Sat. Jun 15th, 2024

मप्र से इन सासंदों को बनाया जा सकता है केन्द्रीय मंत्री, शिवराज को हाईकमान दे सकता है यह बड़ी जिम्मेदारी

By Amit Rajput Jun 6, 2024 #bjp #MP #NEWS #Update

लोकसभा चुनाव के नतीजे के बाद एनडीए की सरकार बनाने में कामयाब नजर आ रही है। नरेंद्र मोदी तीसरी बार 8 जून को प्रधानमंत्री पद की सफलता ले सकते हैं। इसी के साथ केन्द्रीय मंत्रियों के नाम की अटकलें लगना शुरू हो गई है। जहां मप्र से तीन से चार सासंदों के नाम आगे आ रहे हैं। जो केंद्रीय मंत्री मंडल में मप्र का नेतृत्व कर सकते हैं। आईये जानते है मप्र से कौन सासंद केंद्रीय मंत्री बन सकते हैं।

वीडी शर्मा को मिल सकती है बड़ी जिम्मेदारी

मध्य प्रदेश में प्रचंड जीत के बाद लोगों को उम्मीद है कि दिल्ली में प्रदेश की भागीदारी बढ़ेगी। इसके साथ ही सबसे अधिक चर्चा एमपी बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा की है। वीडी शर्मा के नेतृत्व में भाजपा लगातार मध्य प्रदेश में सफलता हासिल कर रही है। विधानसभा चुनाव में उनकी अध्यक्षता में पार्टी ने बड़ी जीत हासिल की थी। अब लोकसभा में 29 की 29 सीटें जीत गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चुनावी रैलियों में वीडी शर्मा की तारीफ कर चुके हैं। ऐसे में अटकलें हैं कि उनका प्रमोशन हो सकता है। उन्हें मंत्री मंडल में बड़ा पद मिल सकता है।

आदिवासी महिलाओं को मिल सकती है जिम्मेदारी

वही प्रदेश से तीन आदिवासी महिलाएं लोकसभा चुनाव जीतकर संसद में पहुंची हैं। इनमें शहडोल से हिमाद्री सिंह और धार से सावित्री सिंह के अलावा अनीता नागर चौहान शामिल हैं। इनमें हिमाद्री या अनीता को मौका दिया जा सकता है। पार्टी नेताओं का मानना है कि आदिवासी वर्ग में अब नया नेतृत्व तैयार करना आवश्यक है इसलिए किसी महिला को मंत्री बनाने से दो बात बन जाएगी। पहला आदिवासी वर्ग में नया नेतृत्व खड़ा कर लिया जाएगा और दूसरा महिला को कोटा भी बढ़ जाएगा।

शिवराज सिंह चौहान बन सकते हैं अध्यक्ष

इधर, ज्योतिरादित्य सिंधिया का कैबिनेट में बने रहना तय माना जा रहा है। वहीं, विष्णु दत्त शर्मा को भी कैबिनेट में रखा जा सकता है। उनको कैबिनेट में स्थान नहीं मिलता है तो कुछ दिनों तक वे भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष के पद पर ही बने रहेंगे। वही पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को पार्टी राष्ट्रीय अध्यक्ष का दायित्व सौंप सकती है। कायस लगाए जा रहे हैं कि जेपी नड्डा जल्द ही अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे सकते हैं। उनकी जगह शिवराज सिंह चौहान को कमान सौंपी जा सकती है। उन्होंने 8 लाख से ज्यादा वोट से जीत हासिल की। वही इस बार भी प्रदेश के बड़े शहर इंदौर भोपाल जबलपुर जैसे शहर बिना मंत्री के रह सकते हैं।

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *