Wed. Apr 24th, 2024

उज्जैन में वैदिक घड़ी का पीएम मोदी ने वर्चुअल जुड़कर किया उद्घाटन, कहा – हमारी सरकार विकास और विरासत साथ लेकर चलती है

भोपाल(Bhopal): प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुरुवार को एमपी को बड़ी सौगात दी है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मध्य प्रदेश को 17,000 करोड़ रुपए की विकास परियोजनाओं की सौगात दी। पीएम मोदी से साइबर तहसील के अलावा उज्जैन में विक्रमादित्य वैदिक घड़ी का भी लोकार्पण किया।

सरकार विरासत और विकास को साथ लेकर चलती हैं

कार्यक्रम में वर्चुअल माध्यम से जुड़े पीएम मोदी ने कहा कि हमारी सरकार विरासत और विकास को कैसे एक साथ लेकर चलती है। इसके अलावा उन्होंने कहा कि बाबा महाकाल की नगरी कभी पूरी दुनिया के लिए काल गणना की केंद्र थी। लेकिन इसके महत्त्व को भुला दिया गया था, इसीलिए हमारी सरकार ने वैदिक घड़ी को पुनः स्थापित किया है जो अब विकसित भारत के काल च्रक की साक्षी बनेंगी।

डिंडोरी हादसे को लेकर जताया दुःख

डिंडोरी में सड़क हादसे को लेकर मोदी ने पीड़ा व्यक्त की और पीड़ितों को हर संभव मदद देने का आश्वासन दिया।सुशाशन को मोदी जी का पूरे विश्व में धमक मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव ने पीएम मोदी की जमकर तारीफ की। इस दौरान उन्होंने कहा जब सुशासन की बात होती है तो रामराज्य की बात आती है, 2000 साल पहले विक्रमादित्य के सुशासन की बात आती है। लेकिन आज इस बात का हर्ष है कि पीएम मोदी के नेतृत्व में सुशासन की धमक पूरी दुनिया देख रही है।

5 साल में कई दीदी बनेगी लखपति

कार्यक्रम में मोदी ने कहा कि आने वाले 5 वर्षों दीदियाँ लखपति बनकर सिर ऊँचा कर घूमेंगी, गांव की बहनें नमो ड्रोन दीदियां बनकर खेती में नई क्रांति का आधार बनेगी और बहनों की आर्थिक स्थिति में सुधार आएगा।

उज्जैन में लगेगा उद्योगपतियों का मेला, प्रदेश में सिंगापुर के उद्योगपति और कंपनियां करेंगे निवेश

लोकसभा चुनाव के सिंगापुर की कंपनी पवन ऊर्जा और सौर ऊर्जा के क्षेत्र में निंवेश के लिए मध्य प्रदेश आने की इच्छुक है। प्रतिनिधि मंडल ने बताया कि उन्होंने भोपाल में ग्लोबल स्किल पार्क का भ्रमण किया है और स्किल के तकनीकी कोर्स में सिंगापुर भी एक सांझेदार है। मुख्यमंत्री डा. मोहन यादव ने मुख्यमंत्री निवास पर भारत में सिंगापुर के उच्चायुक्त साइमन वांग के प्रतिनिधिमंडल के साथ सौजन्य भेंट की।

प्रदेश के हर क्षेत्र में निवेश की अपार संभावनाएं : मुख्यमंत्री

सिंगापुर की कंपनी सैमकाम ग्रीन ऊर्जा के क्षेत्र में निवेश करती है। लोकसभा चुनाव के बाद यह कंपनी पवन ऊर्जा और सौर ऊर्जा के क्षेत्र में निवेश के लिए मध्य प्रदेश आने की इच्छुक है। प्रतिनिधि मंडल ने बताया कि उन्होंने भोपाल में ग्लोबल स्किल पार्क का भ्रमण किया है और स्किल के तकनीकी कोर्स में सिंगापुर भी एक साझेदार है। उच्चायुक्त वांग ने मुख्यमंत्री को सिंगापुर आने के लिए आमंत्रित भी किया। प्रतिनिधिमंडल में सिंगापुर के कान्सुलेट जनरल चियोंग मिंग फूंग, फर्स्ट सेक्रेटरी (पालिटिकल) सीन लिम, फर्स्ट सेक्रेटरी (इकोनामिक) विवेक रागुरामन, वाइस कोंसुल (पालिटिकल) जाकाउस लिम और पालिटिकल एक्सोनामिकल विशेषज्ञ एरिका मारिया साथ थी।

उच्चायुक्त वांग ने बताया कि वह पहली बार मध्य प्रदेश आए हैं। मुख्यमंत्री ने प्रतिनिधिमंडल का शाल और पुष्पगुच्छ भेंट कर स्वागत किया। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा की प्रदेश के हर क्षेत्र में निवेश की अपार संभावनाएं हैं। निवेश के लिए इच्छुक सभी संस्थाओं को आवश्यक सहायता उपलब्ध कराई जाएगी।

