Sat. Apr 13th, 2024

महिला दिवस कार्यक्रम में वापस घर ना जाने देने को लेकर हंगामा थमने का नाम नहीं ले रहा

महिला दिवस पर केंद्रीय मंत्री की मौजूदगी में जिला प्रशासन को बनाना था रिकॉर्ड लेकिन सीएम के लेट आने से हो गया हंगामा, अब विवाद थम नही रहा है। सुमित्रा ताई ने लगाई कलेक्टर को फटकार

Indore: मध्य प्रदेश के इंदौर जिले में महिला दिवस के अवसर पर जिला प्रशासन ने नेहरू स्टेडियम में साड़ी वॉकथान आयोजित की थी। जिसे लेकर महिलाओं द्वारा कार्यक्रम स्थल पर ही खूब हंगामा हुआ था, जो विवाद अब तक थमता नजर नहीं आ रहा है। विवाद को लेकर पूर्व लोकसभा स्पीकर (Ex Loksabha Speaker) ने सवाल खड़े किए हैं।

आपको बता दें कि कार्यक्रम में महिलाओं को दोपहर 3 बजे ही बुला लिया गया था। लेकिन मुख्यमंत्री जब शाम को 7 बजे तक नहीं आए तो महिलाएं भड़क गईं और लौटने लगी थीं। इस दौरान अफसरों ने नेहरू स्टेडियम (Nehru Stadium) के गेट में ताला लगा दिया था। कार्यक्रम में पहुँची महिलाओं ने कहा कि हमें काफी देर से बैठा कर रखा हुआ है, देर हो रही है बच्चे छोटे हैं उन्हें छोड़कर आएं हैं और पुलिस हमे जाने नही दे रही है।

महिलाओं के सब्र का बाँध फूटा तो तोड़ने लगी गेट का ताला

एक प्रतिभागी महिला ने जब सब्र खो दिया तो वो पत्थर से गेट पर लगे ताले को तोड़ने लगी, उसने कहा कि मैं 3 बजे से आई हूँ शाम हो गई है कार्यक्रम नहीं हुआ तो क्या हमें घर जाना है। इस वाकये को वहाँ उपस्थित सभी मीडिया कर्मियों ने अपने कैमरे में कैद किया।

मैं सवाल नहीं करूँगी तो कौन करेगा – सुमित्रा ताई

2019 के बाद से राजनीति से इनएक्टिव हुई सुमित्रा महाजन (Sumitra Mahajan) आज कल फिर से एक्टिव हो गई हैं। इस मामले को लेकर ताई ने कलेक्टर आशीषसिंह को पत्र लिखकर जवाब मांगा है। महाजन ने कहा है कि महिलाओं के इस कार्यक्रम में अगर व्यवस्था बिगड़ी है तो मैं सवाल नहीं करूंगी तो कौन करेगा। ताई द्वारा यह पत्र सोमवार को कलेक्टर को भेजा गया है।

क्या किए सवाल?

समाचार पत्रों में महिलाओं को रोकने की जो खबरें आईं, क्या सही हैं?
-यह कार्यक्रम किसके द्वारा आयोजित था?
-खर्च किसने उठाया?
-कितनी महिलाएं आई थीं?
-महिलाओं को वहां क्यों रोककर रखा गया?
-व्यवस्था कौन देख रहा था?

महाजन ने कहा कि मै हमेशा से ही महिलाओं के हित के लिए कार्य करती आई हूँ, हमारी सरकार भी महिला हितैषी सरकार है लेकिन अगर ऐसा हुआ तो वह चिंताजनक है।

कार्यक्रम में बनाना था रिकॉर्ड हो गया बवाल

केंद्रीय वस्त्र एवम रेल राज्य मंत्री दर्शना जोरदास और प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ मोहन यादव की उपस्थिति में 27 हजार महिलाओं द्वारा पारम्परिक वेशभूषा में वॉकथॉन होनी थी, पर सीएम के लेट आने से वहाँ महिलाओं के द्वारा हंगामा हो गया।

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *