Wed. Apr 24th, 2024

प्रदेश के मजदूरों की हुईं चांदी – चांदी, प्रदेश सरकार ने बढ़ाई इतने गुना आमदनी, ई स्कूटर खरीदने के लिए भी मिलेंगे 40 हजार रुपये

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री मोहन यादव ने एक बड़ा ऐलान किया है।मुख्यमंत्री ने रविवार को कहा कि राज्य सरकार इलेक्ट्रिक स्कूटर खरीदने के लिए मजदूरों को 40,000 रुपये की आर्थिक सहायता प्रदान करेगी। साथ ही मुख्यमंत्री ने मजदूरों की मजदूरी दर में लगभग 5 गुना की वृद्धि की है।

श्रमिकों को ई-स्कूटर खरीदने के लिए 40,000 रुपये की सहायता

मुख्यमंत्री मोहन यादव ने इस दौरान जनता को कई अन्य सौगात भी दिए है। उन्होंने कहा, “हमने मजदूरों की मृत्यु या दिव्यांगता के मामले में वित्तीय सहायता राशि मौजूदा एक लाख रुपये से बढ़ाकर चार लाख रुपये कर दी है।” उन्होंने कहा कि श्रमिकों को ई-स्कूटर खरीदने के लिए 40,000 रुपये की सहायता प्रदान की जाएगी। उन्होंने विभिन्न श्रेणियों के श्रमिकों के वेतन में बढ़ोतरी की भी घोषणा की। मुख्यमंत्री ने कहा कि अकुशल श्रमिकों की मासिक मजदूरी बढ़ाकर 11,450 रुपये, अर्ध-कुशल की 12,446 रुपये और खेतिहर मजदूरों की 9,160 रुपये की जा रही है। मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव आज ग्वालियर में आयोजित विभिन्न कार्यक्रमों में शामिल हुए।

मध्य प्रदेश में मजदूरों की नवीन मजदूरी दर

खेतिहर मजदूर 1396 से 9160 मासिक

अकुशल श्रमिक 1625 से 11450 मासिक

अर्ध कुशल श्रमिक 1764 से 12446 मासिक

मजदूरों की दिव्यांगता एवं मृत्यु के आधार पर मिलने वाली सहायता राशि बढ़कर ₹4 लाख होगी।

श्रमिकों को ई-स्कूटर खरीदने के लिए ₹40,000 की आर्थिक सहायता दी जाएगी।पार्ट टाइम मजदूरी करने वालों को संबल योजना से जोड़ा जाएगा।

जानिए कैसे लगी वल्लभ भवन में अचानक लगी भीषण आग, कई अहम दस्तावेज जलकर राख

शनिवार को मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में शनिवार सुबह बड़ा हादसा हुआ। वल्लभ भवन के 1, 4, 5, 6 वीं मंजिल पर अचानक आग लग गई। बताया जा रहा है कि आग में कई महत्वपूर्व दस्तावेज जलकर खाक हो गए हैं। इमारत की तीसरी मंजिल में लगी आग ने कुछ ही देर में विकराल रूप ले लिया। फिलहाल 5 घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पा लिया गया है।

5 घंटे बाद सेना की मदद से पाया काबू

वल्लभ भवन में मध्य प्रदेश का सचिवालय है। मुख्यमंत्री समेत मंत्रियों के दफ्तर भी यहीं है। भवन के पांचवें फ्लोर पर मुख्यमंत्री का दफ़्तर है।फ़िलहाल आग लगने के कारणों का पता नहीं चल पाया है। आग बुझाने में लगे 3 दमकल कर्मी भी घायल हुए। बताया जा रहा है कि जहां आग लगी वहां राज्य के मंत्रियों के दफ्तर हैं।

5वीं मंजिल के सभी दस्तावेज जलें

5वीं मंजिल में रखे फर्नीचर और दस्तावेज पूरी तरह जलकर खाक हो गए है। SDERF, NDRF और सेना की टुकड़ी की मदद से आग पर काबू पाया गया। भोपाल के आसपास के जिलों से भी दमकल की टीमें बुलाई गई थीं। बता दें कि वल्लभ भवन प्रदेश शासन का सबसे अहम कार्यालय है, जिसमें मुख्यमंत्री समेत कई मंत्रियों के दफ्तर हैं। यहां सरकारी विभागों से जुड़े अहम दस्तावेज रखे हुए थे।

बताया जा रहा है कि आग में कई अहम दस्तावेज जलकर राख हो गए हैं। जोन-2 DCP श्रद्धा तिवारी ने बताया, “फोर्स तुरंत यहां पहुंच गई थी, जितने भी फायर ब्रिगेड हैं उनको बुला लिया गया। दूसरी और तीसरी मंजिल की आग पर काबू पा लिया गया। अभी आग के कारणों का पता नहीं चल पाया है।”