Tue. Apr 23rd, 2024

हैकर्स ने किया दुनिया की पहली विक्रमादित्य घड़ी पर अटैक, हफ्ते भर पहले ही पीएम मोदी ने किया था उद्घाटन

उज्जैन में लगाई गई विक्रमादित्य वैदिक घड़ी के एप पर 7 मार्च 2024 की गुरुवार की रात को साइबर अटैक होने की खबर सामने आई है। इस घटना की शिकायत नेशनल साइबर क्राइम पोर्टल पर दर्ज करवाई गई है। यह घटना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा वर्चुअल लोकार्पण किए गए इस ऐप के उद्घाटन समारोह से एक हफ्ता पहले घटी थी।

एप से मिली जानकारी

अब इस घड़ी पर साइबर अटैक हो चुका है, जिसकी जानकारी महाराजा विक्रमादित्य शोधपीठ, संस्कृति विभाग, मध्यप्रदेश शासन ने मीडिया को दी है। महाराजा विक्रमादित्य शोध पीठ के निदेशक, श्रीराम तिवारी ने बताया कि 29 फरवरी 2014 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जीवाजीराव वेधशाला पर विक्रमादित्य वैदिक घड़ी का लोकार्पण किया था। उसी घड़ी के एप पर 7 मार्च 2024 की गुरुवार रात को साइबर अटैक हो चुका है।

महाशिवरात्रि के अवसर पर इस घड़ी के पूर्व घोषित ‘विक्रमादित्य वैदिक घड़ी’ नाम से एक नि:शुल्क मोबाइल ऐप लॉन्च करने की तैयारी थी, लेकिन गुरुवार रात से ही अचानक डिजिटल वैदिक क्लॉक पर ऐसा साइबर अटैक हो गया कि सबसे पहले वेबसाइट के अंदर का डेटा धीरे-धीरे गायब हो गया, और उसके बाद जब वेबसाइट खुली, तो अंदर का डेटा पूरी तरह से हट गया था। इस साइबर अटैक की शिकायत नेशनल साइबर क्राइम पोर्टल पर दर्ज कर दी गई है।

वैदिक घड़ी पर हुआ डीडीओएस अटैक

वैदिक घड़ी पर डीडीओएस अटैक के बारे में वैदिक घड़ी के निर्माता आरोह श्रीवास्तव ने बताया है कि इस घड़ी पर हुए हमले को तकनीकी भाषा में “डीडीओएस अटैक” कहा जाता है। इसके कारण विक्रमादित्य वैदिक घड़ी के सर्वर की प्रोसेस स्लो हो रही है और सामान्य लोग इसका उपयोग नहीं कर पा रहे हैं। आरोह ने बताया कि हम इस स्थिति को सुलझाने के लिए प्रयासरत हैं ताकि जो भी डेटा नुकसान हुआ है, उसे पुनर्प्राप्त किया जा सके।

वैदिक घड़ी बेहद सुरक्षित है

महाराजा विक्रमादित्य शोध पीठ के निदेशक, श्रीराम तिवारी ने व्यक्त किया कि इस घड़ी पर हुआ साइबर अटैक केवल उसके लोकल सर्वर पर हुआ था, इसलिए किसी भी वास्तविक नुकसान की कोई बात नहीं है। विक्रमादित्य वैदिक घड़ी को हानि पहुंचाने की कोई कोशिश की गई थी, जिसके कारण जब लोग वेबसाइट खोलते, तो उसके प्रोग्राम हट गए थे, लेकिन टेक्निकल टीम ने इसके डेटा को सुरक्षित करने में सफलता प्राप्त की। तिवारी ने बताया कि आज महाशिवरात्रि को इस ऐप की लॉन्चिंग होनी थी, लेकिन यह साइबर अटैक के कारण इस कार्य को एक महीने के बाद में स्थगित कर दिया गया है। अब संभावतः गुड़ी पड़वा पर इसकी लॉन्चिंग हो सकती है।

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *