Wed. Apr 24th, 2024

LSG VS KKR : कोलकाता ने लखनऊ को IPL में पहली बार हराया, घर में दी 8 विकेट से शिकस्त

कोलकाता नाईट राइडर्स (KKR) ने IPL इतिहास में पहली बार रविवार को लखनऊ सुपरजाइंट्स(LSG) को 8 विकेट से हरा दिया। कोलकाता में खेले गए मुकाबले में LSG ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 20 ओवर में 7 विकेट खोकर 161 रन बनाए। जवाब में केकेआर ने 15.4 ओवर में बड़ी आसानी से 2 विकेट खोकर इस लक्ष्य को हासिल कर लिया। इस मुकाबले में KKR की ओर से फिल साॅल्ट ने 47 गेदों में 89 रनों की नाबाद पारी खेली और टीम को जीत दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

LSG नही बना सकी बड़ा स्कोर

मैच में घरेलू टीम KKR ने टाॅस जीतकर पहले गेंदबाजी करने का और मेहमान टीम को पहले बल्लेबाजी के लिए आमंत्रित किया। LSG की ओर से क्विंटन डी काॅक और कप्तान के एल राहुल ओपनिंग करने आए। लेकिन दोनों बल्लेबाज ने 19 रन जोड़े। इसके बाद डी काॅक ने 10 रन बनाकर आउट हो गए। इसके बाद दीपक हुड्डा कुछ खास नहीं कर सके और 8 रन बनाकर आउट हुए। इसके बाद बडोनी और के एल राहुल ने पारी को संभाला। दोनों ने 39 रन जोड़े।

इसके बाद के एल राहुल 39 रन बनाकर आउट हो गए। इसके बाद बडोनी 29 रन बनाकर आउट हो गए। टीम के लगातार विकेट गिरते रहे। अंत में निकोलस पूरन ने 32 गेदों पर 45 रनों की पारी खेली और टीम को 161 रन के सम्मानजनक स्कोर तक ले गए। वही केकेआर की ओर से मिचेल स्टार्क ने 3 विकेट हासिल किए।

KKR ने आसानी से हासिल किया लक्ष्य

जबाव में KKR की शुरुआत भी अच्छी नहीं रही। टीम की ओर से फिल साॅल्ट और सुनील नारायण ओपनिंग करने आए। नारायण ने पहले ओवर में अच्छी बल्लेबाजी की लेकिन वें दूसरे ओवर में 6 रन बनाकर मोहसिन खान का शिकार बने। इसके बाद अंगकृष ने भी कुछ शाॅट्स लगाने की कोशिश की। लेकिन वें भी मोहसिन की गेंद पर 7 रन बनाकर आउट हो गए।

इसके बाद कप्तान श्रेयस अय्यर बल्लेबाजी करने आए। उन्होंने पहले सधी बल्लेबाजी की और फिर कुछ बड़े शाॅट्स लगाए। दोनों ने मिलकर तीसरे विकेट के लिए 120 रनों की अविजित साझेदारी की। इस दौरान फिल साॅल्ट ने 47 गेदों पर 89 रनों की पारी खेली जबकि श्रेयस अय्यर ने 38 गेदों पर 38 रन की पारी खेली। दोनों ने टीम को 18.4 ओवर में चेस कर लिया और टीम को लखनऊ के खिलाफ आईपीएल इतिहास में पहली जीत दिलाई।

आचार संहिता के बाद एक्शन में Police, प्रदेश में अब तक 18 करोड़ की अवैध शराब और 6 करोड़ की नगदी जब्त की

लोकसभा चुनावों के आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद से प्रशासन और Police की मुस्तैदी के चलते प्रदेश में 6 करोड़ से ज्यादा की नगदी, 18 करोड़ की अवैध शराब बरामद की है। दो लाख 60 हजार 74 लाइसेंसी शस्त्र थानों में जमा कराए गए हैं। यह कारवाई Police ने चुनाव की आचार संहिता लगने के बाद की है।

Police ने 6 करोड़ से ज्यादा के नगदी जब्त

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी अनुपम राजन ने बताया है कि आचार संहिता के प्रभावशील होने के बाद Police एवं अन्य जांच एजेंसियों द्वारा लगातार कार्रवाई की जा रही है। दो अप्रैल 2024 तक छह करोड़ 58 लाख 53 हजार 49 रुपये की ऐसे नकदी जब्त की गई है, जिसका ब्योरा नगदी के साथ पकड़ाया व्यक्ति नहीं दे पाया।

आचार संहिता के बाद एक्शन में Police

11 लाख लीटर अवैध शराब जब्त की आबकारी ने

11 लाख 32 हजार 859 लीटर अवैध शराब जब्त की गई, जिसका मूल्य 17 करोड़ 95 लाख 55 हजार 629 रुपये होता है। इसी तरह 14 करोड़ 34 लाख 35 हजार 955 रुपये मूल्य के 10 हजार 285 किलोग्राम से अधिक ड्रग्स और तीन करोड़ 92 लाख 71 हजार 21 रुपये मूल्य की 199 किलोग्राम से अधिक कीमती धातुएं भी जब्त की गई हैं। इसके अलावा 20 करोड़ 69 लाख 650 रुपये मूल्य की अन्य सामग्री भी जब्त की गई हैं।

जानिए कब आएगा एमपी बोर्ड की 10वीं और 12वीं की परीक्षा का परिणाम, कैसे चेक कर सकेंगे रिजल्ट

मध्यप्रदेश में इस साल कक्षा 10वीं, 12वीं की बोर्ड परीक्षा देने वाले छात्र छात्राओं के लिए जरूरी सूचना है। अभी परीक्षाएं खत्म भी नहीं हुई हैं और माध्यमिक शिक्षा मंडल ने एमपी बोर्ड रिजल्ट 2024 डेट की जानकारी दे दी है। आप मंडल की वेबसाइट mpbse.nic.in पर नतीजे चेक कर पाएंगे।

करीब 2500 से 3000 रोज चेक होगी

काॅपी 22 फरवरी से काॅपी चेक करने की प्रक्रिया शुरू होगी। बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन, मध्यप्रदेश (MPBSE) ने हर दिन करीब 2500 से 3000 उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन का लक्ष्य तय किया है। कॉपियों की जांच पूरी होते ही छात्रों को मिले नंबर एमपी बोर्ड के ऑनलाइन पोर्टल पर अपलोड होंगे। फिर उसके आधार पर एमपी बोर्ड परीक्षा परिणाम 2024 तैयार किया जाएगा।

15 अप्रैल तक आ जाएगा रिजल्ट

एमपबीएसई ऑफिशियल से प्राप्त जानकारी के अनुसार, लोकसभा चुनाव से पहले 10वीं और 12वीं दोनों कक्षाओं के नतीजे घोषित करने का लक्ष्य रखा गया है। फिलहाल बोर्ड ने 15 अप्रैल 2024 के आसपास मध्यप्रदेश क्लास 10, 12 रिजल्ट की घोषणा किए जाने की बात कही है। परिणाम आने के बाद उसे चेक करने के लिए ऑनलाइन लिंक एक्टिव किया जाएगा। आप mpbse.nic.in/results पर जाकर अपने मार्क्स चेक कर पाएंगे।

22 फरवरी से शुरू होगी बोर्ड परीक्षा की उत्तर पुस्तिका की चेकिंग, जानिए एक काॅपी चेक करने के शिक्षक को कितने रुपये मिलते हैं

एमपी बोर्ड की 10वीं और 12वीं की परीक्षा जारी है।  5 और 6 फरवरी से शुरू होने वाली दसवीं और बारहवीं की परीक्षाएं 28 फरवरी और 5 मार्च, 2024 को समाप्त हो जाएंगी। शिक्षा विभाग ने इसी के साथ उत्तरपुस्तिकाओं के मूल्यांकन की तैयारी भी शुरू कर दी। विभाग के अनुसार 22 फरवरी से कक्षा 10वीं-12वीं की उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन शुरू हो जाएगा। तब तक दोनों कक्षाओं के प्रमुख पेपर हो जाएंगे।

कैमरे से होगी निगरानी

वहीं स्कूल के कमरों में माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा अलग से कैमरे लगाए गए हैं। जिससे मूल्यांकन की मॉनिटरिंग कैमरों के माध्यम से ऑनलाइन भोपाल में बैठे अधिकारियों द्वारा की जाएगी। इन कैमरों की खास बात यह है कि स्पष्ट तस्वीर के साथ मूल्यांकन कक्ष में हो रही आवाज भी रिकॉर्ड होगी। यही वजह है कि इस बार मूल्यांकन कार्य भी विशेष सावधानी के साथ किया जाएगा।

24 घंटे पुलिस बल रहेगा तैनात

इस बार पहले चरण में कॉपियों का मूल्यांकन 22 फरवरी से किया जाएगा। कॉपीयो को जिले के शासकीय स्कूल के स्ट्रांग रूम में रखा जाएगा। जहां पर 24 घंटे पुलिस बल तैनात रहेगा। पहले चरण में 10वीं की हिंदी एवं संस्कृत एवं 12वीं की हिंदी व अंग्रेजी विषय की उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन होगा। मूल्यांकन कार्य के लिए एक कलेक्टर प्रतिनिधि की भी अलग से नियुक्ति की जाएगी।

10वीं के लिए 12 रुपए और 12वीं के 13 रुपये मिलेंगे

सभी विषयों की उत्तर पुस्तिकाओं को विषय विशेषज्ञ और तीन साल के अनुभवी शिक्षक ही चेक करेंगे। स्कूल के कक्षों में उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन कार्य सुबह 10.30 बजे से शाम 5.30 बजे तक चलेगा। शिक्षक कक्ष में रहकर ही मूल्यांकन कार्य करेंगे। मूल्यांकन के दौरान कोई भी शिक्षक मोबाइल फ़ोन का उपयोग नहीं कर सकेंगे। कक्षा 10वीं की प्रत्येक उत्तर पुस्तिका जांचने पर शिक्षकों को 12 रुपए और कक्षा 12वीं की उत्तर पुस्तिका चैक करने पर मिलेंगे 13 रुपए मिलेंगे। इस बार एमपी बोर्ड ने परीक्षा के बाद मूल्यांकन प्रक्रिया में बदलाव किया है। इस बार उत्तर पुस्तिका में स्टीकर की जगह बारकोड लगाया जायेगा। इस बारकोड के माध्यम से शिक्षक आसानी से छात्रों के नंबर चढ़ा सकेंगे।