Wed. Apr 24th, 2024

प्रदेश के प्राइवेट स्कूलों पर लगातार लगाम लगा रही मोहन सरकार, CM बोले स्कूलों की नहीं चलेगी मनमानी

सीएम डॉ मोहन यादव (CM Dr Mohan Yadav) ने कहा कि प्रदेश में प्राइवेट स्कूलों द्वारा अभिवाकों पर विशेष दुकान से पुस्तकें और यूनिफॉर्म खरीदने पर कोई बाध्यता नहीं रहेगी। ऐसा करने वाले प्रदेश के स्कूलों पर कार्यवाही कि जाएगी।

Uniform और पुस्तकों के नाम पर लुट होगी बंद

सीएम ने कहा कि नए शिक्षण में सत्र किसी विशेष दुकान से पुस्तक और यूनिफॉर्म लेने की बाध्यता नहीं रहेगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश में हो रही लूट अब नहीं होने देंगे इसीलिए हमारी सरकार ने जिला प्रशासन को निर्देश दिए हैं। वे अपनी मर्जी की दुकान से कॉपी-किताब और गणवेश खरीद सकेंगे और किसी विशेष दुकान से इसे खरीदने की बाध्‍यता नहीं होगी। साथ ही उन्‍होंने अपने एक्‍स हैंडल पर निजी विद्यालयों में किताबों व गणवेश के नाम पर हो रही लूट को खत्म करने की बात कही है।

चुनावी रंग में रंगे CM YADAV बोले कांग्रेस ने कश्मीर को खून से रंगा, हमने 370 हटाकर कश्मीर को नई दिशा दी

मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव ने रामगंज में कार्यकर्ता सम्मेलन में कहा कि जो काम अंग्रेजों ने नही किया वो कांग्रेस ने किया हमको बाटने का, कांग्रेस के रीतिनीति के कारण ही कश्मीर में खून की नदियाँ बही हैं, मोदीजी ने 370 को हटाकर कश्मीर में विकास की गंगा बहा दी है।

Rajgarh: मप्र के सारंगपुर में आयोजित भाजपा के विधानसभा स्तरीय कार्यकर्ता सम्मेलन में एमपी के मुख्यमंत्री मोहन यादव ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कांग्रेस पर जमकर हमला बोला उन्होंने कहा कि स्वतंत्रता संग्राम के समय भाजपा नहीं थी, सिर्फ कांग्रेस थी लेकिन उन्होंने देश को बांटने का काम किया है। कांग्रेस की नीति रीति के चलते ही हम सभी अपने भारत के मुकुट कश्मीर से अलग रहे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी ने 370 को हटाकर वहाँ पर अलगाव को खत्म किया और कश्मीर के युवाओं को नई दिशा और दशा दी है।

PoK की चुनावी एंट्री

सीएम ने आखिर पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर की एंट्री करवा ही दी उन्होंने कहा कि कश्मीर में हो रहे विकास को पीओके के लोग भी बोल रहे हैं कि काश हमे भी नरेंद्र मोदी जी मिला लें।

लिखेंगी नई विकास की गाथा

मुख्यमंत्री ने अपने कार्यकाल की उपलब्धियां बताते हुए कहा कि हमें सरकार में आते ही वर्षों से लड़ रहे हुकुमचंद मिल के कर्मचारियों को उनके सम्मान की राशि दी। उन्होने सिंचाई परियोजना के बारे में बताते हुए कहा कि कालीसिंध नेवज चंबल लिंक परियोजना 35 हजार करोड की लागत से स्वीकृत हुई है जिससें जिलेवासियों को लाभ मिलेगा। हमारे द्वारा तीन विश्वविद्यालय खोले गए है।
उन्होंने चुटकी लेते हुए कहा कि कांग्रेस के ज़माने में हेलीकॉप्टर बड़े घरों के दामादों के लिए होते थे पर हमारी सरकार ने एयर एम्बुलेंस के द्वारा गरीबों को सेवा दी है। मप्र सरकार ने हवाई मार्ग के जरिए प्रदेश के जनता को तीर्थ दर्शन यात्रा शुरू की है।

गोवंश सुरक्षा को समर्पित किया है यह साल- डॉ मोहन

गोवंश की सुरक्षा को ध्यान में रखकर इस गुड़ी पड़वा से अगले गुड़ी पड़वा तक गोवंश साल मनाने का निर्णय लिया है हमारी सरकार ने। गायों के लिए गौशाला बनाकर के उनकी राशि भी डबल कर दी गई और अब प्रति गाय 20 रुपये के स्थान पर हम 40 रुपये कर दी गई है।

उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने वो काम किया जो अंग्रेज भी ना कर पाए उन्होंने हमें 70 साल तक हमारे अधिकारों से वंचित रखा, पूर्वी राज्यों को विकास की मुख्य धारा से जुड़ने ही नही दिया सिर्फ कांग्रेस ने देश को बाँट कर रखा।

नाथ तो सांसद ‘बनते’ रहे पर युवाओं को सांसद बनने का मौका नहीं दिया: मोहन यादव

मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव, प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णु दत्त शर्मा बुधवार को नामांकन के अंतिम दिन जबलपुर, छिंदवाड़ा व बालाघाट लोकसभा प्रत्याशियों का नामांकन कराने पहुंचे थे। छिंदवाड़ा में उनके साथ मंत्री कैलाश विजयवर्गीय, प्रह्लाद पटेल व अन्य नेता शामिल हुए। सभी नेताओं के साथ प्रत्याशी विवेक बंटी साहू ने कलेक्ट्रेट कार्यालय पहुंचकर अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। इस दौरान वह कॉन्ग्रेस पर जमकर बरसे। उन्होंने कमलनाथ पर कई तीखे कटाक्ष किए।

छिंदवाड़ा में जो आए, वहीं कुंडली मार कर बैठ गए

उन्होंने कहा कि छिंदवाड़ा में सांसद तो बनते रहे, लेकिन कभी छिंदवाड़ा के युवाओं को सांसद बनने का मौका नहीं मिला। छिंदवाड़ा में जो आए, वहीं कुंडली मार कर ऐसे बैठ गए कि उठने का नाम ही नहीं ले रहे हैं। उनमें अब तो कोई दम ही नहीं है, वैसे ही बे-दम हैं। मुख्यमंत्री ने कटाक्ष करते हुए कहा कि एक भाई साहब कह रहे थे कि छिंदवाड़ा कांग्रेस का गढ़ है, ये गढ़ नहीं यहां सब गड़बड़ है, कोई बचा ही नहीं है।

13 महीने की सरकार उनकी थी और 3 महीने की सरकार हमारी है

उन्होंने कहा कि ये कहते हैं, समय नहीं मिला। 13 महीने की सरकार उनकी थी और 3 महीने की सरकार हमारी है। 3 महीने की सरकार में हमने हेलीकॉप्टर की सर्विस ली तो उसे घूमने के लिए नहीं। हमने कहा, प्रदेश के अंदर किसी भी गरीब आदमी का बच्चा, मां, बूढ़ा, बुजुर्ग बीमार है। उस हॉस्पिटल में अच्छे इलाज का इंतजाम नहीं है तो उसके लिए कलेक्टर से संपर्क करके डॉक्टर के माध्यम से बड़े से बड़े अस्पताल में ले जाने के लिए एयर एंबुलेंस के लिए हेलीकॉप्टर की सुविधा हमने अपनी तरफ से कराई। हमने एक और निर्णय किया। एंबुलेंस के लिए 108 मिलाओ तो एंबुलेंस दौड़ी-दौड़ी आती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि गो-शाला के लिए हमारी सरकार ने निर्णय किया कि कोई गाय सड़क पर तड़पते हुए पड़ी नहीं रहेगी। उसके लिए एंबुलेंस लगाएं और जो गो-शालाए चल रही है उनका अनुदान डबल कर दिया। पहले हम प्रति गाय के रूप में 20 रुपए देते थे। अब हमने उसे बढ़ाकर 40 रुपए कर दिए हैं।

सीएम मोहन यादव ने शिवराज सिंह चौहान को लेकर कही ये बड़ी बात, कहा – उनसे कुर्सी छीनी नहीं गई बल्कि

मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के सीएम डॉ मोहन यादव ने पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) को लेकर एक बड़ा बयान दिया है, डॉ मोहन दिल्ली प्रवास के दौरान मीडिया कॉन्क्लेव में पहुँचे थे। पत्रकार के सवाल का जवाब देते हुए डॉ मोहन ने कहा कि शिवराज सिंह जी से मैंने मुख्यमंत्री की कुर्सी छीनी नहीं बल्कि उन्होंने खुद दी है।

शिवराज जी मेरे मार्गदर्शक हैं

हमारी पार्टी वंश, परिवारवाद, भाई-भतीजावाद से दूर कार्यकर्ता हितैषी पार्टी है। हमारी पार्टी की ये विशेषता है कि अगर आप पैरवी करेंगे तो आपका नंबर कभी नहीं आएगा। हमारी पार्टी सब कुछ देखती और जानती है। पार्टी एक परिवार की तरह काम करती है। शिवराज सिंह चौहान मेरा मार्गदर्शन करते हैं, मैं उनसे मिलता रहता हूँ।

मुझे विश्वास ही नहीं हुआ था

सीएम मोहन यादव ने कहा बैठक के दौरान में पछली पंक्ति में अपने विधायक मित्रो के साथ बैठकर बात कर रहा था तभी हमारे पर्यवेक्षक मनहोर जी ने अपनी बात रखी, उसके बाद शिवराज सिंह जी ने घोषणा की हमारे विधायक दल के नेता डॉ मोहन यादव होगें, मैं 2 मिनट तक विश्वास ही नहीं कर पाया। कभी नहीं सोचा थ कि पार्टी मेरे जैसे छोटे कार्यकर्ता को इतना बड़ा दायित्व देगी।

क्या आपको बनाकर बीजेपी UP और Bihar में यादवों को साध रही है

इस प्रश्न का जवाब देते हुए कहा कि उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी जाति, वंश या परंपरा नहीं देखती। वो एक किसान परिवार से आते हैं। केवल बीजेपी ही एक ऐसी पार्टी है जो एक कार्यकर्ता को मौका दे सकती है।

MP के सीएम यादव का दावा राहुल भारत जोड़ो नहीं पार्टी तोड़ो यात्रा पर निकले, मप्र में 50000 कार्यकर्ता छोड़ सकते हैं कांग्रेस

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री मोहन यादव का चुनाव घोषणा के बाद एक बड़ा दावा किया है, उन्होंने कहा कि कांग्रेस में पार्टी छोड़ो की भगदड़ मच गई है। उन्होने कंहा कि पार्टी के लोग लगातार कांग्रेस छोड़ रहे हैं और कांग्रेस के तकरीबन 50000 कार्यकर्ता अलग-अलग क्षेत्रों से पार्टी छोड़ने के लिए तैयार हैं।

भोपाल। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री मोहन यादव चुनावी अंदाज में नज़र आने लगे हैं, कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि राहुल जी भारत जोड़ो यात्रा पर नहीं कांग्रेस छोड़ो यात्रा पर निकले हैं। उन्होने कंहा कि पार्टी के लोग लगातार कांग्रेस छोड़ रहे हैं और कांग्रेस के तकरीबन 50000 कार्यकर्ता अलग-अलग क्षेत्रों से पार्टी छोड़ सकते हैं। उन्होने कंहा कि आने वाले समय में कांग्रेस की स्थिति क्या होगी, इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है, क्योंकि कांग्रेस छोड़ो अभियान चल पड़ा है।

शीर्ष नेताओं की क्षमता पर उठाए सवाल

मुख्यमंत्री मोहन यादव ने राहुल गांधी पर हमला बोलते हुए कहा कि कांग्रेस में नेतृत्व की कंमी है। कांग्रेस के वरिष्ठ जनों को जो सम्मान मिलना चाहिए वह नहीं मिल रहा है। कांग्रेस में पार्टी के लोगो का सम्मान नही है यही वजह है कि लोगो का मोह भंग हो रहा है।

सभी 29 सिंटे जीतकर मोदी जी को मजबूत करेंगे

मुख्यमंत्री मोहन यादव ने कहा इस बार मध्य प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी पूरा परचम लहराते हुए 29 की 29 सीटों पर जीत दर्ज करेंगे। उन्होंने कहा कि अच्छे कामों से मोदी जी का देशवासियों पर भरोसा कायम है। 2024 के चुनाव नतीजा भी मोदी जी के साथ हैं और वें एक बार फिर जीत रहे।

वित्तीय संकट को लेकर CM मोहन यादव ने कहा चिंता ना करे कोई योजना बन्द नहीं होगी, 31 मार्च तक लक्ष्यों को पूरा करें

क्या मध्यप्रदेश के ऊपर वित्तीय संकट छा रहा है, मंत्रियों को निर्देश देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कोई संकट नहीं आप सभी लक्ष्यों को 31 मार्च तक पूरा करें

मध्यप्रदेश में वित्तीय संकट को लेकर विपक्ष लगातार हमलावर हो रहा था इसी बीच मुख्यमंत्री ने कैबिनेट की बैठक से पहले कहा कि हमारे पास किसी तरह का को संकट नहीं है और ना ही हमने कोई योजना बन्द की है। 31 मार्च तक सभी विभाग अपने लक्ष्यों को पूरा करें।

मोहन सरकार के लगभग 90 दिन पूरे

भाजपा सरकार ने लगभग 90 दिनों का कार्यकाल पूरा किया है, सीएम ने अपने कार्यकाल की उप्लब्धधियों को बताया। उन्होंने कहा कि मार्च में पूंजीगत व्यय में कुछ कमी दिखाई दे रही है, जिसे 31 मार्च तक पूरा करें। जल संसाधन, एनवीडीए, लोक निर्माण, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी, नगरीय विकास एवं आवास तथा पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग लक्ष्य की प्राप्ति करें।

धार्मिक पर्यटन और अंतरराज्य हवाई सेवा को देंगे बढ़ावा

धार्मिक पर्यटन को सुविधाजनक बनाने और प्रोत्साहित करने के लिए हवाई सेवा शुरू की जा रही है। प्रारंभिक रूप से इंदौर को केंद्र बनाते हुए उज्जैन तथा ओंकारेश्वर के लिए हवाई सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी। इससे धार्मिक पर्यटन बढ़ने के साथ-साथ बड़े शहरों से कनेक्टिविटी भी बढ़ेगी।
अंतर राज्य हवाई सुविधा उपलब्ध कराने के लिए प्रदेश में हवाई सेवा आरंभ की जा रही है। ग्वालियर और जबलपुर के लिए शुरू की गई इस सेवा का विस्तार सागर, रीवा, रतलाम तथा अन्य स्थानों पर किया जाएगा। जहां-जहां हवाई पट्टी और यात्रियों की उपलब्धता होगी, वहां यह सुविधा शीघ्र आरंभ होगी।

अब हेलीकॉप्टर से अस्पताल पहुंचेंगे मरीज, प्रदेश के इन 6 शहरों में मुख्यमंत्री करेगें एयर एम्बुलेंस की शुरुआत

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने लोकसभा चुनाव से पहले जनता को एक सौगात देने जा रहे है। प्रदेश में गुरुवार से धार्मिक पर्यटन के लिए एयर टैक्सी सेवा की शुरुआत हो रही है। इसका उद्देश्य प्रदेश के अंदर पर्यटन स्थलों को हवाई सेवा से जोड़ना है। मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव स्टेट हैंगर भोपाल से सेवा का शुभारंभ करेंगे।

6 शहरों में होगी शुरुआत

फलायओला कंपनी के तीन एयर क्रॉफ्ट का वॉटर एयर कैनन से स्वागत किया जाएगा। इसमें दो 6-6 सीटर और एक 8 सीटर एयर कॉफ्ट है। इसके अलावा एक अन्य कंपनी का हेलीकॉप्टर उपलब्ध रहेगा। जानकारी के अनुसार हवाई टैक्सी का न्यूनतम किराया तीन हजार रुपए तक रह सकता है। हालांकि यह दूरी के हिसाब से तय होगा। इसको लेकर अभी अंतिम निर्णय होना बाकी है। इन शहरों को जोड़ा जाएगा- सेवा की शुरुआत में कंपनी ने अपना रूट प्लान तैयार किया है। इसमें कंपनी का दिन के अनुसार रूट प्लान बदलता रहेगा। प्रारंभिक चरण में भोपाल, जबलपुर, रीवा, खजुराहो, उज्जैन और पमचढ़ी को धार्मिक पर्यटन हवाई सेवा से जोड़ा जाएगा। इसका दायरा बढ़ा कर आने वाले समय में पर्यटकों की मांग के अनुसार अन्य शहरों को जोड़ा जाएगा।

सप्ताह में चार दिन सेवा का संचालन अनिवार्य

सरकार पर्यटन स्थलों पर प्रदेश के अंदर निजी ऑपरेटरों से एयर टैक्सी सेवा शुरू कर रही है। इस सेवा में ऑपरेटर को सेक्टर किराया निर्धारण करने की छूट रहेगी। रूट का चयन एवं रूट परिवर्तन करने से पहले सेवा प्रदाता को निगम को सूचित करना होगा। सप्ताह में चार दिन सेवा का संचालन आवश्यक रूप से करना होगा। इसके लिए सरकार निजी ऑपरेटर को वीजीएफ अनुदान के रूप में 1.20 लाख रुपए देंगी। 150 घंटे प्रतिमाह संचालन न होने पर निर्धारित दर से वीजीएफ में कटौती भी होगी।

बुकिंग एप से हो सकेगी

एयर टैक्सी सेवा का लाभ लेने के लिए कंपनी की तरफ से एप उपलब्ध कराया जाएगा। इस एप पर रूट से लेकर एयर टैक्सी के रूट के अनुसार किराया, टाइमिंग से लेकर पूरी जानकारी उपलब्ध रहेंगी। इसी एप से एयर टैक्सी सेवा की बुकिंग भी सुविधा रहेंगी। मुख्यमंत्री गुरुवार को यह एप भी लांच कर सकते है।

MP में किसानों को मोहन सरकार का तोहफ़ा, फ्री एयर एम्बुलेंस सहित कई योजनाओं को स्वकृति मिली

गेहूँ पर 125 रुपये प्रति क्विंटल बोनस, फ्री एयर एम्बुलेंस, बिजली के लिए निजी एजेंसी से अनुबंध और लोकायुक्त नियुक्ति के प्रस्ताव का सोमवार को डॉ मोहन यादव की अध्यक्षता में कैबिनेट ने अनुसमर्थन किया।

Bhopal: लोकसभा चुनावों की आदर्श आचार संहिता कभी भी लागू हो सकती है, इसे देखते हुए सोमवार को हुई कैबिनेट बैठक में कई अहम निर्णय लिए गए। सीएम डॉ मोहन यादव (Dr Mohan Yadav) की अध्यक्षता में हुई बैठक में प्रेदश के किसानों को बड़ा उपहार दिया है सरकार द्वारा दिए जा रहे समर्थन मूल्य पर 125 रुपये प्रति क्विंटल बोनस देने की मंजूरी दी है।

अब किसान को मिलेगा 2400 प्रति क्विंटल

कैबिनेट मंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने बताया कि सरकार ने किसानों को गेहूं पर 2275 रुपये समर्थन मूल्य के साथ ही प्रति क्विंटल 125 रुपये बोनस देने का निर्णय लिया है। यानी राज्य सरकार 2400 रुपये प्रति क्विंटल गेहूं खरीदेगी। साथ ही किसानों को खाद और उर्वरक की जरूरत को ध्यान में रखकर फिर से मध्य प्रदेश राज्य सहकारी विपणन संघ को नोडल एजेंसी घोषित किया है, जिससे खाद वितरण प्रणाली में तेजी आएगी और किसान खाद के लिए परेशान नहीं होगा।

