलों में दाखिला कराने के लिए क्या कार्रवाई की गई। 18 जून को मुख्य सचिव को आयोग ने अपने दिल्ली स्थित मुख्यालय में तलब किया है।

कानूनगो राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग के अध्यक्ष प्रियंक कानूनगो का कहना है कि मदरसों में शिक्षक टीईटी यानी टीचर एलिजिबिलिटी टेस्ट क्वालीफाई नहीं है। शिक्षा का अधिकार अधिनियम के तहत मदरसों की अधोसंरचना नहीं है। इन मदरसों में सुरक्षा की व्यवस्था तय मानकों के अनुरूप नहीं है। ऐसे में मदरसों में बच्चों को रखना एक अपराध है। हिंदू बच्चों को मदरसों में भेजना अक्षम्य कार्य है, आयोग ने इसे तत्काल सुधारने के लिए राज्य सरकार से आग्रह किया है।

प्रदेश में चल रहे 1505 मदरसे

आयोग के अध्यक्ष कानूनगो का कहना है कि उनकी जानकारी के अनुसार, मध्य प्रदेश में 1505 मदरसे संचालित हैं। शिक्षा का अधिकार अधिनियम यह तय करता है कि धारा 29 के तहत नेशनल करिकुलम फ्रेमवर्क के अनुसार स्कूलों में पढ़ाई होनी चाहिए। शिक्षा के अधिकार अधिनियम यह भी स्पष्ट निर्दिष्ट करता है कि स्कूलों की स्थापना सरकार करेगी। स्कूलों में बच्चों को पढ़ाने का काम भी सरकार करेगी। ऐसे में मदरसा बोर्ड को वित्तीय मदद करना उन गरीब बच्चों के हक का पैसा मदरसों को देना है, जो शिक्षा के अधिकार से वंचित रह जाते हैं। आयोग ने कहा है कि सरकार को इस योजना पर पुनर्विचार करना चाहिए।

स्वच्छता के बाद हरियाली में नंबर 1 बनेगा इंदौर, जुलाई में 11 लाख पौधे लगाकर बनाया जाएगा विश्व रिकॉर्ड

इंदौर शहर को स्वच्छता में नंबर वन बनाने के बाद अब शहर को हरियाली में नंबर वन बनाने की कवायद शुरू हो गई है। इसी कडी में प्रदेश के कैबिनेट मंत्री कैलाश विजयवर्गीय द्वारा शहर में 11 लाख पौधे लगाने की तैयारी शुरू कर दी गई है। इसको लेकर कैलाश विजयवर्गीय ने बताया कि 14 जुलाई को एक साथ 11 लाख पौधे लगाए जाएंगे। इसके लिए गिनीज बुक आफ वर्ल्ड रिकार्ड की टीम भी इंदौर आ रही है। इस कार्यक्रम के लिए हमने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह को भी अामंत्रण दिया हैै। केंद्रीय मंत्री भूपेेंद्र यादव ने कार्यक्रम में शामिल होने की सहमति दे दी हैै।

2 लाख गढ्ढे होगें

विजयवर्गीय ने बताया कि 51 लाख पौधे लगाना और उन्हें जीवित रखना हमारे लिए चुनौती है, लेकिन पौधे लगाने के बाद उनकी देखभाल के लिए भी हम अलग-अलग समितियां बनाएंगे। पौधे लगाने का प्रशिक्षण भी दिया जाएगा। इस अभियान के लिए शहर में प्रतिदिन 2 लाख गड्ढे किए जा रहे है। अलग-अलग स्थानों को हमने चिन्हित किया हैै।

कई समाजों के संगठनों ने हमने अभियान में जुड़ने के लिए संपर्क किया है। जो समाज जिस हिस्से में पौधे लगाएगा और उनकी देखभाल करेगा। उस हिस्से का नामकरण समाज के नाम से किया जाएगा। इसके अलावा रामायण के पात्रों के नामों पर शहर में अलग-अलग वन बनाए जाएंगे।

