Wed. Jul 17th, 2024

विदिशा में 10 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ाया पटवारी

विदिशा जिले की सिरोंज तहसील के पटवारी को लोकायुक्त ने 10 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगेहाथ दबोचा। पटवारी जमीन के रकबा सुधारने के लिए 10 हजार रुपए की रिश्वत मांग रहा था।

जाने क्या है मामला

लोकायुक्त पुलिस ने गुरुवार को विदिशा जिले की सिरोंज तहसील में पटवारी विकास जैन को 10 हजार रुपए की रिश्वत लेते दबोचा है। जानकारी के अनुसार आवेदक रामप्रसाद कुशवाह निवासी ग्राम पारधा ने आवेदन दिया था। कुशवाह ने बताया कि उन्होंने अपने समधी माथुरालाल की खेती की जमीन के रकबे को सुधारने के लिए पटवारी से बात की। पटवारी ने उनको 10 हजार रुपयों की रिश्वत की मांग की। उन्होंने बताया कि मथुरालाल को पटवारी विकास जैन एक साल से चक्कर लगावा रहा है। और वह बिना रिश्वत के काम करने को तैयार ही नहीं था। मथुरालाल के पैर में चोट होने से ज्यादा चलने में उसे दर्द होता है। इसलिए उन्होंने रामप्रसाद कुशवाह को अपना काम कराने के लिए कहा। पटवारी विकास जैन ने रामप्रसाद से 10 हजार रुपए की रिश्वत मांगी और होली के बाद राशि लेकर आना तय किया।

एक कमरे में कर रहा था निजी कार्यालय संचालित

पटवारी ने अपने शासकीय कार्यों के लिए दिल्ली दरवाजा मोहल्ले में एक निजी कक्ष ले रखा है। इसी कक्ष में रामप्रसाद से पटवारी ने 10 हजार रुपए लिए। जहां लोकायुक्त पुलिस ने उसे रंगे हाथों दबोच लिया। भोपाल की टीम में इंस्पेक्टर रजनी तिवारी इंस्पेक्टर नीलम पटवा, प्रधान आरक्षक राजेंद्र पावन, मुकेश सिंह, मुकेश पटेल, अवध बाथवी, संदीप सिंह शामिल थे। तिवारी ने बताया कि पटवारी ने शासकीय कार्य के लिए यह कमरा किराए पर लिया था। इस कमरे में वह अपना निजी कार्यालय संचालित कर रहा था। आरोपित पटवारी के विरुद्ध भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के अंतर्गत कार्रवाई की गई है।

लोकसभा चुनाव का बजा बिगुल, जानिए आपके गांव और शहर में कब डलेगें वोट

लोकसभा चुनाव का बिगुल बज चुका है। इस साल लोकसभा चुनाव की शुरुआत 19 अप्रैल से होगी। जो 7 चरण में 1 जून तक होगें। चुनाव के नतीजे 4 जून को आएंगे। चुनाव के ऐलान के साथ ही पूरे देश में आचार संहिता लग गई है। वही मप्र में भी 4 चरणों में चुनाव होगें। जिसमें पहला चरण 19 अप्रैल, दूसरे चरण 26 अप्रैल, तीसरे चरण 7 मई और चौथे चरण 13 मई को संपन्न होगा।

पूरे प्रदेश में लगी आचार संहिता

प्रदेश के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी अनुपम राजन ने कहा है कि भारत निर्वाचन आयोग द्वारा लोकसभा निर्वाचन 2024 की तारीखों की शनिवार को घोषणा कर दी गई है। इसके साथ ही प्रदेश में आदर्श आचार संहिता भी पूरी तरह से प्रभावशील हो गई है। इसका सख्ती से पालन कराया जाएगा। राजन ने बताया कि प्रदेश में चार चरणों में चुनाव प्रक्रिया संपन्न होगी।

