Wed. Apr 24th, 2024

नाथ तो सांसद ‘बनते’ रहे पर युवाओं को सांसद बनने का मौका नहीं दिया: मोहन यादव

मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा बुधवार को नामांकन के अंतिम दिन जबलपुर, छिंदवाड़ा व बालाघाट लोकसभा प्रत्याशियों का नामांकन कराने पहुंचे थे। छिंदवाड़ा में उनके साथ मंत्री कैलाश विजयवर्गीय, प्रह्लाद पटेल व अन्य नेता शामिल हुए। सभी नेताओं के साथ प्रत्याशी विवेक बंटी साहू ने कलेक्ट्रेट कार्यालय पहुंचकर अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। इस दौरान वह कॉन्ग्रेस पर जमकर बरसे। उन्होंने कमलनाथ पर कई तीखे कटाक्ष किए।

छिंदवाड़ा में जो आए, वहीं कुंडली मार कर बैठ गए

उन्होंने कहा कि छिंदवाड़ा में सांसद तो बनते रहे, लेकिन कभी छिंदवाड़ा के युवाओं को सांसद बनने का मौका नहीं मिला। छिंदवाड़ा में जो आए, वहीं कुंडली मार कर ऐसे बैठ गए कि उठने का नाम ही नहीं ले रहे हैं। उनमें अब तो कोई दम ही नहीं है, वैसे ही बे-दम हैं। मुख्यमंत्री ने कटाक्ष करते हुए कहा कि एक भाई साहब कह रहे थे कि छिंदवाड़ा कांग्रेस का गढ़ है, ये गढ़ नहीं यहां सब गड़बड़ है, कोई बचा ही नहीं है।

13 महीने की सरकार उनकी थी और 3 महीने की सरकार हमारी है

उन्होंने कहा कि ये कहते हैं, समय नहीं मिला। 13 महीने की सरकार उनकी थी और 3 महीने की सरकार हमारी है। 3 महीने की सरकार में हमने हेलीकॉप्टर की सर्विस ली तो उसे घूमने के लिए नहीं। हमने कहा, प्रदेश के अंदर किसी भी गरीब आदमी का बच्चा, मां, बूढ़ा, बुजुर्ग बीमार है। उस हॉस्पिटल में अच्छे इलाज का इंतजाम नहीं है तो उसके लिए कलेक्टर से संपर्क करके डॉक्टर के माध्यम से बड़े से बड़े अस्पताल में ले जाने के लिए एयर एंबुलेंस के लिए हेलीकॉप्टर की सुविधा हमने अपनी तरफ से कराई। हमने एक और निर्णय किया। एंबुलेंस के लिए 108 मिलाओ तो एंबुलेंस दौड़ी-दौड़ी आती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि गो-शाला के लिए हमारी सरकार ने निर्णय किया कि कोई गाय सड़क पर तड़पते हुए पड़ी नहीं रहेगी। उसके लिए एंबुलेंस लगाएं और जो गो-शालाए चल रही है उनका अनुदान डबल कर दिया। पहले हम प्रति गाय के रूप में 20 रुपए देते थे। अब हमने उसे बढ़ाकर 40 रुपए कर दिए हैं।

कमलनाथ के करीबी सैयद जाफर ने छोड़ी कांग्रेस, लोकसभा चुनाव से पहले करीब पांच हजार बड़े-छोटे नेताओ ने थामा बीजेपी का दामन

लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस की स्थिति दिनों दिन खराब ही होती जा रही है। खासकर छिंदवाड़ा में कमलनाथ के कट्टर समर्थक अब उनसे एक-एक कर दूर जा रहे हैं। इसी बीच कमलनाथ के कट्टर समर्थक और उनकी बातों को प्रमुखता से रखने वाले सैयद जाफर ने भी उनके दर्जन भर से अधिक समर्थकों ने भी भाजपा का दामन थाम लिया है।

छिंदवाड़ा में कमलनाथ को बड़ा झटका

सैयद जाफर के पार्टी छोड़ने से छिंदवाड़ा में कमलनाथ को बड़ा झटका लग सकता हैं, दरअसल सैयद जाफर छिंदवाड़ा से ही आते हैं। उनकी गिनती कमलनाथ के वफादारों में होती थी। वह कमलनाथ के साथ मुस्तैदी से खड़ा रहते थे। कई बार जब कमलनाथ को लेकर अटकलें लगती थीं कि वह खंडन भी करते थे। अब सैयद जाफर ने बीजेपी की सदस्यता ग्रहण कर ली है। यह छिंदवाड़ा में कमलनाथ के लिए बड़ा झटका है। सैयद जाफर ने भोपाल में सीएम मोहन यादव और प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा के समक्ष बीजेपी की सदस्यता ग्रहण की है। दरअसल, मुख्यमंत्री मोहन यादव और प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने प्रदेश कार्यालय में कांग्रेस नेता सैयद जाफर, पथरिया के वरिष्ठ कांग्रेस नेता दिनेश श्रीधर, कांग्रेस महामंत्री डॉ. मनीषा दुबे, रतलाम जिला पंचायत सदस्य संतोष पालीवाल, बसपा के प्रदेश प्रभारी डॉ. रामसखा वर्मा, पूर्व प्रचारक अभयराज सिंह समेत दर्जनों नेताओं को बीजेपी की सदस्यता दिलाई है। इस अवसर पर बीजेपी नेताओं ने अंगवस्त्र पहनाकर उनका स्वागत किया है।

क्या कहा वीडी शर्मा ने

कांग्रेस नेताओं के बीजेपी में शामिल होने पर प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने कहा है कि सभी लोगों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यों पर भरोसा जताया है। इसके बाद पार्टी की सदस्यता ग्रहण की है। गौरतलब है कि एमपी में कांग्रेस की जब से हार हुई है, उसके बाद से पार्टी नेताओं का छोड़ना जारी है। लोकसभा चुनाव से पहले करीब पांच हजार बड़े और छोटे नेताओ में भाजपा का दामन थाम लिया है।

मोहन सरकार पर हमलावर हुए कमलनाथ, कर्ज लेकर पार्टी के कार्यक्रम कर रही सरकार

कई दिनों कि चुप्पी के बाद पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस नेता कमलनाथ, फिर अपने सोशल मीडिया एकाउंट से प्रदेश सरकार पर हमलावर हुए हैं। जहाँ मीडिया में कयास लागए जा रहे थे कि (kamalnath) अपने बेटे नकुलनाथ के साथ बीजेपी जॉइन कर सकते हैं। इन सब अटकलों को दुर करते हुए नाथ ने कहा कि डॉ मोहन सरकार तो शिवराज (shivraj singh Chouhan) सरकार से भी तेजी से प्रदेश को कर्ज के दलदल में डाल रही है।

दो महीने में 17500 करोड़ का कर्ज

विकास के वादे करने वाली सरकार प्रदेश को कर्ज के दलदल में डाल रही है। विकास के नाम और कर्ज लेकर सरकार राजनैतिक कार्यक्रम कर रही है। पिछले 2 महीने सरकार ने 17500 करोड़ का loan लिया और अब 27 फरवरी को अतिरिक्त 5000 करोड़ का कर्ज ले रही है।

शिवराज सरकार से भी तेज है मोहन सरकार

शिवराज सरकार पहले से ही प्रदेश पर 3.50 लाख करोड़ का कर्ज छोड़कर गई है और अब नवागत सरकार प्रदेश को कर्ज में डुबाने में एक कदम आगे है।

पीसीसी दफ्तर में हुई अहम बैठक, कमलनाथ आभासी रुप से जुड़े

2 मार्च को राहुल गांधी की न्याय जोड़ो यात्रा मध्यप्रदेश में प्रवेश करेगी। इसको लेकर पीसीसी दफ्तर में हुई बैठक में कामलनाथ समर्थक सज्जन सिंह वर्मा, सुखदेव पांसे, बाला बच्चन, लखन घनघोरिया, मधु भगत सहित अधिकतर विधायक उपस्थित रहे।

न्याय यात्रा 2 मार्च को मध्यप्रदेश पहुँचेगी

राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा 2 मार्च को राजस्थान के धौलपुर से मध्यप्रदेश के मुरैना में प्रवेश करेगी। इसके अतरिक्त लोकसभा चुनाव को लेकर पीसीसी दफ्तर में अहम बैठक हुई जिसमे प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी जितेंद्र सिंह और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष जीतू पटवारी ने विभिन्न समितियों के सदस्यों के साथ चर्चा कर तैयारियों को अंतिम दिया।

इस बैठक में कमलनाथ सिंह वर्चुअली शामिल हुए। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व राज्यसभा सदस्य दिग्विजय सिंह और विवेक तन्खा भी इस मीटिंग से वर्चुअली जुड़े।

एमपी कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने दिया बड़ा बयान, कहा – कमलनाथ कही नहीं जा रहा है यह केवल मीडिया की पकाई खिचड़ी थी

एमपी कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष जीतू पटवारी ने यह दावा किया है की कमलनाथ कांग्रेस में ही रहेंगे। मीडिया से चर्चा करते हुए जीतू पटवारी ने कहा कि मेरी कमलनाथ जी से फोन पर बात हुई है और उन्होंने कहा है की वह कांग्रेस में ही रहेंगे। जीतू पटवारी ने कहा कि यह बात मैं उनके बोलने पर ही कर रहा हूं। सूत्रों से पता चला है की शनिवार को कमलनाथ अपने पुत्र नकुलनाथ के साथ दिल्ली गए हुए थे। कमलनाथ के दिल्ली जाने के बाद ही यह अफवाये उड रही थी की वह कांग्रेस छोड़ने वाले हैं। हालांकि अब सारी बातें साफ नजर आ रही है। जीतू पटवारी के अलावा कमलनाथ के करीबी माने जाने वाले व्यक्ति सज्जन सिंह वर्मा ने दिल्ली में मुलाकात के बाद कहा है कि कमलनाथ जी कांग्रेस में ही हैं और रहेंगे।

जीतू पटवारी ने क्या कहा?

एमपी कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष जीतू पटवारी ने कहा है की भाजपा मीडिया का गलत उपयोग कर किसी भी सम्मानित राजनेता की छवि को खराब करने और उसकी अपने दल के प्रति प्रतिबद्धता पर संदेह पैदा करने का षड्यंत्र रचती रही है। कमलनाथ जी ने इस बात का खुलासा किया है की मैं कांग्रेस का था, कांग्रेस का हूं, और कांग्रेस का ही रहूंगा।कमलनाथ जी हमेशा कांग्रेस की विचारधारा के साथ जिये हैं और जियेंगे ऐसी भावना उन्होंने व्यक्त की है। कमलनाथ के सामने आकर खुलासा करने की बात पर जीतू पटवारी ने कहा है की जब सही समय आयेगा तब वह सामने आकर बयान देंगे।

कमलनाथ को लेकर दिग्विजय सिंह ने दिया बड़ा बयान, कहा – ईडी, आईटी और सीबीआई का दबाव है कमलनाथ पर

भाजपा में कमलनाथ के शामिल होने की अटकलों के बीच दिग्गविजय जी ने बोला की उनपर ईडी, आईटी, और सीबीआई का दवाब है।मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और राज्यसभा सदस्य दिग्विजय सिंह ने कमलनाथ के भाजपा में शामिल होने पर एक बड़ा बयान दिया है ।उन्होंने कहा, कमलनाथ जी जैसा व्यक्ति जिन्होंने कांग्रेस से शुरुआत की है, उन्होंने हमेशा कांग्रेस के कदम से कदम मिलाया हैं। कमलनाथ जी को हम इंदिरा गांधी की तीसरी औलाद मानते हैं, भला वो कैसे कॉन्ग्रेस पार्टी को छोर सकते हैं।

बीजेपी में जाना वाला चरित्र नहीं है कमलनाथ का

पूर्व मुख्यमंत्री जी का कहना है कि ईडी, सीबीआई और आईटी के दवाब से हमारे अलावा कमलनाथ जी को भी परेशानियां हो रही हैं। उनका चरित्र बिल्कुल भी ऐसा नही हैं। कमलनाथ के स्वयं भाजपा में शामिल होने की अटकलों का खंडन नहीं करने के सवाल पर पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने ज्वाइन नहीं किया यही उनका खंडन है।

अब बीजेपी मेंं खिलेगा कमलनाथ का कमल, आज शाम को बीजेपी कर सकते हैं ज्वाइन

राजनीतिक गलियारों में यह चर्चा चल रही है कि कांग्रेस नेता कमलनाथ और उनके बेटे नकुल नाथ कांग्रेस छोड़ने वाले है। रविवार शाम तक यह खबर आ सकती है की दोनों ने बीजेपी का दामन थाम सकते है। कमलनाथ और उनके सांसद बेटे नकुलनाथ के दिल्ली पहुंचने से ये चर्चाएं और तेज हो रही है। साथ ही छिंदवाड़ा सीट से लोकसभा सांसद नकुल नाथ के सोशल मीडिया अकाउंट की प्रोफाइल से पार्टी (कांग्रेस) का नाम और लोगो भी हटा दिया गया है। इसका एक कारण यह भी बताया जा रहा है की राज्यसभा सीट नहीं मिलने से कमल नाथ पार्टी से नाराज चल रहे हैं। आपको बता दे की कांग्रेस के कई बड़े नेताओं ने इन दिनों कांग्रेस छोड़ बीजेपी ज्वाइन कर लिया है।

कमलनाथ पुराने कांग्रेसी नेता, नेहरू-गांधी परिवार के साथ हमेशा खड़े थे: दिग्विजय सिंह

वहीं कमलनाथ के बीजेपी में शामिल होने की चर्चाओं के बारे में पूछे जाने पर कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने कहा कि कल वो जब छिंदवाड़ा में थे तो उनके बात हुई थी। उन्होंने यह भी कहा कि कमलनाथ पुराने कांग्रेसी नेता है। उन्होंने कहा कि एक व्यक्ति जिसने अपनी राजनीतिक यात्रा कांग्रेस से शुरू की और जब इंदिरा गांधी को जनता पार्टी की सरकार में जेल भेजा गया तो वह नेहरू-गांधी परिवार के साथ खड़े थे, क्या आपको लगता है कि ऐसा व्यक्ति कभी कांग्रेस और गांधी परिवार को छोड़ेगा।

कमलनाथ ने क्या बताया मीडिया को?

दिल्ली पहुंचे कांग्रेस नेता कमलनाथ को मीडिया कर्मियों के द्वारा घेर लिया गया और उनसे सवाल भी पूछे गए उन्होंने भारतीय जनता पार्टी के साथ जाने की अटकलों के बीच कहा कि अगर ऐसी कोई बात होगी तो वह मीडिया को जानकारी देंगे। उन्होंने मीडिया से कहा कि आप लोग बहुत उत्साहित हो रहे हैं। यह मैं नहीं कह रहा हूं, आप लोग कह रहे है। अगर ऐसी कोई बात होगी तो सबसे पहले आप लोगों को जानकारी दे दूंगा।