जन आंदोलन के रूप में होगा काम

विजयवर्गीय ने कहा कि शहर में इतने पौधे नहीं होने के कारण हमने पुणे, छत्तीसगढ़ से भी पौधे मंगाए है। इसके अलावा झाबुआ से श्रमिक भी आ रह है, ताकि शहर में ज्यादा से ज्यादा गड्ढे हो सके। उन्होंने कहा कि इंदौर में जनभागीदारी के कारण सफाई बेहतर हो गई और इंदौर लगातार सात बार से सफाई में नंबर वन हैै। सफाई की तरह अब हरियाली को भी जन आंदोलन का शहर में रुप दिया जाएगा, ताकि इंदौर हरा-भरा भी हो सके। इंदौर केे अलावा प्रदेश के दूसरे शहरों मेें भी सिटी फारेस्ट बनाए जाएंगे।

जानिए Pandit Pradeep Mishra ने ऐसा क्या कहा, प्रेमानंद महाराज और पूरा देश उन पर आगबबूला हो गया

सीहोर के कुबरेश्वधाम वाले पंडित प्रदीप मिश्रा(Pandit Pradeep Mishra) की राधा रानी पर की गई टिप्पणी पर प्रेमानंद महाराज नाराज हो गए हैं। प्रेमानंद महाराज ने प्रदीप मिश्रा(Pandit Pradeep Mishra) की टिप्पणी को लेकर इतना तक कह दिया है कि तुम जानते क्या हो राधारानी के बारे में, देख लेना किसी काम के नहीं रहोगे। दरअसल पंडित प्रदीप मिश्रा(Pandit Pradeep Mishra) ने एक कथा के दौरान राधारानी के मायके पर सवाल उठाया था। जिसके बाद उनका वीडियो प्रेमानंद महाराज तक पहुंचा जिसे देख प्रेमानंद महाराज भड़क गए और वीडियो जारी कर नाराजगी व्यक्त की।

Pandit Pradeep Mishra ने क्या कहा

दरअसल सीहोर वाले पंडित प्रदीप मिश्रा (Pandit Pradeep Mishra) ने एक कथा के दौरान लोगों से पूछा था कि राधा जी कहां की रहने वाली हैं तो लोगों ने कहा था बरसाना की। जिस पर पंडित प्रदीप मिश्रा (Pandit Pradeep Mishra) ने कहा था राधा जी बरसाना की नहीं रावल गांव की रहने वाली हैं और बरसाने में राधा जी के पिताजी की कचहरी थी वो साल में एक बार इस कचहरी में जाती थीं इसलिए उसका नाम बरसाना है यानी बरस में एक बार आना। इतना ही नहीं प्रदीप मिश्रा ने ये भी कहा था कि कृष्ण की पत्नियों में भी राधा का नाम नहीं है। उनके पति का नाम अनय घोष है। उनकी सास का नाम जटिला और ननद का नाम कुटिला था और राधा जी की शादी छात्रा गांव में हुई थी।

प्रेमानंद महाराज भड़के

पंडित प्रदीप मिश्रा (Pandit Pradeep Mishra) की राधारानी पर की गई इस टिप्पणी से प्रेमानंद महाराज नाराज हो गए हैं। उन्होंने पंडित प्रदीप मिश्रा (Pandit Pradeep Mishra) को जबाव देते हुए कहा है कि तुम किस राधा की बात कर रहे हो। अभी तुम राधा को जानते नहीं हो अगर जान जाओगे तो आंसुओं से वार्ता होती है। प्रेमानंद महाराज ने आगे कहा कि कभी बरसाने गए हो, कभी देखे हो। तुम कितने ग्रंथ पढ़े हो, सिर्फ चापलूसी संसार वाले को रिझा सकते हो। तुम देख लेना किसी काम के नहीं रह पाओगे। ये श्राप नहीं, परिणाम बोल रहा हूं।

पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने NEET परीक्षा की व्यापमं घोटाले से की तुलना, सरकार से पूछे तीखे सवाल

इन दिनों पूरे देश में NEET को विवाद बना हुआ है। पूरे देश में NEET में इस बार 67 टॉपर आने से हैरानी जता रहे है। इसको लेकर मामला सुप्रीम कोर्ट में भी पहुंच चुका है। जहा इसको लेकर सुनवाई जारी है। इसी बीच एमपी के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने NEET को लेकर बयान दिया है। उनका कहना है कि NEETभी व्यापम घोटाले की तरह है। इसमें भी कई लोग मिले हुए है। जिसे सरकार बचाने की कोशिश कर रही है।