सोशल मीडिया पर दुर्लभ कश्यप ने लगाई ऑनलाइन हथियारों की दुकान, साइबर टीम आज से करेगी गिरफ्तारी

मध्यप्रदेश के उज्जैन में बहुचर्चित दुर्लभ कश्यप की मौत भले ही कुछ सालों पहले है गई हो लेकिन उनकी मौत के बाद उसका गैंग सोशल मीडिया पर फिर से एक्टिव हो गया है, और गैर कानूनी हथियारों को बेच रहा है। इस गैंग ने फेसबुक के माध्यम से ऑनलाइन हथियारों की बिक्री चालू कर दी है।

हथियारों से जुड़ी वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर की

महाकाल की नगरी उज्जैन में एक बार फिर से दुर्लभ कश्यप का गैंग सोशल मीडिया पर एक्टिव हो गया है, और अवैध रूप से खुले आम हथियारों की बिक्री कर रहा है। सोशल मीडिया में की गई एक पोस्ट ने पूरे जगह सनसनी मचा दी है, जिसमें से कुछ युवक अपने आप को दुर्लभ कश्यप के गैंग का बोल कर हथियारों को खुलेआम फेसबुक पर बेच रहे है।

वीडियो में क्या था?

सोशल मीडिया फेसबुक में 25 अप्रैल 2023 को एक वीडियो पोस्ट किया गया है, जिसमें युवक का चेहरा तो नहीं दिखाई दे रहा हैं लेकिन उसके कमर में दर्जनों बंदूक की गोली और कई अलग अलग की तरह की पिस्टल हाथ और कमर में दिख रही है।फेसबुक पेज की प्रोफाइल में दुर्लभ कश्यप की फोटो भी लगी हुई है। जिस दिन इन्होंने वीडियो पोस्ट की थी उसी दिन दो विज्ञापन भी अपलोड किया था। उसकी कमर में पिस्टल, कट्टा, कई कारतूस, बंदूक लटकी है। एक हाथ में पिस्टल और दूसरे में बका है। बैक ग्राउंड में म्यूजिक भी बज रहा है।

वहीं, दूसरे वीडियो में टेबल पर रखी पांच पिस्टल भी दिखाई दे रही हैं। एक पिस्टल को उठाकर कोई दिखाता भी है, फिर वापस रख देता है।और इसी तरह एक ग्रुप और बनाया है कोहिनूर ग्रुप नाम से जिसके इंट्रो में लिखा है की पीवर बदमाश, मुखतः अपराधी 302, कोहिनूर ग्रुप उज्जैन देसी कट्टा,पिस्टल ऑनलाइन होम डिलीवरी, 93369-39678 हथियारों को बेचने के लिए गैंग ने अपना नंबर भी अपनी आईडी में मेंशन किया है।

पुलिस अधीक्षक सचिन शर्मा ने क्या कहा

इस मामले में पुलिस अधीक्षक सचिन शर्मा ने बताया की सोशल मीडिया पर डाली गई इस पोस्ट और नंबर को ट्रैस कर पुलिस टीम और साइबर टीम आज से कार्यवाही प्रारंभ कर दोषियों की गिरफ्तारी करेगी। पुलिस पूरे मामले को गंभीरता से ले रही हैं और इस प्रकार के पोस्ट डालने वाले लोगों के खिलाफ पुलिस कड़ी से कड़ी कार्यवाही करेगी ऐसा बोल रही है।

छोटी उम्र में ही डॉन बन गया था दुर्लभ कश्यप

दुर्लभ बहुत कम उम्र में कई बड़े अपराधों को अंजाम दे चुका था। उसने बहुत छोटी सी उम्र में ही कई बड़े बड़े कारनामे किए थे।दुर्लभ कश्यप सितंबर 2020 में अपने कुछ साथियों के साथ बाइक से उज्जैन के हेलावाड़ी क्षेत्र में चाय पीने पहुंचा था। यह इलाका पूर्व से ही KKC गैंग का था। गैंग का लीडर रमीज हेलावाड़ी था। जिस दुकान में दुर्लभ चाय पीने गया, उसका मालिक रमीज का भाई अमन भूरा था। भूरा ने दुर्लभ को पहचान लिया था। इसके बाद दोनों गैंग के बीच हाथापाई शुरू हो गई। आरोपियों ने दुर्लभ पर चाकू से 30 से ज्यादा वार किए, जहां पर दुर्लभ की मौके पर ही मौत हो गई थी। लेकिन उसके नाम को जिंदा रखने के लिए उसकी गैंग फिर से ऐक्टिव हो गई है।