Tue. Apr 23rd, 2024

इंसानियत की हुई हदें पार, मरने तक पीटा और मरने के बाद शव में पेट्रोल डालकर जला दिया

चोरी के शक में चार आरोपियों ने एक युवक की पीट-पीटकर हत्या कर दी। उनकी ज़बरदस्ती और निर्दयता का स्तर इतना उच्च था कि उन्होंने पेट्रोल डालकर शव को जला दिया, और फिर सात दिनों तक उसे घर में रखा रखा, बदबू आने पर उसे कंबल में लपेटकर खेत में फेंक दिया। यह एक बेहद दुखद और घोर घटना है। इस तरह की अत्याचारी हरकतें समाज में निंदनीय हैं और सख्त कानूनी कार्रवाई की जानी चाहिए।

कपड़ और कंबल में लपेटकर पीटा

अपराधियों की चालाकी कितनी भी तेज़ हो, कानून के लंबे हाथ उन्हें जरूर पकड़ते हैं। रीवा पुलिस ने भी 21 दिनों बाद इसी तरह के चालाक हत्यारों को गिरफ्तार किया। इन हत्यारों ने एक युवक को पहले पीटा, फिर हत्या की, और फिर पेट्रोल डालकर जला दिया। हत्यारे पुलिस से बचने के लिए सात दिनों तक अपने घर में लाश छिपाए रहे, पर बदबू की वजह से पकड़े गए। उन्होंने शव को कंबल और साड़ी में लपेटकर झाड़ियों में फेंक दिया। पुलिस ने मामले में चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया।

रीवा पुलिस ने भी 21 दिनों बाद इसी तरह के चालाक हत्यारों को गिरफ्तार किया। इन हत्यारों ने संतोष नामक युवक को पीटा, फिर हत्या की, और फिर पेट्रोल डालकर जला दिया। हत्यारे पुलिस से बचने के लिए सात दिनों तक अपने घर में लाश छिपाए रहे, पर बदबू की वजह से पकड़े गए। उन्होंने शव को कंबल और साड़ी में लपेटकर झाड़ियों में फेंक दिया। पुलिस ने मामले में चार आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

आरोपियों के घर से मिला मृतक का सामान

पुलिस ने बताया कि जांच के दौरान आरोपियों के घर की तलाशी ली गई तो मृतक की टॉर्च और शव के खून के छींटे मिले। जिसके बाद मोहित साकेत उर्फ मुन्नू साकेत, मुकेश साकेत, धर्मेन्द्र साकेत और रंजीत साकेत समेत चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गए सभी आरोपी ब्रम्हागढ थाना शाहपुर जिला मऊगंज के रहने वाले हैं।