NEET से जुड़े सरकार से किए तीखे सवाल

पूर्व सीएम ने सवाल उठाते हुए कहा कि जब 5 मई 2024 को NEET की परीक्षा का आयोजन हुआ तो 4 मई को ही पटना में इसका पेपर कैसे लीक हो गया? पटना में एफआईआर दर्ज होने के बाद भी सरकार ने कोई कदम क्यों नहीं उठाया? क्या कारण था कि परीक्षा के रजिस्ट्रेशन के लिए तारीख बढ़ाने के बाद फिर 10 अप्रैल को एक दिन के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के विंडो को खोला गया? उन्होंने यह भी पूछा कि जून 2024 को जब इस परीक्षा का रिजल्ट आता है तो 67 छात्रों को 720 में से 720 अंक कैसे मिल गए? जबकि 720 अंक पाने वाले छात्र 2020 में दो, 2021 में तीन, 2022 में कोई नहीं और 2023 में सिर्फ दो अभ्यर्थी थे। इस बार 67 छात्रों को पूरे नंबर के मिल गए। इनके किस फॉर्मूले के तहत अंक मिले?

एक ही केंद्र के 8 छात्रों ने 720 अंक हासिल किए

हरियाणा के झज्झर स्थित एक ही परीक्षा केंद्र के 8 छात्रों ने कैसे इस परीक्षा में 720 में से 720 अंक हासिल कर लिए? जबकि इनमें से एक छात्र तो 12वीं की परीक्षा में अनुत्तीर्ण हो गया? इस केंद्र के इन सभी टॉपर्स के नाम में सरनेम क्यों नहीं है?

भारत से अंतिम गेंद पर 6 रन से हारी पाकिस्तान, टी20 विश्व कप में भारत 7वी जीत हासिल की

आईसीसी टी20 विश्व कप में रोमांचक मुकाबले में भारत ने अंतिम गेंद पर पाकिस्तान को 6 रन से हरा दिया। यह भारत की इस विश्व कप में लगातार दूसरी जीत है। मैच में भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 119 रन बनाए। जवाब में पाकिस्तान की टीम 7 विकेट खोकर 20 ओवर में 113 रन ही बना सकी और यह मैच में 6 रन से हार गई। मुकाबले में भारत की ओर से जसप्रीत बुमराह ने सबसे ज्यादा 3 विकेट हासिल किए।

पंत ने खेली तूफानी पारी

बारिश के कारण मैच देरी से शुरू हुआ। इसमें शुरुआती आधे घंटे में दो बार बारिश ने खलल भी डाला। इसके बाद मैच में पाकिस्तान ने टाॅस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया और भारत को पहले बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया। भारतीय टीम की शुरुआत बेहद खराब रही। टीम के ओपनिंग बल्लेबाज विराट कोहली दूसरे ओवर में नसीम शाह की गेंद पर 4 रन बनाकर आउट हो गए। इसके बाद कप्तान रोहित शर्मा भी ज्यादा देर नहीं रूके और वें भी 13 रन बनाकर आउट हो गए। इसके बाद अक्षर पटेल और पंत ने पारी संभालने की कोशिश की।

दोनों ने तीसरे विकेट के लिए 39 रन जोड़े। इसके बाद पटेल 20 रन बनाकर शाह की गेंद पर बोल्ड हो गए। सूर्यकुमार यादव ने पंत के साथ 31 रन जोड़े। इसके पहले सूर्या 7 रन बनाकर राऊफ का शिकार बने। फिर अच्छे दिख रहे पंत भी 31 गेदों पर 42 रन की तूफानी पारी खेलकर आउट हो गए। इसके बाद टीम इंडिया ने महज 30 रन के अंदर 7 विकेट गंवा दिए और टीम 20 ओवर खेले बिना 19 ओवर में 113 रन पर सिमट गई। पाक की ओर से नसीम शाह और हैरिस राऊफ ने 3-3 विकेट जबकि आमिर को 2 और शाहीन को 1 विकेट मिला।

बुमराह ने घातक गेंदबाजी से पलटा मैच

जवाब में पाकिस्तान ने सधी हुई शुरुआत की। बाबर और रिजवान ने पहले विकेट के लिए 26 रन जोड़े। भारत को पहला विकेट जसप्रीत बुमराह ने बाबर को 13 रन के स्कोर पर आउट कर पवेलियन लौटाया। इसके बाद रिजवान और उस्मान ने 29 जोड़े। फिर उस्मान खान 13 रन बनाकर अक्षर पटेल का शिकार बने। इसके बाद फख्र जमान भी 13रन बनाकर हार्दिक पंड्या का शिकार बने।यहां तक पाकिस्तान की उम्मीदों को रिजवान ने जिंदा रखा था। लेकिन बुमराह ने रिजवान को 31रन के स्कोर पर आउट कर मैच भारत की ओर मोड दिया।

इसके बाद पाकिस्तान की टीम की ओर से इमाद वसीम ने लडने की कोशिश की लेकिन वें 15 रन बनाकर आउट हो गए। 19वें ओवर में बुमराह ने इख्तिकार अहमद को 5 रन पर आउट कर पाकिस्तान की उम्मीदों पर पानी फेर दिया। अंतिम ओवर में पाकिस्तान को 18 रन की जरूरत थी।लेकिन टीम 12 रन ही बना सकी और यह मुकाबला 6 रन हार गई। भारत की ओर से जसप्रीत बुमराह ने 3 विकेट, हार्दिक पंड्या ने 2 विकेट जबकि अक्षर पटेल और अर्शदीप सिंह ने 1-1 विकेट हासिल किए।

उज्जैन के भाई बहन ने किया कमाल, MPPSC पास कर एक साथ बनेंगे डिप्टी कलेक्टर

प्रदेश में हाल ही में MPPSC का रिजल्ट जारी हुआ। इस बार रिजल्ट कुल सीटों के 87% सीटों का ही रिजल्ट जारी किया गया है। MPPSC के तहत भरे जाने वाले 290 पदों में से 246 पदों के लिए उम्मीदवारों की लिस्ट निकाली है। इनमें उज्जैन के दो सगे भाई बहन भी शामिल रहे। जिन्होंने एक साथ एमपीपीएससी परीक्षा पास की और अब दोनों एक साथ डिप्टी कलेक्टर बनेंगे। इनमें बहन की 14वीं और भाई की 21वीं रैंक आई। बहन राजनंदनी ठाकुर वर्तमान में नायब तहसीलदार है और भाई अर्जुनसिंह ठाकुर ने मप्र लोक सेवा आयोग परीक्षा के लिए टीसीएस की नौकरी छोड़ी।

भाई नायाब तहसीलदार के पद पर पदस्थ है

राजनंदनी की 14वीं और अर्जुनसिंह की 21वीं रैंक बनी। राजनंदनी वर्ष 2020 में नायब तहसीलदार के पद पर चयनित हुई और वर्तमान में वह सीहोर में पदस्थ हैं। अर्जुनसिंह की भी टीसीएस में नौकरी लग गई, लेकिन उन्होंने नौकरी न करते हुए अपने लक्ष्य के लिए मेहनत करते रहे। दोनों ने मप्र लोक सेवा आयोग की परीक्षा एक साथ पास की।

MPPSC के लिए दोनों कर रहे थे कडी मेहनत

दोनों का एक साथ डिप्टी कलेक्टर के लिए चयन हुआ। दोनों भाई बहन ने अपनी पढ़ाई क्रिस्ट ज्योति स्कूल में 12वीं तक की। इसके बाद भोपाल से इंजीनियरिंग की। राजनंदनी बास्केट बाल की स्टेट प्लेयर भी रही है। अर्जुन ने बताया कि अपने लक्ष्य को हासिल करने के लिए वे लगातार मेहनत करते रहे। राजनंदनी ने भी नायब तहसीलदार की नौकरी करते हुए आगे की पढ़ाई जारी रखी। हालांकि यह काम बहुत मुश्किल था, लेकिन लक्ष्य हासिल करने के लिए अतिरिक्त समय निकाल कर पढ़ाई पर ध्यान दिया।

MP में लोकसभा चुनाव में करारी के हार के Congress में फूटी बड़ी दरार, अपने ही नेताओं के खिलाफ कड़ा एक्शन को लेने को कहा इस नेता ने

MP में Congress की हालत बद से बदतर होती जा रही है। पार्टी को विधानसभा चुनाव में जीत की अपेक्षा थी लेकिन पार्टी को चुनाव में बड़ी हार मिली और दिग्गज भी अपनी सीट नहीं बचा पाए। इसके बाद लोकसभा चुनाव में पार्टी को अपने गढ़ छिंदवाड़ा बचाना और नई सीटें लाने की उम्मीद थी लेकिन पार्टी यह भी नहीं कर पायी और प्रदेश से पूरी तरह सूपड़ा साफ हो गया। पार्टी के इस हालत से खुद की पार्टी के नेता ही नाराज नजर आ रहे हैं और पार्टी के नए प्रदेश अध्यक्ष और दिग्गज नेताओं पर दिल्ली आलाकमान से बड़े फैसले लेने की मांग कर रहे हैं। इसको लेकर पार्टी के नेता अजय सिंह मीडिया में बड़ा बयान भी दे चुके है।

CONGRESS के प्रदेशाध्यक्ष को समीक्षा हो

हाल ही में चुरहट से विधायक और विधानसभा में पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ‘राहुल’ ने मीडिया से कहा कि जीतू पटवारी के कार्यकाल की समीक्षा होनी चाहिए कि उनके कार्यकाल में बड़ी संख्या में नेताओं ने पार्टी क्यों छोड़ी। कांग्रेस के पूर्व प्रदेश उपाध्यक्ष एवं पिछड़ा वर्ग कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष रह चुके दामोदर यादव ने भी जीतू पटवारी पर के सिर पर हार का ठीकरा फोड़ा है।

अजय सिंह ‘राहुल’ ने सवाल उठाया कि कमल नाथ और दिग्विजय सिंह प्रचार के लिए अपने क्षेत्रों से बाहर क्यों नहीं निकले। पार्टी हाईकमान इस बात की भी समीक्षा करे कि चुनाव लड़ने वाले प्रत्याशियों के समर्थन में कौन-कौन दिग्गज कहां-कहां पहुंचा। उन्होंने कमल नाथ और नकुल नाथ का नाम लिए बिना इशारे में कहा, कुछ लोग भाजपा में जा रहे हैं, नहीं जा रहे हैं, ऐसी अटकलें चलती रहीं। उसका भी असर पड़ा।

कमलनाथ भी हार से आहत

लोकसभा चुनाव में छिंदवाड़ा में अपने बेटे नकुल नाथ की हार से आहत कमल नाथ ने मीडिया से कहा कि प्रश्न सिर्फ छिंदवाड़ा की हार का नहीं, बल्कि पूरे प्रदेश में हार का है। इसका कारण जानने के लिए पोस्टमार्टम होना चाहिए। उनका इशारा भी यही है कि प्रदेश में इतनी बड़ी हार की वजह सिर्फ प्रत्याशियों का प्रदर्शन नहीं, बल्कि कुछ और है। वह खुलकर भले ही नहीं बोले पर विधानसभा चुनाव में हार के बाद से अलग-थलग हैं।

UAS ने सुपर ओवर में पाकिस्तान को 5 रन से हराया, भारतीय खिलाड़ी सौरभ नेत्रावलकर ने बचाए सुपर ओवर में 19 रन

USA ने टीम ने T20 WORLD CUP में इतिहास रचते हुए पाकिस्तान को सुपर ओवर में 5 रन से हरा दिया। पहली बार आपस में भिड़ रहे USA के खिलाफ मुकाबले में पाकिस्तान की टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 20 ओवर में 7 विकेट खोकर 159 रन बनाए। जवाब में USA ने भी 20 ओवर में 3 विकेट खोकर 159 रन बनाए। मैच में सुपर ओवर में पहुंचा जहां यूएसए ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 1 विकेट खोकर 18 रन बनाए। जवाब में पाकिस्तान की टीम 1 विकेट खोकर 13 रन ही बना सकी और यह मुकाबला 5 रन से हार गई।

पाकिस्तान बल्लेबाजी हुई फ्लाॅप

मैच में USA ने टाॅस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया और पाकिस्तान को बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया। जवाब में पाकिस्तान की शुरुआत बेहद खराब रही। पाकिस्तान के ओपनर मोहम्मद रिजवान 9 रन बनाकर आउट हो गए। इसके बाद नंबर 3 पर उस्मान खान भी 3 रन बनाकर चलते बने। फख्र जमान भी 11 रन बनाकर आउट हो गए। इसके बाद बाबर आजम के साथ शादाब खान ने पारी को संभाला। दोनों ने 72 रन जोड़े।

