Wed. Apr 24th, 2024

MP में निजी स्कूलों द्वारा बच्चो और उनके पैरेंट्स पर दबाव बनाने पर लग सकता है 2 लाख रुपये तक का जुर्माना

CM Mohan Yadav ने निजी स्कूलों पर नकेल कसने के लिए नए शिक्षा सत्र में आदेश जारी किया है कि अगर स्कूलों द्वारा किसी एक दुकान से सामग्री ख़रीदने के लिए दबाव बनाया जाता है तो स्कूल पर 2 लाख रुपये तक का जुर्माना लग सकता है।

Bhopal लोक शिक्षण विभाग ने 1 अप्रिल से शुरू हो रहे शिक्षा सत्र के लिए नए आदेश जारी किए हैं। अपने आदेश में सीएम यादव ने निजी स्कूलों की मनमानी पर लगाम लगाते हुए है कहा कि प्रदेश का कोई भी स्कूल अगर किसी खास दुकान से कॉपी पुस्तक और यूनिफॉर्म लेने के लिए दबाव बनाता है, तो स्कूल पर 2 लाख का जुर्माना लगाया जाएगा।

सोशल मीडिया पर दी जानकारी

सीएम ने एक्स पर पोस्ट करते हुए लिखा, “मेरे संज्ञान में आया है कि कुछ निजी स्कूलों द्वारा पालकों को कोर्स की किताबें, यूनिफार्म और अन्य शिक्षण सामग्री किसी निर्धारित दुकान से खरीदने के लिए बाध्य किया जा रहा है, जो कि उचित नहीं है।
मैंने इस सम्बन्ध में कार्रवाई करने के लिए मुख्य सचिव को निर्देश दिये हैं। स्कूल शिक्षा विभाग मध्यप्रदेश निजी विद्यालय (फीस तथा संबंधित विषयों का विनिमियन) नियम 2020 के तहत प्रथम बार शिकायत प्राप्त होने पर स्कूल संचालक पर ₹2 लाख तक का जुर्माना लगाया जाएगा।”

मुख्य सचिव को कहा ऐसे स्कूलों पर त्वरित कार्यवाही हो

मुख्यमंत्री एक्शन मोड में नजर आ रहे हैं, उन्होंने मुख्य सचिव को आदेश दिए हैं कि अगर कोई मनमानी का मामला सामने आता है तो ऐसे स्कूलों पर कार्यवाही करें।

पहले भी जारी हो चुके ऐसे आदेश

इसी तरह के आदेश पहले भी सरकार द्वारा जारी किए गए हैं परंतु उनका क्रियान्वयन नहीं हो पाया है, इसीलिए एक बार फिर से सरकार ने यह आदेश जारी किया है।

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *