Wed. Apr 24th, 2024

जानिए आखिर क्यों दादी ने अपनी 4 दिन की पोती की हत्या कर दी

मध्यप्रदेश में एक बार फिर मानवता शर्मसार हुईं है, मप्र के ग्वालियर में एक दादी ने गुस्से में अपनी ही पोती को गला घोंटकर मार डाला। पोती सिर्फ 4 दिन की ही थी।

आखिर क्यों उठाया यह कदम

चार दिन की दुधमुंही बच्ची को उसी की दादी ने गला घोंटकर मार डाला और फिर इसे सामान्य मौत बताने की कोशिश करती रही। बात यह थी कि दादी को पोते की चाह थी लेकिन लड़की का जन्म होने से दादी ख़फ़ा थी। नवजात बच्ची जन्म से ही दिव्यांग थी, ऐसे में दादी बच्ची से पीछा छुड़ाना चाहती थी, इसीलिए उसने बच्ची को एक रात अपने पास सुलाकर गला दबा दिया। इस मामले में बच्ची के पिता की भी संदिग्ध भूमिका नजर आ रही है।

पोस्टपार्टम ना करने का दबाव बनाता रहा पिता, माँ की जिद के कारण हुआ फिर

अगले दिन सुबह आरोपी उठी तो उसने कहा कि बच्ची सांस नहीं ले पा रही है, हालांकि शक होने पर अस्पताल वालो ने पुलिस को सूचना दी तो पिता पुलिस पर दबाव बनाने लगा कि पोस्टमार्टम ना हो पर बची की माँ की ज़िद के चलते पोस्टपार्टम हुआ जिसमें गला घोंटने से मौत का कारण सामने आया।

माता-पिता जिन्न बने तो मुक्ति के लिए दे दी चाचा ने सगी भतीजी की बलि

MP के सागर से मानवता को शर्मसार करने वाला मामला सामने आया है जहाँ एक शख़्स ने अपने ही बड़े भाई की लड़की की निर्मम हत्या कर दी सागर (Sagar) जिले के खुरई तहसील शिवाजी वार्ड निवासी भारत ने अपनी सगी भतीजी तनु पिता राजेश अहिरवार की हत्या कर दी। हत्या करने के बाद आरोपी ने थाने जाकर आत्मसमर्पण भी कर दिया। हत्या के बाद से ही बच्ची के माता पिता का रो-रोकर बुरा हाल है।

आरोपी राजकोट (Rajkot) से एक दिन पहले ही आया था

आरोपी भारत गुजरात के राजकोट में किसी नमकीन बनाने वाली कंपनी में मजदूरी करता था, जहाँ से वो एक दिन पहले ही आया था। उसने पुलिस को बताया कि उसके माता पिता जिन्न बन गए हैं इसलिए उनकी मुक्ति के लिए उसने तनु की बलि दे दी।

पहले ही पूरी प्लानिंग कर रखी थी

तनु के पिता ने पुलिस को बताया कि सोमवार को किश्त भरनी थी इसीलिए हम दोनों बच्चियों के साथ बैंक जा रहे थे, तभी भारत ने तनु की माँ से बोला की तनु को बाजार ले जाना है तो वह तनु को चाचा के भरोसे छोड़कर चली गयी। भारत ने तनु के माता-पिता के जाते ही दुकान जाकर नया हसिया खरीदा और आकर उसी से तनु की हत्या कर दी।

भिंड में होटल संचालक की गोली मारकर हत्या कर दी गई, पुलिस जाँच में जुटी

भिंड में होटल के संचालक को सोते समय कुछ गुंडों ने मिलकर गोली मारकर हत्या कर दी। गोली मारने के बाद आरोपी फरार हो गए।

शुक्रवार को भिंड में पन्ना होटल के संचालक को सोते समय कुछ गुंडों ने गोली मारकर हत्या कर दी। गोली मारने के बाद आरोपी फरार हो गए। मौके पर पुलिस ने पहुंच कर जांच शुरू कर दी है, लेकिन अभी तक इस बात का पता नहीं चला है की गोली किसने और क्यों मारी है।

भिंड में स्थित पन्ना होटल के संचालक और भाजपा नेता प्रणाम जैन अपने होटल में आराम कर रहे थे। शुक्रवार को एक अज्ञात हमलावर होटल में पहुंचा और जैन कमरे में घुसकर गोली चला दी। गोली भाजपा नेता के पेट में लगी। होटल के कर्मचारी फायरिंग की आवाज सुनकर जैन के कमरे में पहुंचे और उन्हें लहूलुहान पाया। लेकिन जब तक वहाँ कोई पहुंचता हमलावर हमला कर के फरार हो चुका था। होटल संचालक ने पुलिस को मामले के बारे में सूचना दी और पुलिस ने मौके पर पहुंच कर कार्यवाही शुरू कर दी है लेकिन अभी तक आरोपियों का पता नही चल पाया है न ही इस बात का पता चल पाया की गोली क्यों और किसने चलाई। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भेज दिया।

युवक की निर्मम हत्या, मरने तक पीटा और मरने के बाद शव में पेट्रोल डालकर जला दिया

भोपाल। चार आरोपियों ने एक युवक की पीट-पीटकर हत्या कर दी। उनकी ज़बरदस्ती और निर्दयता का स्तर ऐसा था कि उन्होंने हत्या के बाद पेट्रोल डालकर शव को जला दिया, फिर सात दिनों तक उसे घर में रखा, बदबू आने पर उसे कंबल और साड़ी में लपेटकर ट्रांसफार्मर के नीचे फेक दिया। यह एक बेहद दुखद घटना है।

यह था पूरा मामला

दरअसल यह मामला रिवा का है, जहां इन हत्यारों ने संतोष नामक युवक को पहले पीटा, फिर हत्या की, और फिर पेट्रोल डालकर शव को जला दिया। हत्यारो ने पुलिस से बचने के लिए लाश को 7 दिनों तक अपने घर में छिपाए रखा, मगर अपराधियों की चालाकी कितनी भी तेज़ हो, वे क़ानून से नहीं बच सकते, इस वाक्य को रिवा पुलिस ने सच कर दिखा और 21 दिनों में इन चालाक हत्यारों को गिरफ्तार कर लिया। शव की बदबू की वजह से मुजरिम पकड़े गए, उन्होंने शव को कंबल और साड़ी में लपेटकर झाड़ियों में फेंक दिया जिससे शव की बदबू फेल गई। मामले में पुलिस ने चार आरोपीयो को गिरफ़्तार कर लिया है।

आरोपियों के घर से मिला मृतक का सामान

पुलिस ने बताया कि जांच के दौरान आरोपियों के घर की तलाशी ली गई तो मृतक की टॉर्च और शव के खून के छींटे मिले। जिसके बाद मोहित साकेत उर्फ मुन्नू साकेत, मुकेश साकेत, धर्मेन्द्र साकेत और रंजीत साकेत नाम के चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गए सभी आरोपी ब्रम्हागढ थाना शाहपुर जिला मऊगंज के रहने वाले हैं।

कैरेक्टर पर शंका होने के कारण पति ने पत्नी को धारदार चाकू से मारकर मौत के घाट उतार दिया

भोपा पुरानी छावनी थाना क्षेत्र के जलालपुर गांव में कैरेक्टर पर शंका होने के कारण पति ने अपनी पत्नी को धारदार चाकू से हमला कर मौत के घाट उतार दिया और मौके पर फरार हो गया। शख्स का नाम बलवीर कुशवाहा बताया जा रहा है। पत्नी का नाम मीना कुशवाहा। शख्स ने घर के अंदर ही वारदात को अंजाम दे कर मौके से फरार हो गया।

परिजनों से पता चला है की पति पत्नी के ऊपर उसके कैरेक्टर को लेकर शंका करता था। आरोपी पति नगर निगम के पीएचई में आउटसोर्स ड्राइवर था। पुलिस के अनुसार मृतिका की शादी 14 वर्ष की ही उम्र में हो गई थी। बलवीर कुशवाहा और मीना कुशवाहा के 3 बच्चे भी है। पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है।

परिजनों से फोन पर बात हुई

मृतका के परिजनों को बताया था की उसकी और उसके पति को हर दूसरे दिन लड़ाई होती है। परिजनों को सूचना मिली की उनकी बेटी खून से लथपथ पड़ी हुई है। उन्होंने अपने दामाद को फोन लगाया। आरोपी ने फोन पर कहा कि उसने उनकी बेटी को मार दिया है। बता दें कि आरोपी पत्नी की हत्या करने के बाद से फरार है।