पहले चरण के लिए मतदान 19 अप्रैल, दूसरे चरण के लिए 26 अप्रैल, तीसरे चरण के लिए 7 मई और चौथे चरण के लिए मतदान प्रक्रिया 13 मई को संपन्न होगी। मतगणना 4 जून 2024 को होगी।

पहले चरण में इन सीटों पर

राजन ने बताया कि पहले चरण में छह लोकसभा संसदीय क्षेत्रों सीधी, शहडोल, जबलपुर, मंडला, बालाघाट एवं छिंदवाड़ा में 19 अप्रैल 2024 को मतदान होगा। पहले चरण के लिए अधिसूचना 20 मार्च को जारी होगी। इसी दिन से नामांकन पत्र दाखिल किए जाएंगे। नामांकन पत्र दाखिल करने की अंतिम तिथि 27 मार्च है। 28 मार्च को नामांकन पत्रों की स्क्रूटनी की जाएगी। प्रत्याशी 30 मार्च तक अपने नाम वापस ले सकेंगे। 

26 अप्रैल को इन सीटों पर वोटिंग

दूसरे चरण में 7 लोकसभा संसदीय क्षेत्रों टीकमगढ़, दमोह, खजुराहो, सतना, रीवा, होशंगाबाद एवं बैतूल में 26 अप्रैल 2024 को मतदान होगा। इस चरण के लिए अधिसूचना 28 मार्च को जारी होगी। इसी दिन से नामांकन पत्र दाखिल किए जाएंगे। नामांकन पत्र दाखिल करने की अंतिम तिथि 4 अप्रैल है। नामांकन पत्रों की स्क्रूटनी 5 अप्रैल को की जाएगी। प्रत्याशी 8 अप्रैल तक अपने नाम वापस ले सकेंगे। मतदान 26 अप्रैल को होगा। 

7 मई को इन आठ सीटों पर

तीसरे चरण में आठ लोकसभा संसदीय क्षेत्रों मुरैना, भिंड, ग्वालियर, गुना, सागर, विदिशा, भोपाल एवं राजगढ़ में 7 मई 2024 को मतदान होगा। इस चरण के लिए अधिसूचना 12 अप्रैल को जारी होगी। प्रत्याशी 19 अप्रैल तक नामांकन पत्र जमा कर सकेंगे। 20 अप्रैल को नामांकन पत्रों की स्क्रूटनी की जाएगी। प्रत्याशी 22 अप्रैल तक अपने नाम वापस ले सकेंगे। मतदान 7 मई को होगा। 

चौथा व अंतिम चरण 13 मई को इन सीटों

प्रदेश में मतदान के चौथे व अंतिम चरण में आठ लोकसभा क्षेत्रों देवास, उज्जैन, मंदसौर, रतलाम, धार, इंदौर, खरगोन एवं खंडवा में 13 मई को मतदान होगा। इस चरण के लिए अधिसूचना 18 अप्रैल को जारी होगी। प्रत्याशी 25 अप्रैल तक नामांकन पत्र जमा कर सकेंगे। 26 अप्रैल को नामांकन पत्रों की स्क्रूटनी की जाएगी। प्रत्याशी 29 अप्रैल तक अपने नाम वापस ले सकेंगे। मतदान 13 मई को होगा।

बीजेपी का गढ़ है विदिशा लोकसभा सीट, शिवराज के अलावा अटल बिहारी वाजपेयी, सुषमा स्वराज और शिवराज सिंह चौहान पहले भी उतार चुके हैं

Election 2024: लोकसभा चुनावों (Loksabha Election) की सरगर्मी BJP की पहली लिस्ट आने के बाद से तेज हो गई है, हाल में ही पार्टी ने 195 की प्रत्याशियों की सूची जारी की। जिसमें मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह को विदिशा से भाजपा ने प्रत्याशी बनाया है। 60 के दशक से ही विदिशा जनसंघ और बाद में बीजेपी के गठन से ही गढ़ रहा है।

