Tue. Apr 23rd, 2024

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रोड शो में गिरा स्वागत मंच, 4 को फैक्चर, एक बच्ची समेत 3 महिला घायल

जबलपुर में प्रधानमंत्री के रोड शो के दौरान स्वागत मंच पर उसकी क्षमता से अधिक लोग खड़े होने के कारण मंच टूट गया, जिससे एक बच्ची- पुलिसकर्मी घायल हो गए।

चुनाव का बिगुल बजते ही है पार्टियां प्रचार प्रसार करने में जुट गई हैं इस सिलसिले में MP के जबलपुर पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रोड शो में बड़ा हादसा हो गया। पीएम के स्वागत के लिए बने मंच पर क्षमता से अधिक लोगों के चढ़ने से मंच टूट गया जिसके चलते मोदी का स्वागत करने पहुँची एक बच्ची समेत 6 लोग घायल हो गए सभी घायलों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया।

7 घायलों में से 4 को फैक्चर

मंच टूटने से 7 घायलों में से 4 को फैक्चर बताया है, वहीं इस हादसे का शिकार हुई बच्ची को मप्र के कैबिनेट मंत्री राकेश सिंह खुद अस्पताल लेकर पहुंचे थे। मोदी ने भी फ़ोन कर सभी घायलों का एक-एक कर हाल जाना।

जबलपुर से भाजपा प्रत्याशी के समर्थन में था रोड शो

आचार संहिता लागू होने के बाद पहली बार प्रचार करने मप्र पहुँचे नरेंद्र मोदी ने जबलपुर से भाजपा के प्रत्याशी आशीष अग्रवाल के समर्थन में रोड शो किया। मोदी के रोड शो के लिए कार्यकर्तओं का जनसैलाब उमड़ पड़ा।

प्रधानमंत्री ने युवाओं के रोजगार और उत्थान के लिए लांच किया सूरज पोर्टल, जानिए किस तरह से युवाओं के लिए मददगार होगा यह एप

धार में आयोजित कार्यक्रम में वर्चुअली जुड़कर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पीएम-सूरज राष्‍ट्रीय पोर्टल का शुभारंभ किया। पीएम ने वर्चुअली संवाद में इंदौर के नरेंद्र सेन को अपनी सफलता की कहानी भी सुनाई।

मुख्यमंत्री डॉ. यादव भी जुड़े

प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव धार जिले से इस कार्यक्रम में सहभागिता करेंगे। धार जिले में यह कार्यक्रम दोपहर में उदय रंजन क्लब सभास्थल पर आयोजित किया जाएगा। प्रधानमंत्री मोदी तीन राष्ट्रीय निगमों के नए ऋण धारकों, नमस्ते योजना एवं लक्ष्य समूहों-अनुसूचित जाति के अन्य लाभार्थियों से संवाद करेंगे। कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री देशभर के विभिन्न राज्यों पिछड़े वर्ग एवं आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग कल्याण योजना के माध्यम से ऋण सहायता प्राप्त लाभार्थियों से भी संवाद करेंगे।

जानिए क्या है सूरज पोर्टल?

13 मार्च को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देशभर में लोगों को सूरज पोर्टल की सौगात दी। ये राष्ट्रीय पोर्टल सामाजिक उत्थान और रोजगार पर आधारित होगा। वंचितों को रोजगार के लिए करीब 1 लाख का ऋण वितरण किया जाएगा। वेंचर कैपिटल फंड, असीम और नमस्ते योजनाओं से लाभार्थियों का सशक्तिकरण इस पोर्टल का उद्देश्य है। वहीं इस पोर्टल के जरिए व्यवसाय के नए अवसर भी तैयार होंगे। वहीं 1 लाख पीपीई किट और नमस्ते आयुष्मान स्वास्थ्य कार्ड का वितरण भी किया जायेगा।

उज्जैन में वैदिक घड़ी का पीएम मोदी ने वर्चुअल जुड़कर किया उद्घाटन, कहा – हमारी सरकार विकास और विरासत साथ लेकर चलती है

भोपाल(Bhopal): प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरुवार को एमपी को बड़ी सौगात दी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मध्य प्रदेश को 17,000 करोड़ रुपए की विकास परियोजनाओं की सौगात दी। पीएम मोदी से साइबर तहसील के अलावा उज्जैन में विक्रमादित्य वैदिक घड़ी का भी लोकार्पण किया।

सरकार विरासत और विकास को साथ लेकर चलती हैं

कार्यक्रम में वर्चुअल माध्यम से जुड़े पीएम मोदी ने कहा कि हमारी सरकार विरासत और विकास को कैसे एक साथ लेकर चलती है। इसके अलावा उन्होंने कहा कि बाबा महाकाल की नगरी कभी पूरी दुनिया के लिए काल गणना की केंद्र थी। लेकिन इसके महत्त्व को भुला दिया गया था, इसीलिए हमारी सरकार ने वैदिक घड़ी को पुनः स्थापित किया है जो अब विकसित भारत के काल च्रक की साक्षी बनेंगी।

डिंडोरी हादसे को लेकर जताया दुःख

डिंडोरी में सड़क हादसे को लेकर मोदी ने पीड़ा व्यक्त की और पीड़ितों को हर संभव मदद देने का आश्वासन दिया।सुशाशन को मोदी जी का पूरे विश्व में धमक मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव ने पीएम मोदी की जमकर तारीफ की। इस दौरान उन्होंने कहा जब सुशासन की बात होती है तो रामराज्य की बात आती है, 2000 साल पहले विक्रमादित्य के सुशासन की बात आती है। लेकिन आज इस बात का हर्ष है कि पीएम मोदी के नेतृत्व में सुशासन की धमक पूरी दुनिया देख रही है।

5 साल में कई दीदी बनेगी लखपति

कार्यक्रम में मोदी ने कहा कि आने वाले 5 वर्षों दीदियाँ लखपति बनकर सिर ऊँचा कर घूमेंगी, गांव की बहनें नमो ड्रोन दीदियां बनकर खेती में नई क्रांति का आधार बनेगी और बहनों की आर्थिक स्थिति में सुधार आएगा।

MP E Governance की एक ओर कदम पीएम करेंगे साइबर तहसीलों का उद्धघाटन

MP में 29 फरवरी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वर्चुअल माध्यम से सूबे में शुरू हो रही “सायबर तहसीलों” का उद्धघाटन करेंगे। केंद्र की भाजपा सरकार अपने पहले कार्यकाल से ही डिजिटल सशक्तिकरण के लिए प्रतिबद्ध रही है, इसी कड़ी में मध्यप्रदेश की मोहन सरकार ने पिछले माह घोषणा की थी कि सत प्रतिशत तहसीलों को “सायबर तहसील” में परिवर्तन करेंगे।

विकसित मध्यप्रदेश कार्यक्रम में सम्मिलित में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अन्य परियोजनाओं की भी शुरुआत कर सकते हैं। कार्यक्रम को प्रेदश में 500 जगह लाइव दिखाया जाएगा।

क्या फायदा होगा साइबर तहसील होने से?

साइबर तहसील बनने से फरयादी को बार बार तहसील के चक्कर नही लगाने पड़ेंगे, घर बैठे आसानी से अपने केस, फ़ाइल और आवेदन को ट्रैक कर सकेंगे। अविवादित नामांतरण के प्रकरण का तेजी के साथ निराकरण होगा। इसमें क्रेता और विक्रेता को नामांतरण के लिए तहसील कार्यालय आने की जरूरत नहीं पड़ेगी। ऑनलाइन उपस्थित होकर मामले सुलझाए जा सकेंगे। इसी तरह खनिज के अवैध खनन से जुड़े मामलों में अब राजस्व की जगह खनिज विभाग कार्रवाई करेगा।

मोदी जी ने किया देश की अनेक रेल परियोजनाओं का शिलान्यास, 41,000 करोड़ की सौगात

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश भर में 554 रेल परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। जिसमे अमृत भारत रेलवे स्टेशन योजना के अंतर्गत रेलवे स्टेशनों के पुनर्विकास व ओवरब्रिज, अंडरपास का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया गया।

इसकी अलावा 41,000 करोड़ रुपये से अधिक की लगभग 2,000 रेलवे बुनियादी ढांचा परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास किया। इस दौरान उन्होंने कुछ परियोजनाओं को राष्ट्र को समर्पित करते हुए, प्रधानमंत्री मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से ‘प्रधानमंत्री अमृत भारत स्टेशन योजना’ के तहत 553 रेलवे स्टेशनों के पुनर्विकास का शिलान्यास किया। 27 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में स्थित इन स्टेशनों का 19,000 करोड़ रुपये से अधिक की लागत से पुनर्विकास किया जाएगा।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने प्रदेश के 33 से अधिक रेलवे स्टेशनों के पुनर्विकास की सौगात देने के लिए प्रधानमंत्री मोदी का आभार माना। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के नेतृत्व में प्रदेश में 77 हजार करोड़ रुपए के निर्माण कार्य जारी हैं, प्रदेश में रेलवे सुविधाओं का लगातार विस्तार हो रहा है, और हमें नई तकनीक और नई व्यवस्थाओं के साथ विश्व स्तरीय रेलवे स्टेशन एवं रेल सुविधाएं प्राप्त हो रही हैं।

उत्तर-पश्चिम रेलवे के जनसंपर्क अधिकारी कैप्टन शशि किरण ने बताया, अमृत स्टेशनों के शिलान्यास के अलावा सवाई माधोपुर-जयपुर रेल मार्ग पर 2 आरओबी व 1 (LHS) सीमित ऊंचाई के पुल, रेवाड़ी-जयपुर रेल मार्ग पर 3 आरओबी, 4 आरयूबी व 1 (LHS), जयपुर-मदार रेल मार्ग पर 3 आरओबी,1 आरयूबी, आरपीसी रेल मार्ग पर 2 आरओबी,1 आरयूबी, जयपुर-सीकर-चूरू रेल मार्ग पर 1 आरओबी,1 आरयूबी, सीकर-लोहारू रेल मार्ग पर 5 आरयूबी,1 (LHS) सीमित ऊंचाई के पुल व दौसा-गंगापुर सिटी रेल मार्ग पर 2 आरओबी, 2 आरयूबी व 14 (LHS) सीमित ऊंचाई के पुल बनाने के कामों का भी शिलान्यास और लोकार्पण किया।

प्रधानमंत्री का क्या है कहना

प्रधानमंत्री ने कहा कि रेलवे लाइन बिछाने की गति दोगुनी हो गई। आज ऐसी जगहों पर रेल पहुंच रही है, जिसकी लोगों ने कल्पना भी नहीं की। जैसे बैंक में जमा पैसे पर ब्याज मिलता है, वैसे इंफ्रास्ट्रक्चर पर लगी पाई से रोजगार के साधन बनते हैं। हमारी रेल छोटे किसानों को बढ़ावा देने वाली है। इसके लिए स्टेशनों पर विशेष दुकानें बनाई गई हैं। रेल की गति बढ़ेगी और उत्पादन तेजी से मार्केट पहुचेंगे और उद्योगों की लागत कम होगी। आज पूरी दुनिया में भारत को निवेश के लिए सबसे आकर्षक माना जा रहा है। इसका कारण आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर है।

एयरपोर्ट की तर्ज पर बनेगा इंदौर का रेलवे स्टेशन, पीएम मोदी ने वर्चुअल जुड़कर किया भूमिपूजन

Inodre: अमृत भारत स्टेशन योजना के तहत इंदौरवासियों को पीएम नरेंद्र मोदी ने लोकसभा चुनाव के पहले बड़ी सौगात दी हैं। इंदौर शहर के नए रेलवे स्टेशन भवन की पहली झलक सामने आ गई है। रेलवे की भव्य नई इमारत सात मंजिला होगी और वर्तमान स्टेशन भवन से 10 गुना बड़ी होगी। तकरीबन पांच सौ करोड़ की लागत से बने इस नए रेलवे स्टेशन का पीएम मोदी 25 फरवरी को वर्चुअल तरीके से इसका शिलान्यास किया। इस अवसर पर सांसद शंकर लालवानी, मंत्री विजयवर्गीय और सभी जनप्रतिनिधी मौजूद रहें।

एयरपोर्ट जैसी सुविधाएं मिलेंगी

नया रेलवे स्टेशन आधुनिक होगा। उसमें बड़े वेटिंग रुम, फूड जोन, चार्जिंच पाइंट, स्लिपिंग एरिया सहित अन्य सुविधाएं होगी। प्लेटफार्म को भी बड़ी गाडि़यों के हिसाब से लंबा किया जाएगा। सांसद लालवानी ने बताया कि स्टेशन को आगामी 50 साल की जरूरत के हिसाब से बनाया जा रहा है, यहाँ पर एयरपोर्ट जैसी सुविधाएं मिलेगी।

उज्जैन कुंभ से पहले बनकर तैयार होगा

स्टेशन को उज्जैन में होने वाले कुंभ से पहले बनकर तैयार हो जाएगा जिससे कुंभ में आने वाले श्रद्धालुओं को किसी तरह से परेशानी का सामना ना करना पड़े।