Sat. Jun 15th, 2024

नेवी के 7 पूर्व अफसर लौटने पर कमांडर पूर्णेद तिवारी की बहन ने बोला……कतर से लौटेगा मेरा भाई

इंडियन नेवी के 8 अफसरों में से 7 की हो गई है इंडिया में वापसी, और अभी भी ट्रैवल बैन की वजह से कमांडर पूर्णेद तिवारी खाड़ी देश के कतर में बंदी हैं। इन सभी कमांडर को जासूसी के आरोप में फांसी की सजा सुना दी गई थी, हालांकि पीएम नरेन्द्र मोदी के हस्तक्षेप के कारण इन सभी को रिहा कर दिया गया, लेकिन इनमें से अभी भी एक भारत नही पहुंच पाए हैं। यह सारी जानकारी पूर्णेद तिवारी की बहन से पता लगी हैं।

बहन ने पीएम का किया शुक्रियाअदा

कमांडर पूर्णेद तिवारी की बहन डॉ.मीतू तिवारी ने 7 अफसरों की वतन वापसी पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी को तहे दिल से शुक्रिया अदा किया हैं। साथ ही उन्होंने उम्मीद भी जताई है की वे अपने भाई पूर्णेद से भी जल्द ही मिलेंगी।इन सभी अफसरों को कतर की सरकार ने करीब ड़ेढ साल तक जेल में बंदी बनाकर रखा था। इन सभी के ऊपर जासूसी का आरोप था।

डॉ मीतू तिवारी ने आठों अफसरों के जेल से छूटने की खुशी में मीडिया से बात की, उन्होंने कहा की सभी आठ अधिकारियों को जेल से रिहा कर दिया गया है, और उनमें से 7 की वतन वापसी भी हो गई हैं, जबकी उनके भाई कमांडर पूर्णेद तिवारी पर ट्रैवल बैन के कारण अभी तक अपने वतन वापस नहीं आ पाए हैं।

7 अफसरों की हुई वतन वापसी

डॉ. मीतू भार्गव ने बताया है कि उनके प्रयासों की वजह से अब तक 7 अफसरों की वतन में वापसी हो चुकी है। उन्होंने ये भी बोला है की अभी मेरे भाई की वापसी नहीं हुई है लेकिन उम्मीद है की मैं और मेरा परिवार उनसे भी जल्द ही मिलेगा। खुशी तो इस बात की है की सभी अफसरों को रिहा कर दिया गया है और अब उनपर कोई चार्ज नहीं है।