शादाब खान 25 गेदों पर 40 रन बनाकर आउट हो गए। इसके बाद बाबर आजम भी 44 रन बनाकर आउट हो गए। अंत में इफ्तिखार अहमद ने 18 रन और शाहीन शाह अफरीदी ने 16 गेदों पर 23 रन बनाए। जिसकी बदौलत टीम ने 7 विकेट खोकर 159 रन बनाए। USA की ओर से किंग्जे ने सर्वाधिक 3 विकेट हासिल किए।

USA ने कप्तान ने लगाया अर्धशतक

जवाब में USA ने सधी हुई शुरुआत की। कप्तान मोनांक पटेल ने स्टीफन टेलर के साथ 39 रन जोड़े। इसके बाद स्टीफन टेलर 12 रन बनाकर चलते बने। इसके बाद मोनांक पटेल ने एंड्रयू घोस ने 68 रन जोड़े। इसके बाद 35 रन बनाकर हैरिस राउफ की गेंद पर बोल्ड हो गए। इसके बाद मोनांक पटेल ने अर्धशतक पूरा किया। वें 38 गेदों पर 50 रन बनाकर आउट हो गए।

अंत में ए जोन्स और नितीश कुमार ने 48 रन जोड़े और टीम को 159 रन के स्कोर तक ले गंए। जोन्स 36 रन बनाकर नाबाद रहे। इसके बाद USA की ओर से ए जोन्स ने सुपर ओवर में 6 गेदों पर 11 रन बनाए। वही पाकिस्तान के मोहम्मद आमिर ने 7 वाइड गेंद फेंकी। जवाब में USA के सौरभ नेत्रावलकर ने महज 13 रन ही दिए और टीम को 5 रन से हराया।

मप्र से इन सासंदों को बनाया जा सकता है केन्द्रीय मंत्री, शिवराज को हाईकमान दे सकता है यह बड़ी जिम्मेदारी

लोकसभा चुनाव के नतीजे के बाद एनडीए की सरकार बनाने में कामयाब नजर आ रही है। नरेंद्र मोदी तीसरी बार 8 जून को प्रधानमंत्री पद की सफलता ले सकते हैं। इसी के साथ केन्द्रीय मंत्रियों के नाम की अटकलें लगना शुरू हो गई है। जहां मप्र से तीन से चार सासंदों के नाम आगे आ रहे हैं। जो केंद्रीय मंत्री मंडल में मप्र का नेतृत्व कर सकते हैं। आईये जानते है मप्र से कौन सासंद केंद्रीय मंत्री बन सकते हैं।

वीडी शर्मा को मिल सकती है बड़ी जिम्मेदारी

मध्य प्रदेश में प्रचंड जीत के बाद लोगों को उम्मीद है कि दिल्ली में प्रदेश की भागीदारी बढ़ेगी। इसके साथ ही सबसे अधिक चर्चा एमपी बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा की है। वीडी शर्मा के नेतृत्व में भाजपा लगातार मध्य प्रदेश में सफलता हासिल कर रही है। विधानसभा चुनाव में उनकी अध्यक्षता में पार्टी ने बड़ी जीत हासिल की थी। अब लोकसभा में 29 की 29 सीटें जीत गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चुनावी रैलियों में वीडी शर्मा की तारीफ कर चुके हैं। ऐसे में अटकलें हैं कि उनका प्रमोशन हो सकता है। उन्हें मंत्री मंडल में बड़ा पद मिल सकता है।

आदिवासी महिलाओं को मिल सकती है जिम्मेदारी

वही प्रदेश से तीन आदिवासी महिलाएं लोकसभा चुनाव जीतकर संसद में पहुंची हैं। इनमें शहडोल से हिमाद्री सिंह और धार से सावित्री सिंह के अलावा अनीता नागर चौहान शामिल हैं। इनमें हिमाद्री या अनीता को मौका दिया जा सकता है। पार्टी नेताओं का मानना है कि आदिवासी वर्ग में अब नया नेतृत्व तैयार करना आवश्यक है इसलिए किसी महिला को मंत्री बनाने से दो बात बन जाएगी। पहला आदिवासी वर्ग में नया नेतृत्व खड़ा कर लिया जाएगा और दूसरा महिला को कोटा भी बढ़ जाएगा।