शिवराज को लेकर सारे कयास विफल रहे

मुख्यमंत्री पद छोड़ने के बाद से ही मीडिया जगत में कयास लगाए जा रहे थे कि उन्हें केंद्रीय मंत्री मंडल में जगह मिलेगी पर ऐसा हुआ नहीं, वहीं शिवराज ने विधानसभा के बाद से 29 कमल के फूलों की माला प्रधानमंत्री मोदी को पहनाएंगे ऐसा नारा दिया था। 2019 में प्रदेश की 29 में से 28 सीट बीजेपी के खाते में गई थी, एक छिंदवाड़ा लोकसभा पर कांग्रेस विजय हुई थी। छिंदवाड़ा के दौरे से लग रहा था कि शिवराज को इस बार छिंदवाड़ा से प्रत्याशी बनाएगी पर ऐसा हुआ नहीं।

अटल, सुषमा जैसे दिग्गजों ने किया है प्रतिनिधित्व

1967 में पहली बार चुनाव हुए थे तब भी जनसंघ के प्रत्याशी पंडित शिव शर्मा की जीत हुई थी। 1991 में अटल जी ने भी विदिशा से चुनाव लड़ा ओर जीते थे, वहीं पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने 2009 ओर 2014 में जीत दर्ज की थी। पाँच बार रह चुके सांसद शिवराज सिंह चौहान सूबे के बागडोर सम्भालने से पहले विदिशा लोकसभा से ही चुन कर सदन में पहुँचे थे। वे इस सीट पर 1991 के उपचुनाव में पहली बार जीतकर आए थे उसके बाद लगातार अटल जी के 96, 98, 99, 2004 तक इसी सीट से सांसद रहे हैं, और एक बार फिर पार्टी ने उन्हें इसी सीट से मौका दिया है।

भाजपा विधायक ने घर छोड़ कर अपनाया वानप्रस्थ आश्रम, बोले मेहनत की कमाई मेरे स्वागत में ना लगाइए

भोपाल। अपने बयानों को लेकर विदिशा जिले के सिरोंज क्षेत्र के भाजपा विधायक उमाकांत शर्मा का वीडियो इंटरनेट पर इन दिनों खूब सुर्खियां बटोर रहा है। वीडियो में उमाकांत शर्मा बोल रहे हैं की मैने घर छोड़ कर वानप्रस्थ आश्रम अपना लिया है।अपना स्वागत करवाना भी छोड़ दिया है। धोती कुर्ते के अलावा कोई दूसरा वस्त्र नही पहनूंगा। और क्रिकेट मैच देखने भी नही जाऊंगा क्योंकि जो बच्चे क्रिकेट खेल रहे है वह टेनिस बॉल से खेलते है। इससे वे अपने भविष्य में कभी भी अच्छे खिलाड़ी नहीं बन सकते।

विधायक उमाकांत शर्मा अक्सर लगाते हैं जनता दरबार

दरअसल गणेश की अथाई के सामने अपने निवास के बाहर चाओड़ी पर विधायक उमाकांत शर्मा अक्सर जनता दरबार लगाते हैं। यहां वे सभी की समस्या को सुनते है, ये वीडियो भी वहीं का बताया जा रहा है।वीडियो में उमाकांत शर्मा यह भी कह रहे है की मैं किसी के यहां शादी में भी नहीं जाऊंगा क्योंकि एक ही दिन में 80 कार्ड आते है ऐसे में किसी के यहां पहुंच पाता हूं किसी के यहां नहीं जिसके कारण लोगो को भी बुरा लगता है।

मेहनत की कमाई सिर्फ मेरे स्वागत में नहीं लगाइए

वीडियो में उमाकांत शर्मा यह संकल्प लेते हुए नजर आ रहे है। जिसमे उन्होंने कहा है की मैंने अपना स्वागत करवाना और पैर पड़वाना बंद कर दिया है। लेकिन फिर भी लोग तौलिया, रूमाल और फूल-मालाओं पर जबरन रुपए खर्च कर रहे हैं।