Sat. Jun 15th, 2024

कौन है वो जिनके सामने एमपी में नहीं टिक पाए कांग्रेस के बड़े से बड़े राज्यसभा के दावेदार

भोपाल | भाजपा ने जैसे ही अपने चार नामों की घोषणा की तो अब लोगो की नजरे कांग्रेस की ओर थीं। कुछ ही घंटो बाद लोगो के इंतजार को खत्म करते हुए कांग्रेस ने अपने पार्टी के नाम की भी घोषणा की। कांग्रेस ने अशोक सिंह को उम्मीदवार के लिए चुना हैं। इस से पहले ऐसा सुन ने में आ रहा था की कांग्रेस अपनी तरफ से कमलनाथ को उच्च सदन भेज सकती है। हालांकि कमलनाथ का कहना था की उन्होंने कभी राज्यसभा के बारे में विचार नहीं किया।

अशोक सिंह को मैदान में उतारा

आपको बता दें की अशोक सिंह वर्तमान में कांग्रेस पार्टी के कोषाध्यक्ष के रूप में कार्यरत हैं। वह तीन बार चुनाव भी लड़ चुके हैं। बीजेपी ने पहले अपने चार उम्मीदवारों के नाम की घोषणा कर दी है, माया नारोलिया, डॉ. एल मुरुगन, उमेश नाथ महाराज और बंसीलाल गुर्जर को अपना राज्यसभा उम्मीदवार बनाया। उच्च सदन की सीट किसे मिलेगी, इसे लेकर राज्य कांग्रेस पार्टी में काफी उम्मीदें थीं।

अपेक्स बैंक के अध्यक्ष भी रहे

दरअसल, कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष जीतू पटवारी ने मंगलवार को सोनिया गांधी को मध्य प्रदेश से राज्यसभा सीट की पेशकश की थी। अशोक सिंह का बैकग्राउंड कांग्रेसी ही रहा है। इससे पहले भी उन्हें कमलनाथ की सरकार में अपेक्स बैंक का अध्यक्ष बनाया गया था।

क्या कमलनाथ होंगे बीजेपी में शामिल? कमलनाथ ने अपने पोस्ट से क्या दिए संकेत?

मध्यप्रदेश में लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को झटके पर झटके मिल रहे है। दरअसल प्रदेश के कई नेता कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हो रहे हैं। इसी कड़ी में एक बड़ा नाम कांग्रेस के बड़े नेता कमलनाथ का भी आ रहा था। लेकिन कमलनाथ ने कांग्रेस में ही टिके रहने का संकेत दे दिया है।

कमलनाथ ने एक्स पर शेयर की पोस्ट

सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर पोस्ट कांग्रेस की तारीफ करते हुए लिखा, ”कांग्रेस की विचारधारा सत्य, धर्म और न्याय का आदर्श है। कांग्रेस की विचारधारा में सभी धर्मों, जातियों, क्षेत्रों, भाषाओं के लिए समान स्थान और सम्मान है।” और देश के विचार।

कांग्रेस पार्टी के 138 साल के इतिहास में अधिकांश समय संघर्ष और सेवा से गुजरा, आज जब देश में विपक्ष को कमजोर करने और लोकतंत्र पर हमला करने की कोशिश की जा रही है तो सिर्फ कांग्रेस पार्टी और उसके आदर्श तानाशाही का सामना करेंगे और देश को दुनिया का सबसे सुंदर और शक्तिशाली लोकतंत्र बनाएंगे। साथ ही साथ इन चर्चाओं के बारे में दिग्विजय सिंह ने चौंकाने वाला बयान भी दिया है।

दिग्विजय सिंह ने क्या कहा?

इस तरह की चर्चाओ पर दिग्विजय सिंह का भी बयान आया है। पटाखा फैक्ट्री में विस्फोट के बाद पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने घटनास्थल का दौरा किया। उस वक्त पत्रकारों ने उनसे कमलनाथ के बीजेपी में शामिल होने को लेकर सवाल पूछा था। जवाब में दिग्विजय सिंह ने कहा, ”कमलनाथ के बीजेपी में शामिल होने और राज्यसभा सांसद बनने के सवाल पर दिग्विजय सिंह ने कहा कि कमल नाथ जी पार्टी के वरिष्ठ नेता हैं, ये सब गोदी मीडिया चलाता है।”

“मध्य प्रदेश बीजेपी में कमल नाथ जैसे नेताओं के लिए दरवाजे बंद” : कैलाश विजयवर्गीय

कमल नाथ के बीजेपी में शामिल होने को लेकर बीजेपी नेता और मंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने भी चौंकाने वाला बयान दिया है। मध्य प्रदेश सरकार के नगरीय प्रशासन मंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने कहा- “मध्य प्रदेश बीजेपी में कमल नाथ जैसे नेताओं के लिए दरवाजे बंद हैं, दिल्ली कुछ सोचे तो हम कुछ नहीं कह सकते।” मध्य प्रदेश में हमने तय कर लिया है कि हम कमल नाथ को बीजेपी में नहीं लेंगे.