Sat. Apr 13th, 2024

MP राज्य शिक्षा केंद्र में वाहन घोटाला, फर्जी बिलों पर करोड़ों का पेमेंट

मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने स्कूल शिक्षा विभाग में प्रायवेट वाहनों को किराए पर लेने के नाम पर करोड़ों रुपए के भ्रष्टाचार का बड़ा आरोप लगाया है। मप्र कांग्रेस मीडिया विभाग के अध्यक्ष केके मिश्रा, मप्र कांग्रेस के उपाध्यक्ष जेपी धनोपिया और मप्र कांग्रेस सूचना का अधिकार प्रकोष्ठ के अध्यक्ष पुनीत टंडन ने संयुक्त प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए बताया कि राज्य शिक्षा केंद्र से सूचना के अधिकार में मिली जानकारी के अनुसार केंद्र में लगे प्राइवेट वाहनों के नाम पर 13 महीनो में करीब 1 करोड़ 75 लाख रुपए का भुगतान श्री ट्रैवल एजेंसी को किया गया है।

मंत्री जी की गाड़ी का नम्बर अलग और मॉडल अलग

मंत्री जी के स्टाफ में अटैच एक अन्य वाहन MP04-BC-7480 नंबर की इनोवा क्रिस्टा दर्ज है। इसकी भी परिवहन विभाग में पड़ताल की गई तो यह स्कॉर्पियो निकली। इस वाहन का 1 अप्रैल 2023 से 30 अप्रैल 2023 तक एक माह का किराया 1,80,628 रुपए चुकाया गया। स्कूल शिक्षा मंत्री के नाम पर एक अन्य आवंटित वाहन इनोवा क्रिस्टा क्रमांक MP04-ZH-5566 के लिए 2 महीने की राशि 3,92,076 रुपए भुगतान की गई। यह वाहन परिवहन विभाग में प्राइवेट कोटे पर दर्ज है।

इसी तरह MP04-CA-9529 नंबर का वाहन राज्य शिक्षा केंद्र में प्रशासन कक्ष को आवंटित है। इसके मालिक को 6 माह में 2,25,057 रुपए का भुगतान किया गया। कांग्रेस ने आपत्ति दर्ज कराई है कि यह वाहन मारुति स्विफ्ट डिजायर बताया गया जबकि परिवहन विभाग में यह मारुति 800 नाम से दर्ज है।

बच्चों के लिए सुविधा नहीं और मंत्री जी कर रहे घोटाले

प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुई कांग्रेस नेताओं ने आरोप लगाया कि एक ओर शिक्षा स्तर पूरे प्रदेश में गिर रहा है मंत्री जी उस पर ध्यान ना देकर फेक बिल पास करने के लगे हुए हैं।