पीएम श्री एयर एम्बुलेंस सेवा को मिली स्वकृति

कैबिनेट ने पीएम श्री एयर एंबुलेंस सेवा को भी स्वीकृति दी है। इसमें एक हेलीकॉप्टर और हवाई जहाज होगा। इसका लाभ आयुष्मान योजना के कार्डधारी मरीज को सरकारी अस्पताल में भर्ती कराने के लिए नि:शुल्क उपलब्ध कराया जाएगा। यदि कोई मरीज निजी अस्पताल में भर्ती होता है तो उसके लिए शुल्क रखा जाएगा। इसकी सुविधा उपलब्ध कराने का अधिकार कलेक्टर और सीएमएचओ को दिया जाएगा। साथ ही जिला अस्पताल में शव वाहन की सुविधा को फ्री कर दिया गया है।

अतिपिछड़ी जनजातियों को सोलर पैनल के जरिये मिलेगी बिजली

सूबे के 3 अति पिछड़ी जन जातियां बैगा, सहरिया और भारिया को सरकार सोलर पैनल के जरिए बिजली मुहैया करवाएगी, अपने जनजाति आदिवासी महाभियान के तहत स्वकृति दी है।

आईआईटी के सहयोग से हाई टेक करेंगे कॉलेज

आईआईटी इंदौर ने देश के पहले डीप-टेक रिसर्च एंड डिस्कवरी सेंटर का शुभारंभ उज्जैन में किया है। इसके निर्माण पर करीब 237 करोड़ रुपये की लागत आएगी। इसके अलावा सरकार ने आईआईटी इंदौर से प्रदेश के 6 इंजीनियरिंग कॉलेजों को हाईटेक करने मार्गदर्शन प्रदान करने अनुबंध किया है।

प्रदेश के नए लोकायुक्त न्यायधीश सत्येंद्र सिंह के नियुक्ति को अनुसमर्थन दिया है साथ ही प्रदेश में 13 नर्सिंग कॉलेज, बिजली की भविष्य की आवश्यकता को देखते हुए 800 मेगावॉट बिजली के लिए निजी एजेंसी से अनुबंध की स्वीकृति प्रदान की है।

मप्र सीएम मोहन यादव ने पीएम मोदी की तारीफ में बांधे पुल, कहा मोदी सरकार के अलावा कोई और 370 धारा नहीं हटा पाता

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने कहा कि अगर भाजपा की सरकार नहीं होती तो जम्मू-कश्मीर से धारा 370 को हटाना मुमकिन नहीं था। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार से पहले जम्मू-कश्मीर में 40,000 लोगों की हत्या हुई थी। उन्होंने देश की सुरक्षा के मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में समर्थन जताया।

कोई और यह कार्य नहीं कर सकता था

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने कहा कि भाजपा की सरकार नहीं होती तो जम्मू कश्मीर से कोई धारा-370 नहीं हटा सकता था। भाजपा सरकार से पहले जम्मू-कश्मीर में 40 हजार लोगों की कठोरतापूर्वक मौत हुई। उन्होंने कहा कि आज प्रधानमंत्री मोदी जी के नेतृत्व में देश सुरक्षित है। मोहन यादव ने ये बातें गुरुग्राम स्थित पार्टी कार्यालय गुरु कमल में क्लस्टर की बैठक को संबोधित करते हुए। इससे पहले डॉ. यादव का कार्यालय पहुंचने पर हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने स्वागत किया।

पार्टी के हित में जुड़े

मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने बताया कि भाजपा सनातन संस्कृति को मानने वाली पार्टी है और प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में भाजपा ने भगवान राम और कृष्ण की संस्कृति को आगे बढ़ाया है। उन्होंने बताया कि उज्जैन, बनारस और अयोध्या में पुनरुत्थान हुआ है और भगवान श्रीराम का मंदिर बना है। डॉ. यादव ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में पूरा देश राममय हो गया है। उन्होंने सीएम के चुनावों की घोषणा करने की संभावना बताई और कहा कि सभी कार्यकर्ताओं को पार्टी हित में जुटना होगा। कार्यकर्ताओं को सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने का मौका मिलेगा। उन्होंने कहा कि भाजपा के सदस्यों को 400 पार के लक्ष्य को पूरा करने में सहायता करनी होगी। भाजपा में काम करने वाले कार्यकर्ताओं को मौका मिलेगा।