शिवराज सिंह चौहान बन सकते हैं अध्यक्ष

इधर, ज्योतिरादित्य सिंधिया का कैबिनेट में बने रहना तय माना जा रहा है। वहीं, विष्णु दत्त शर्मा को भी कैबिनेट में रखा जा सकता है। उनको कैबिनेट में स्थान नहीं मिलता है तो कुछ दिनों तक वे भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष के पद पर ही बने रहेंगे। वही पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पार्टी राष्ट्रीय अध्यक्ष का दायित्व सौंप सकती है। कायस लगाए जा रहे हैं कि जेपी नड्डा जल्द ही अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे सकते हैं। उनकी जगह शिवराज सिंह चौहान को कमान सौंपी जा सकती है। उन्होंने 8 लाख से ज्यादा वोट से जीत हासिल की। वही इस बार भी प्रदेश के बड़े शहर इंदौर भोपाल जबलपुर जैसे शहर बिना मंत्री के रह सकते हैं।

T20 WORLD CUP में Team India ने किया विजयन्यू आगाज, न्यूयॉर्क की खतरनाक पिच पर आयरलैंड को 8 विकेट से हराय

बुधवार को Team India ने आगामी T20 WORLD CUP में आयरलैंड को 8 विकेट से हराकर टूर्नामेंट में विजय आगाज किया। मुकाबले में आयरलैंड ने पहले बल्लेबाजी की और पूरी टीम महज 97 रन पर आलॅआउट हो गई। जवाब में team India ने 12.2 ओवर में 2 विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया। india की ओर से कप्तान रोहित शर्मा 52 रन नाबाद रन बनाए और टीम को एक आसान जीत दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

Team India के गेंदबाजों ने उगली आग

मैच में Team India के कप्तान रोहित शर्मा ने अमेरिका की सरजमीं पर टाॅस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का फैसला किया और आयरलैंड को पहले बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया।आयरलैंड(Ireland) की शुरुआत बेहद खराब रही। Ireland के ओपनर और कप्तान पाॅल स्टालिग महज 2 रन बनाकर अर्शदीप सिंह का शिकार बने। इसके बाद इसी ओवर में एंड्रयू बालबनी भी तीसरे ओवर की अंतिम गेंद पर अर्शदीप की गेंद पर 5 रन बनाकर बोल्ड हो गए। इसके बाद हार्दिक पंड्या ने अपने ही ओवर में लोकन टेकर को 10 रन पर आउट किया।

इसके बाद टीम के लगातार विकेट गिरते रहे। Ireland की टीम 20 ओवर भी पूरे नहीं खेल पायी और 97 रन के स्कोर पर 16 ओवर में पूरी टीम पवेलियन लौट गई। आयरलैंड की ओर से गैरेथ डेलानी ने सबसे ज्यादा 26 रन बनाए। वही Team India की ओर से उपकप्तान हार्दिक पंड्या ने सबसे ज्यादा 3 विकेट हासिल किए। वही अर्शदीप सिंह और बुमराह को 2-2 जबकि अक्षर पटेल और सिराज को 1-1 विकेट मिला।

पंत और रोहित ने दिलाई Team India को आसान जीत

जवाब में Team India की शुरुआत अच्छी नहीं रही। कप्तान रोहित शर्मा के साथ ओपनिंग करने आए विराट कोहली महज 1 रन बनाकर मार्क अडायर का शिकार बने। इसके बाद कप्तान रोहित शर्मा ने पंत के साथ पारी को संभाला। दोनों 52 रन की साझेदारी की। इस दौरान रोहित शर्मा ने 36 गेदों पर अपनी फिफ्टी पूरी की। इसके बाद हाथ पर चोट के लगने के कारण रिटायर्ड हर्ट हो गए।

इसके बाद सूर्यकुमार यादव बल्लेबाजी करने आए लेकिन वे 2 रन बनाकर बेंजामिन व्हाइट का शिकार बने। अंत में पंत और शिवम दुबे ने Team India को बड़ी ही आसानी से जीत 8 विकेट से आसान जीत दिलाई। भारत की ओर से रिषभ पंत 36 रन और शिवम दुबे 0 रन बनाकर नाबाद रहे। अब भारत का अगला मैच 9 जून को पाकिस्तान से है।