Sat. Jun 15th, 2024

छात्रा की खुदकुशी में आया नया मोड़, पुलिस ने सीन रिक्रिएट कर सुलझाई गुत्थी

प्रेमी ने छात्रा को शादी का वादा किया लेकिन 6 मार्च को युवक ने किसी और से शादी कर ली थी जिससे छात्रा आकृति काफी परेशान थी और आदित्य भी उसे प्रताड़ित कर रहा था।

धोखे से परेशान थी आकृति

पड़ाव थाना प्रभारी इला टंडन ने बताया कि आकृति और आदित्य शर्मा 2-3 साल से एक दूसरे को जानते थे और एक दूसरे के पड़ोसी भी हैं। एक दूसरे के सम्पर्क में आने के बाद दोनो के बीच प्रेम संबंध बने थे। आदित्य ने आकृति से शादी का वादा किया था लेकिन उसने किसी ओर से शादी कर ली थी जिसका पता चलने के बाद आकृति काफी परेशान रहनी लगी थी।

सीन रिक्रिएट कर सुलझाई गुत्थी

पुलिस ने क्राइम सीन को रिक्रिएट किया, इस दौरान आकृति के परिजन और उसके दोस्त मौजूद थे। परिजनों ने पुलिस को जानकारी दी कि घटना वाले दिन भी आकृति यहीं खड़ी थी और दोनों के बीच काफी झगड़ा हुआ था और आकृति ने सुसाइड की धमकी दी थी। इसी वक्त उसने किले से छलांग लगा दी।

अब भी गफलत में है पुलिस

पुलिस अब भी इसी गफ़लत में है कि आकृति किले पर खुद आई थी या उसे किसी ने फ़ोन करके बुलाया था हालांकि पुलिस ने आदित्य पर धारा 306 के तहत मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है और पूछताछ जारी है।

ड्यूटी के दौरान आरक्षक ने सरकारी रायफल से की खुदख़ुशी, पुलिस तलाश कर रही करण

दतिया जिले के इंदरगढ़ थाना में ड्यूटी के दौरान आरक्षक ने सरकारी राइफल से गले में खोली मारकर आत्महत्या कर ली। थाने में मौजूद पुलिसकर्मी और अन्य लोग खून से लथपथ आरक्षक को अस्पताल लेकर पहुंचे। जहां डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया। घटना से इंदरगढ़ थाने में सनसनी फैल गई है। मामले की जींच की जा रही है।

आत्महत्या के कर्म का नहीं हो पाया खुलासा

मामला दतिया के इंदरगढ़ थाने का है। सूचना मिलते ही पुलिस के आला अफसर पहुंचे। आरक्षक के शव को अस्पताल ले लाया गया। आरक्षक ने आत्महत्या क्यों की? कारण का पता लगाने पुलिस मामले की जांच कर रही है। जानकारी के अनुसार यह घटना गुरुवार सुबह 7:00 बजे की है। जब इंदरगढ़ थाने में पदस्थ आरक्षक विवेक शर्मा पहरे की ड्यूटी पर तैनात था और अपनी शासकीय राइफल बंदूक लेकर ड्यूटी कर रहा था। आरक्षक विवेक शर्मा ने एकाएक अपने आप को गोली मारकर खुदकुशी जैसा कदम उठा लिया। बंदूक से चली गोली आरक्षक विवेक शर्मा की गले में लगी। इससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। इंदरगढ़ पुलिस जब तक अस्पताल लेकर पहुंची तो डॉक्टर ने मृत्य घोषित कर दिया। आरक्षक विवेक शर्मा ग्वालियर के निवासी हैं एवं उनकी दतिया में पोस्टिंग थी और वे विभिन्न स्थानों में पदस्थ रहकर सेवाएं दे रहे थे। वर्तमान में इंदरगढ़ थाने में पदस्थ थे।

PAYTM फील्ड मैनेजर ने की आत्महत्या, पत्नी ने बोला की जॉब को लेकर तनाव में था पति

मध्य प्रदेश के आर्थिक शहर इंदौर के लसूडि़या थाना इलाके में पेटीएम कंपनी के फील्ड मैनेजर ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। पत्नी ने बोला की दोपहर को मैं आई तो मैंने देखा की गौरव पंखे से लटके मिले, और इस बात की सूचना पत्नी ने पुलिस को दी। लेकिन मृतक के पास से कोई सुसाइड नोट नही मिला हैं। मृतक के भाई का कहना है की गौरव को कई और कंपनियों से ऑफर आ रहे थे, तो वो जॉब का तनाव क्यूं लेगा? हालाकि पुलिस मामले की तह तक पहुंचने में जुटी हुई है।

दो बेटियों को छोड़कर चले गए पिता

करीब 8 साल पहले गौरव (मृतक) की शादी हुई थी, और उसकी दो बेटियां भी थी। परिवार के अनुसार गौरव ग्वालियर के समाध्या कॉलोनी का निवासी है, इंदौर में paytm कंपनी में फील्ड मैनेजर था इसीलिए यहां अपने बीवी बच्चों के साथ रहता था। घर में बुजुर्ग माता पिता और एक बड़ा भाई हैं। सुसाइड को लेकर अभी किसी तरह के कारण नहीं नजर आ रहे हैं।

ससुराल के दिए फ्लैट में रह रहे थे

ससुराल वालो का कहना है की गौरव जिस फ्लैट में रह रहे थे वह फ्लैट उनके ससुर ने उन्हें दिया था। शनिवार को गौरव की साली का जन्मदिन भी उसी फ्लैट में मनाया था। बड़े भाई अजीत का कहना है की गौरव को जॉब की चिंता नही थी क्योंकि उसको 2 बड़ी कंपनियों से जॉब ऑफर आए थे।