अब नंबर मथुरा का है

सीएम ने लोकसभा भिमानी महेंद्रगढ़ में कार्यकर्ता सम्मेलन को संबोधित किया। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी भारतीय सनातन संस्कृति की रक्षा कर रहे हैं। गरीबों के घर में सुख का सूरज निकले, इसलिए प्रधानमंत्री जी निशुल्क अनाज दे रहे हैं। पक्के घर के लिए काम हो रहा है, गैस कनेक्शन दिया जा रहा है। चुनाव में हमें इस पर ध्यान देना होगा। अयोध्या में भगवान श्रीराम, उज्जैन में महाकाल, बनारस में काशी विश्वनाथ, और अब मथुरा का समय है। हम सभी कार्यकर्ता मुकाम पर पहुंचने के लिए मेहनत करें।

सिंहस्थ 2028 की तारीख हुई तय, शासन – प्रशासन ने शुरू की तैयारियां

उज्जैन बाबा महाकाल की नगरी में हर 12 साल में लगने वाला अगला कुंभ 2028 में लगना है। इसके लिए सरकार और प्रशासन ने पूरी कार्य योजना बना ली गई है। कुंभ की तारीखों का ऐलान भी हो गया है। इसके बाद सीएम मोहन यादव ने प्लानिंग की समीक्षा बैठक ली।

सिंहस्थ 2028 में 14 करोड़ श्रद्धालुओं के आने का आकलन

मध्य प्रदेश के सीएम मोहन यादव (CM Mohan Yadav) ने सिंहस्थ 2028 की तैयारियों को लेकर बैठक की। सिंहस्थ 2028 (Simhatha 2028) को लेकर उज्जैन से राजधानी तक तैयारियां तेज हो गई हैं। अभी तक कार्ययोजना में 18 हजार 840 करोड़ की लागत से 523 कार्य प्रस्तावित किए जा चुके हैं। इनमें अधिकांश स्थायी प्रवृत्ति के कार्य हैं जिनका लाभ सिंहस्थ के बाद भी मिलेगा। प्रशासन इस बार सिंहस्थ 2028 में 14 करोड़ श्रद्धालुओं के आने का आकलन कर रहा है। यह आंकड़ा सिंहस्थ-16 से लगभग दो गुना है।

मुख्यमत्री ने दिए अहम निर्देश

मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने मंगलवार को भोपाल में सिंहस्थ-2028 (Simhastha-2028) के आयोजन को लेकर अधिकारियों के साथ बैठक की। उन्होंने कहा, सिंहस्थ 2028 के लिए पशुपतिनाथ मंदसौर, खंडवा स्थित दादा धूनी वाले, भादवामाता, नलखेड़ा, ओंकारेश्वर आदि तक सुगम आवागमन और उनके अधोसंरचना सुधार को सम्मिलित करते हुए उज्जैन-इंदौर संभाग को समग्र धार्मिक-आध्यात्मिक सर्किट के रूप में विकसित किया जाए। और उन्होंने निर्देश दिए कि शिप्रा के घाटों का विस्तार और पर्याप्त पार्किंग व्यवस्था की जाए।

आगंतुकों की संख्या का अनुमान लगाकर उज्जैन पहुंचने वाले सभी मार्गों पर मूलभूत सुविधाओं सहित गेस्ट हाउस विकसित करें। उज्जैन से लगे ग्रामीण क्षेत्र में होमस्टे व्यवस्था को भी प्रोत्साहित किया जाए। बैठक में उज्जैन से संभागायुक्त डॉ. संजय गोयल, कलेक्टर नीरज कुमार सिंह व अन्य अधिकारी उपस्थित थे।अफसरों ने बताया कि आगामी सिंहस्थ में 9 अप्रैल से 8 मई की अवधि में 3 शाही स्नान और 7 पर्व स्नान प्रस्तावित हैं। सिंहस्थ में 14 करोड़ श्रद्धालुओं के आने का अनुमान है।