Tue. Apr 23rd, 2024

बैतूल के जिला अध्यक्ष ने जीतू पटवारी के कारण इस्तीफा दिया, कांग्रेस में मची घमासान

एमपी में पूर्व सीएम कमलनाथ को ना केवल बीजेपी के हमलों का सामना ही नहीं करना पड़ रहा है बावजूद इसके उनकी अपनी पार्टी कांग्रेस में भी उन्हें अपमानित और उनके समर्थकों को प्रताड़ित किया जा रहा है। जिसके कारण बैतूल के जिला अध्यक्ष सुनील शर्मा ने इस्तीफा दे दिया।

सुनील शर्मा ने भी कमलनाथ के नाम पर एड्रेस किया

अपना इस्तीफा बैतूल के जिला कांग्रेस अध्यक्ष सुनील शर्मा उर्फ गुड्डू ने अपना इस्तीफा पूर्व सीएम कमलनाथ को भेजा और इसकी एक कॉपी कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष जीतू पटवारी को भेजी दी। आपको बता दें कि कांग्रेस पार्टी की ज्यादातर नेता दीपक सक्सेना से लेकर सुनील शर्मा तक अपना इस्तीफा, पूर्व सीएम कमलनाथ के नाम एड्रेस कर रहे हैं जबकि प्रोटोकॉल के अनुसार इसी का प्रतिशत अध्यक्ष और राष्ट्रीय अध्यक्ष के नाम एड्रेस होना चाहिए। जिसका माध्यम कोई भी हो सकता है।

PCC चीफ जीतू पटवारी ने जिला अध्यक्ष को किया अपमानित

बुधवार को बैतूल में कांग्रेस के लोकसभा प्रत्याशी रामू टेकाम ने नामांकन भरा। इस मौके पर पार्टी की तरफ से आमसभा भी की गई थी। जिसमें PCC चीफ जीतू पटवारी ने सुनील शर्मा को दो शब्द कहने का मौका भी नहीं दिया जबकि वह बैतूल के जिला अध्यक्ष थे। सुनील शर्मा उर्फ गुड्डू ने कमलनाथ के लिए लिखा कि – मैंने आपके सफल नेतृत्व में पूरी निष्ठा से करीब 30 सालों से कांग्रेस पार्टी में कई पदों पर रहकर सेवा की, लेकिन मैं वर्तमान में जिला कांग्रेस अध्यक्ष पद पर कार्य करने में असमर्थ हूं। आपसे अनुरोध है कि कृपया मेरा इस्तीफा स्वीकार करवाने की कृपा करें।

सिंधिया के गढ़ से राहुल गांधी की न्याय यात्रा प्रारंभ, अध्यक्ष के दायित्व के बाद जीतू पटवारी की पहली बार अग्नि परीक्षा

राहुल गांधी यात्रा के दौरान मुरैना से उज्जैन तक अलग-अलग समूहों में संवाद करेंगे। इनमें अग्निवीर योजना के उम्मीदवारों, पूर्व सैनिकों, किसानों, पटवारी परीक्षार्थियों, एमपीपीएससी की तैयारी कर रहे युवाओं, महिलाओं आदि से संवाद करेंगे…

मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष का दायित्व मिलने के बाद पहली बार जीतू पटवारी (Jitu Patwari) की अग्नि परीक्षा होने जा रही है। दरअसल, कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) की भारत जोड़ो न्याय यात्रा एमपी आ रही है। मार्च महीने के पहले सप्ताह में यह यात्रा एमपी में आएगी। भारत जोड़ो न्याय यात्रा में किसी तरह की कोई चूक न हो, इसके लिए पीसीसी चीफ पटवारी अलर्ट हैं और प्रदेश भर का दौरा कर चुके हैं। इसी क्रम में पटवारी मंगलवार से फिर प्रदेश के दौरे पर निकलेंगे। राहुल अपनी इस यात्रा के जरिए सात लोकसभा सीटों को कवर करेंगे। इनमें मुरैना, ग्वालियर, रतलाम, देवास, गुना, राजगढ़ और उज्जैन सीट शामिल है। कांग्रेस ने राहुल गांधी की यात्रा के पूरे रूट पर हर स्थान के लिए एक नेता को जिम्मेदारी दी है। स्वागत, रोड शो, नुक्कड़ सभा, दोपहर भोजन, रात्रि विश्राम, संवाद और जनसभा के लिए वरिष्ठ नेताओं को जिम्मेदारी सौंपी गई है। दोपहर 12 बजे बदनावर में ही राहुल गांधी जनसभा को संबोधित करेंगे

कमलनाथ करेंगे राहुल गांधी की यात्रा का स्वागत

सूत्रों के मुताबिक 2 मार्च को राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा का कमलनाथ ग्वालियर में स्वागत करेंगे। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ दो मार्च से लगातार राहुल गांधी के साथ रहेंगे। कमलनाथ ने सोशल मीडिया पर लिखा है कि हमारे नेता राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा कल 2 मार्च को मुरैना से मध्यप्रदेश में प्रवेश करेगी। यह यात्रा भारत के सभी वर्गों को न्याय देने की यात्रा है। यह जन जागरण और नया भारत रचने के सपने की यात्रा है।

गौ माता के हित में मोहन सरकार ने लिए फैसले, विपक्ष ने लगाया आरोप

सोमवार को हुई कैबिनेट बैठक में मध्यप्रदेश की मोहन सरकार ने एक महत्त्वपूर्ण फ़ैसला लिया है। दरअसल ये फ़ैसला सड़क पर घूमती लावारिस गायों के विषय में है। सरकार गौ माता को लेकर कई नए प्रावधान करने जा रही है। इसमें गौशालाओं को आत्मनिर्भर बनाने के साथ ही गौ माता की मृत्यु पर दाह संस्कार अनिवार्य किया जाएगा। ताकि उनके अवशेष कहीं अपमानित ना हो।

गौ माता का सम्मानजनक दाह संस्कार करवाएगी सरकार

बैठक में मुख्यमंत्री मोहन यादव ने कहा कि सड़कों पर होने वाली दुर्घटनाओं में गौ माता शिकार हो जाती हैं, अब ऐसी व्यवस्था की जाएगी कि यह सड़कों पर न दिखें। इसके लिए गौशालाओं के लिए राशि और मानदेय बढ़ाया जाएगा। यदि कहीं गौ माता की मृत्यु हो जाती है, तो उनके सम्मानजनक दाह संस्कार की व्यवस्था सरकार करेगी। गौ माता के अवशेष अपमानित न हों इसके लिए समाधि अथवा अन्य व्यवस्थाओं पर गंभीरता से ध्यान दिया जाएगा

फैसले पर विपक्ष ने लगाया आरोप

मध्यप्रदेश कांग्रेस के महामंत्री जेपी धनोपिया ने कहा कि बीजेपी सरकार में सालों से धर्म के नाम पर सिर्फ राजनीति की गई है। गौवंश की जितनी मौत बीजेपी सरकार में हुई उतनी कभी नहीं हुई। गौशालाओं का अनुदान के साथ गौ माता के चारे की राशि के नाम पर भी बीजेपी सरकार ने झूठ बोला। धनोपिया ने दावा किया कि प्रदेश में कमलनाथ सरकार में ही गौवंश संरक्षण के लिए ऐतिहासिक फैसले लिए गए। कांग्रेस शासनकाल के फैसलों पर भी सरकार अमल नहीं कर पाई। उधर, बीजेपी प्रदेश प्रवक्ता मिलन भार्गव ने कहा कि जब-जब धर्म से जुड़े मामलों पर सरकार निर्णय लेती है तो कांग्रेस के पेट में दर्द होता है। कांग्रेस को यह नहीं भूलना चाहिए कि गौवंश संरक्षण के लिए आंदोलन कर रहे संतों पर आखिर किस शासनकाल में लाठियां और गोलियां चलाई गई थीं।

एमपी कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने दिया बड़ा बयान, कहा – कमलनाथ कही नहीं जा रहा है यह केवल मीडिया की पकाई खिचड़ी थी

एमपी कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष जीतू पटवारी ने यह दावा किया है की कमलनाथ कांग्रेस में ही रहेंगे। मीडिया से चर्चा करते हुए जीतू पटवारी ने कहा कि मेरी कमलनाथ जी से फोन पर बात हुई है और उन्होंने कहा है की वह कांग्रेस में ही रहेंगे। जीतू पटवारी ने कहा कि यह बात मैं उनके बोलने पर ही कर रहा हूं। सूत्रों से पता चला है की शनिवार को कमलनाथ अपने पुत्र नकुलनाथ के साथ दिल्ली गए हुए थे। कमलनाथ के दिल्ली जाने के बाद ही यह अफवाये उड रही थी की वह कांग्रेस छोड़ने वाले हैं। हालांकि अब सारी बातें साफ नजर आ रही है। जीतू पटवारी के अलावा कमलनाथ के करीबी माने जाने वाले व्यक्ति सज्जन सिंह वर्मा ने दिल्ली में मुलाकात के बाद कहा है कि कमलनाथ जी कांग्रेस में ही हैं और रहेंगे।

जीतू पटवारी ने क्या कहा?

एमपी कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष जीतू पटवारी ने कहा है की भाजपा मीडिया का गलत उपयोग कर किसी भी सम्मानित राजनेता की छवि को खराब करने और उसकी अपने दल के प्रति प्रतिबद्धता पर संदेह पैदा करने का षड्यंत्र रचती रही है। कमलनाथ जी ने इस बात का खुलासा किया है की मैं कांग्रेस का था, कांग्रेस का हूं, और कांग्रेस का ही रहूंगा।कमलनाथ जी हमेशा कांग्रेस की विचारधारा के साथ जिये हैं और जियेंगे ऐसी भावना उन्होंने व्यक्त की है। कमलनाथ के सामने आकर खुलासा करने की बात पर जीतू पटवारी ने कहा है की जब सही समय आयेगा तब वह सामने आकर बयान देंगे।

कमलनाथ को लेकर दिग्विजय सिंह ने दिया बड़ा बयान, कहा – ईडी, आईटी और सीबीआई का दबाव है कमलनाथ पर

भाजपा में कमलनाथ के शामिल होने की अटकलों के बीच दिग्गविजय जी ने बोला की उनपर ईडी, आईटी, और सीबीआई का दवाब है।मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और राज्यसभा सदस्य दिग्विजय सिंह ने कमलनाथ के भाजपा में शामिल होने पर एक बड़ा बयान दिया है ।उन्होंने कहा, कमलनाथ जी जैसा व्यक्ति जिन्होंने कांग्रेस से शुरुआत की है, उन्होंने हमेशा कांग्रेस के कदम से कदम मिलाया हैं। कमलनाथ जी को हम इंदिरा गांधी की तीसरी औलाद मानते हैं, भला वो कैसे कॉन्ग्रेस पार्टी को छोर सकते हैं।

बीजेपी में जाना वाला चरित्र नहीं है कमलनाथ का

पूर्व मुख्यमंत्री जी का कहना है कि ईडी, सीबीआई और आईटी के दवाब से हमारे अलावा कमलनाथ जी को भी परेशानियां हो रही हैं। उनका चरित्र बिल्कुल भी ऐसा नही हैं। कमलनाथ के स्वयं भाजपा में शामिल होने की अटकलों का खंडन नहीं करने के सवाल पर पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने ज्वाइन नहीं किया यही उनका खंडन है।