Tue. Apr 23rd, 2024

C21 माॅल के सामने टावर 61 में लगी आग, आधे घंटे बाद पहुंची फायर ब्रिगेड

गर्मियों में लगातार आगजनी घटनाएं इंदौर में बढती जा रही है। इसी बीच रविवार को इंदौर में एबी रोड पर स्थित C21 मॉल के सामने स्थित बिल्डिंग टावर 61 में आग लग गई। आग शाम करीब 5.15 बजे बिल्डिंग के टॉप फ्लोर पर स्थित रेस्टोरेंट में लगी। थोड़ी ही देर में आग ने बिल्डिंग के नीचे के ऑफिस को भी चपेट में ले लिया।

कडी मशक्कत के बाद पाया आग पर काबू

C21 मॉल से पाइप लाकर टावर 61 में आग बुझाने की कोशिश की गई, लेकिन बिल्डिंग के टॉप फ्लोर तक पानी नहीं पहुंच पाया। जिसके बाद मौके पर पहुंची फायर ब्रिगेड की टीम ने कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया। आग किस कारण से लगी और इससे कितना नुकसान हुआ है, ये अभी सामने नहीं आ पाया है।

सड़क पर बनी जाम की स्थिति

जिस समय बिल्डिंग में आग लगी, तब वहां काफी लोग थे। हालांकि सभी को वक्त रहते सुरक्षित बाहर निकाला गया। आग के कारण एबी रोड पर जाम की स्थिति बन गई है। दोनों तरफ सड़क पर वाहनों की लाइन लग गई। आग के कारण लोटस चौराहे से विजय नगर की तरफ जाना वाला ट्रैफिक बंद कर दिया गया। बिल्डिंग के सामने वाली लेन का ट्रैफिक भमोरी चौराहे और लोटस चौराहे के बीच में बंद कर दिया है। फिलहाल ट्रैफिक को बीआरटीएस लेन से निकाला जा रहा है।

आग ने खड़े किए कई सवाल

यह आग शहर के बीचोंबीच लगी। लेकिन इसके बाद बाबजूद आग बुझाने के लिए फायर ब्रिगेड काफी देर से पहुंची। आग 5.15 पर लगी थी लेकिन फायर ब्रिगेड लगभग 40 मिनट बाद पहुंची। तब तक आग काफी ज्यादा फेल चुकी थी। इसी बीच सवाल उठ रहा है कि इंदौर में इतनी लगातार आग क्यों लग रही है। यही आग यदि सामने C21 माॅल में लगती तो और क्या तब ही इतनी लापरवाही होती और तब इतने कितनी जनहानि हताहत हो जाती है।उ

Khandwa जिनिंग फैक्ट्री में आग, करोड़ों की कॉटन जलकर हुई खाक

MP News: मध्य प्रदेश में होली के दिन कई जगह आग लगने की घटनाएं सामने आईं। Ujjain में महाकाल मंदिर में भस्मारती में आग के अलावा खंडवा जिले के जिनिंग मिल में भी सोमवार को आग लग गई। कपास की फैक्ट्री में आग लगने से 1500 से ज्यादा कॉटन की गठान जल गईं। जैसे ही इस घटना की जानकारी मिली फायर ब्रिगेड मौके पर पहुंची और हालात संभाले।

कोई हताहत नहीं हुआ

खंडवा जिले के छोटी छैगांव में जिनिंग फैक्ट्री में सोमवार को आग लग गई। आग इतनी भीषण थी कि लपटें आसमान को छूती नजर आईं। आग के चलते कॉटन जल पर राहत की बात यह है कि कोई जन हानि नहीं हुई। भीषण आग पर काबू पाने के लिए खंडवा के पदम नगर और छैगांवमाखन की टीम दलबल के साथ मौके पर पहुंची और आग पर काबू पाया।

करोड़ों के नुकसान की आशंका

छेगावँ स्थित वर्धमान जिनिंग मिल में कपास खरीदकर उसकी जिनिंग की जाती थी। इसके बाद यहां रूई की गठानें बनाई जाती थी। महाराष्ट्र के मलकापुर के जैन परिवार की इस वर्धमान जिनिंग मिल में लगी आग में 1500 से अधिक कपास की गठानें जलकर राख हो गई, जिससे फैक्टरी मालिक को हुए करोड़ों के नुकसान की आशंका जताई जा रही है।

इंदौर के इंडस्ट्री हाउस में शॉर्ट सर्किट के कारण लगी आग, 70 से ज्यादा लोग फंसे थे, तीन घंटे के बाद पाया आग पर काबू

पलासिया स्थित इंडस्ट्री हाउस में बुधवार को चौथी मंजिल पर आग लग गई। आफिस में काम करने वाले लोग जान बचाकर सातवीं मंजिल पर भागे। फायर ब्रिगेड और एसडीईआरएफ ने वहां फंसे लोगों को निकाला। बिल्डिंग में 70 से अधिक लोग करीब तीन घंटे तक फंसे रहे। उन्हें निकालने के बाद एंबुलेंस से अस्पताल भेजा गया। इनके स्वजन भी बाहर आकर उनका इंतजार करते रहे। वे बार-बार फोन लगाकर उनसे संपर्क करने का प्रयास कर रहे थे।

तीन घंघंटे बाद आग पर काबू पाया

रेस्क्यू कर रहे पुलिसकर्मियों ने बताया कि आग इतनी भयानक थी कि वहां कुछ नजर ही नहीं आ रहा था। चारों तरफ धुआं था। घबराकर कई लोग पाइप के माध्यम से नीचे उतरते हुए नजर आए। आग लगने से एबी रोड पर जाम की स्थिति बनी रही। ट्रैफिक जवानों ने व्यवस्था संभाली और वाहनों को डायवर्ट किया। पुलिस कमिश्नर राकेश गुप्ता, कलेक्टर आशीष सिंह और निगमायुक्त हर्षिका सिंह भी पहुंचे। एयरपोर्ट से भी रेस्क्यू वाहन पहुंचा। जिसके बाद आग पर काबू पा लिया गया।

जानिए कैसे लगी वल्लभ भवन में अचानक लगी भीषण आग, कई अहम दस्तावेज जलकर राख

शनिवार को मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में शनिवार सुबह बड़ा हादसा हुआ। वल्लभ भवन के 1, 4, 5, 6 वीं मंजिल पर अचानक आग लग गई। बताया जा रहा है कि आग में कई महत्वपूर्व दस्तावेज जलकर खाक हो गए हैं। इमारत की तीसरी मंजिल में लगी आग ने कुछ ही देर में विकराल रूप ले लिया। फिलहाल 5 घंटे की मशक्कत के बाद आग पर काबू पा लिया गया है।

5 घंटे बाद सेना की मदद से पाया काबू

वल्लभ भवन में मध्य प्रदेश का सचिवालय है। मुख्यमंत्री समेत मंत्रियों के दफ्तर भी यहीं है। भवन के पांचवें फ्लोर पर मुख्यमंत्री का दफ़्तर है।फ़िलहाल आग लगने के कारणों का पता नहीं चल पाया है। आग बुझाने में लगे 3 दमकल कर्मी भी घायल हुए। बताया जा रहा है कि जहां आग लगी वहां राज्य के मंत्रियों के दफ्तर हैं।

5वीं मंजिल के सभी दस्तावेज जलें

5वीं मंजिल में रखे फर्नीचर और दस्तावेज पूरी तरह जलकर खाक हो गए है। SDERF, NDRF और सेना की टुकड़ी की मदद से आग पर काबू पाया गया। भोपाल के आसपास के जिलों से भी दमकल की टीमें बुलाई गई थीं। बता दें कि वल्लभ भवन प्रदेश शासन का सबसे अहम कार्यालय है, जिसमें मुख्यमंत्री समेत कई मंत्रियों के दफ्तर हैं। यहां सरकारी विभागों से जुड़े अहम दस्तावेज रखे हुए थे।

बताया जा रहा है कि आग में कई अहम दस्तावेज जलकर राख हो गए हैं। जोन-2 DCP श्रद्धा तिवारी ने बताया, “फोर्स तुरंत यहां पहुंच गई थी, जितने भी फायर ब्रिगेड हैं उनको बुला लिया गया। दूसरी और तीसरी मंजिल की आग पर काबू पा लिया गया। अभी आग के कारणों का पता नहीं चल पाया है।”