Sat. Jun 15th, 2024

खतरे में कांग्रेस MLA आरिफ मसूद की विधायकी ! नामांकन फॉर्म में मामले में कोर्ट ने 14 अप्रैल तक मसूद से जवाब मांगा

कांग्रेस MLA आरिफ मसूद की विधायकी खतरे में आ सकती है। क्योंकि उनके खिलाफ दाखिल की गई याचिका को जबलपुर हाई कोर्ट में स्वीकार कर लिया गया है। दरअसल बीजेपी प्रत्याशी ने उन पर विधानसभा चुनाव में सही संपत्ती जानकारी नहीं देने के मामले में एक याचिका दायर की थी। याचिका को जबलपुर हाई कोर्ट ने स्वीकार कर ली है।

बीजेपी प्रत्याशी ने दायर की थी याचिका

भोपाल मध्य विधानसभा सीट से बीजेपी प्रत्याशी रहे ध्रुव नारायण सिंह ने जबलपुर हाई कोर्ट में यह याचिका दायर की थी कि कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद ने मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव के दौरान नामांकन फॉर्म में लोन संबंधी सही जानकारी नहीं दी है। ध्रुव नारायण सिंह के मुताबिक आरिफ मसूद ने खुद की और अपनी पत्नी के नाम पर करीब 65 लाख रुपये का लोन लिया है जिसे छुपाया गया है। इस मामले की याचिका को जबलपुर हाई कोर्ट ने स्वीकार कर लिया है।

14 अप्रैल तक कोर्ट ने आरिफ मसूद से जवाब मांगा

अब विधायक आरिफ मसूद से हाई कोर्ट ने 14 अप्रैल 2024 तक जवाब मांगा है। ध्रुव नारायण सिंह के वकील अजय मिश्रा के अनुसार मसूद और उनकी पत्नी रुबीना मसूद ने बैंक से करीब 65 लाख 38 हजार रुपये का लोन लिया था.जिसमें से आरिफ ने 34 लाख 10 हजार और रुबीना मसूद ने 31 लाख 28 हजार रुपये के लोन लेने की जानकारी नामांकन फॉर्म में नहीं दी थी। बता दें कि बीते कुछ महीनों पहले हुए विधानसभा चुनाव में कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद ने 15 हजार वोटों से जीत हासिल की थी।

भाजपा विधायक ने घर छोड़ कर अपनाया वानप्रस्थ आश्रम, बोले मेहनत की कमाई मेरे स्वागत में ना लगाइए

भोपाल। अपने बयानों को लेकर विदिशा जिले के सिरोंज क्षेत्र के भाजपा विधायक उमाकांत शर्मा का वीडियो इंटरनेट पर इन दिनों खूब सुर्खियां बटोर रहा है। वीडियो में उमाकांत शर्मा बोल रहे हैं की मैने घर छोड़ कर वानप्रस्थ आश्रम अपना लिया है।अपना स्वागत करवाना भी छोड़ दिया है। धोती कुर्ते के अलावा कोई दूसरा वस्त्र नही पहनूंगा। और क्रिकेट मैच देखने भी नही जाऊंगा क्योंकि जो बच्चे क्रिकेट खेल रहे है वह टेनिस बॉल से खेलते है। इससे वे अपने भविष्य में कभी भी अच्छे खिलाड़ी नहीं बन सकते।

विधायक उमाकांत शर्मा अक्सर लगाते हैं जनता दरबार

दरअसल गणेश की अथाई के सामने अपने निवास के बाहर चाओड़ी पर विधायक उमाकांत शर्मा अक्सर जनता दरबार लगाते हैं। यहां वे सभी की समस्या को सुनते है, ये वीडियो भी वहीं का बताया जा रहा है।वीडियो में उमाकांत शर्मा यह भी कह रहे है की मैं किसी के यहां शादी में भी नहीं जाऊंगा क्योंकि एक ही दिन में 80 कार्ड आते है ऐसे में किसी के यहां पहुंच पाता हूं किसी के यहां नहीं जिसके कारण लोगो को भी बुरा लगता है।

मेहनत की कमाई सिर्फ मेरे स्वागत में नहीं लगाइए

वीडियो में उमाकांत शर्मा यह संकल्प लेते हुए नजर आ रहे है। जिसमे उन्होंने कहा है की मैंने अपना स्वागत करवाना और पैर पड़वाना बंद कर दिया है। लेकिन फिर भी लोग तौलिया, रूमाल और फूल-मालाओं पर जबरन रुपए खर्च कर रहे हैं।