Thu. Apr 18th, 2024

उज्जैन में लगेगा उद्योगपतियों का मेला, प्रदेश में सिंगापुर के उद्योगपति और कंपनियां करेंगे निवेश

लोकसभा चुनाव के सिंगापुर की कंपनी पवन ऊर्जा और सौर ऊर्जा के क्षेत्र में निंवेश के लिए मध्य प्रदेश आने की इच्छुक है। प्रतिनिधि मंडल ने बताया कि उन्होंने भोपाल में ग्लोबल स्किल पार्क का भ्रमण किया है और स्किल के तकनीकी कोर्स में सिंगापुर भी एक सांझेदार है। मुख्यमंत्री डा. मोहन यादव ने मुख्यमंत्री निवास पर भारत में सिंगापुर के उच्चायुक्त साइमन वांग के प्रतिनिधिमंडल के साथ सौजन्य भेंट की।

प्रदेश के हर क्षेत्र में निवेश की अपार संभावनाएं : मुख्यमंत्री

सिंगापुर की कंपनी सैमकाम ग्रीन ऊर्जा के क्षेत्र में निवेश करती है। लोकसभा चुनाव के बाद यह कंपनी पवन ऊर्जा और सौर ऊर्जा के क्षेत्र में निवेश के लिए मध्य प्रदेश आने की इच्छुक है। प्रतिनिधि मंडल ने बताया कि उन्होंने भोपाल में ग्लोबल स्किल पार्क का भ्रमण किया है और स्किल के तकनीकी कोर्स में सिंगापुर भी एक साझेदार है। उच्चायुक्त वांग ने मुख्यमंत्री को सिंगापुर आने के लिए आमंत्रित भी किया। प्रतिनिधिमंडल में सिंगापुर के कान्सुलेट जनरल चियोंग मिंग फूंग, फर्स्ट सेक्रेटरी (पालिटिकल) सीन लिम, फर्स्ट सेक्रेटरी (इकोनामिक) विवेक रागुरामन, वाइस कोंसुल (पालिटिकल) जाकाउस लिम और पालिटिकल एक्सोनामिकल विशेषज्ञ एरिका मारिया साथ थी।

उच्चायुक्त वांग ने बताया कि वह पहली बार मध्य प्रदेश आए हैं। मुख्यमंत्री ने प्रतिनिधिमंडल का शाल और पुष्पगुच्छ भेंट कर स्वागत किया। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा की प्रदेश के हर क्षेत्र में निवेश की अपार संभावनाएं हैं। निवेश के लिए इच्छुक सभी संस्थाओं को आवश्यक सहायता उपलब्ध कराई जाएगी।

मध्यप्रदेश को मिला पीएम मोदी से मिला बड़ा तोहफा, प्रदेश को दी 17,500 करोड़ की परियोजनाओं की सौगात

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एमपी को बड़ी सौगात दी है। उन्होने वर्चुअली जुड़कर 17,500 करोड़ रुपये की लागत वाली परियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण किया। इसमें पेयजल और सिचाईं की परियोजनाएं हैं। इनमें बिजली, सड़क, रेल, खेल परिसर सामुदायिक सभागार और अन्य उद्योगो में जुड़े प्रोजेक्ट्स हैं। इस मौके पर पीएम मोदी ने मध्य प्रदेश की जनता को संबोधित भी किया।

भाजपा सरकार यानी गति भी और प्रगति भी

मध्यप्रदेश की जनता को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि खेती, उद्योग और टूरिज्म पर फोकस कर रही है। मां नर्मदा पर बन रही तीन जल परियोजनाओं का शिलान्यास हुआ है। इनसे सिंचाई और पेयजल की समस्याओ का निराकरण होगा। मध्य प्रदेश में केन-बेतवा लिंक परियोजना से बुंदेलखंड के लाखों परिवारों का जीवन बदलने वाला है। किसानों के खेत तक पानी पहुंचता है तो इससे बड़ी सेवा क्या हो सकती है? भाजपा सरकार और कांग्रेस की सरकार के बीच का क्या अंतर होता है, इसका उदाहरण सिंचाई परियोजना भी है। 2014 से पहले के दस वर्षों में देश में लगभग 40 लाख हैक्टेयर भूमि को सूक्ष्म सिंचाई के दायरे में लाया गया था। बीते दस वर्ष के हमारे सेवाकाल में हमने दोगुना लगभग 90 लाख हैक्टेयर खेती को सूक्ष्म सिंचाई से जोड़ा गया है। यह दिखाता है कि भाजपा सरकार की प्राथमिकता क्या है, यह दिखाता है कि भाजपा सरकार यानी गति भी और प्रगति भी।

जिसे कोई नहीं पूछता है, उन्हें मोदी पूछता है

मध्यप्रदेश के युवाओं को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि आपके सपने को पूरा करना ही मोदी का संकल्प है। उन्होंने कहा कि मध्य प्रदेश आत्मनिर्भर भारत, मेक इन इंडिया का मजबूत स्तंभ बनेगा। मुरैना के सीतापुर में मेगा लेजर एंड फुटवेयर क्लस्टर, इंदौर में रेडीमेड गारमेंट इंडस्ट्री के लिए पार्क, मंदसौर में इंडस्ट्रियल पार्क का विस्तार, धार में इंडस्ट्रियल पार्क का निर्माण इसी दिशा में उठाए जा रहे कदम है। कांग्रेस की सरकारों ने मैन्युफैक्चरिंग की हमारी पारंपरिक ताकत को भी बर्बाद कर दिया था। खिलौना बनाने की हमारी बड़ी परंपरा रही है। स्थिति यह थी कि कुछ साल पहले तक हमारे बाजार और घर विदेशी खिलौनों से भरे पड़े थे। हमने देश के खिलौने बनाने वाले पारंपरिक परिवारों को विश्वकर्मा परिवार के तौर पर मान्यता दी। विदेशों से खिलौनों का आयात कम हो गया है। जितने खिलौने हम आयात कर रहे थे, उससे दोगुना हम निर्यात कर रहे हैं। बुधनी के खिलौना बनाने वालों के लिए अनेक अवसर मिलने वाले हैं। इससे खिलौना निर्माण को बल मिलेगा। जिन्हें कोई नहीं पूछता है, उन्हें मोदी पूछता है।

मध्य प्रदेश अजब है और गजब भी है

पीएम मोदी ने कहा कि पर्यटन में भी बढ़ोतरी हो रही है। इसका लाभ मध्य प्रदेश को भी मिल रहा है। मध्य प्रदेश अजब है और गजब भी है। ओंकारेश्वर और ममलेश्वर में श्रद्धालुओं की संख्या में भारी बढ़ोतरी हुई है। ओंकारेश्वर में विकसित किए जा रहे एकात्म धाम की वजह से यह संख्या और बढ़ेगी। 2028 में उज्जैन में सिंहस्थ होने वाला है। इच्छापुर से इंदौर तक फोन लेन बनने से श्रद्धालुओं को सुविधा होगी। रेल परियोजनाओं से भी मध्य प्रदेश की कनेक्टिविटी भी सशक्त होगी।

शादी के बाद पति को शारीरिक संबंध नहीं बनाने देती थी पत्नी, पति ने कोर्ट से लिया तलाक का आदेश

भोपाल। मंगलवार को एक प्रकरण में कोर्ट ने आदेश जारी किया। दरअसल मामला भोपाल का है जहां शादी के बाद भी पति को दांपत्य सुख से वंचित रखने के मामले में अपर जिला न्यायाधीश के न्यायालय ने आदेश जारी किया है। मामले में पति की ओर से तलाक के लिए न्यायालय के सामने आवेदन प्रस्तुत किया था। आवेदक की अधिवक्ता ने बताया की 2018 में शादी के बाद से ही पत्नी उसे अपने से दूर रखती थी।दोनों के बीच इस विवाद का मामला परिवार परामर्श केंद्र में भी चला था।

दिव्यांग बोलकर मजाक उड़ाती थी पत्नी

इस मामले में डॉक्टर से भी चेकअप कराया, जिसमे डॉक्टर ने पति को शारीरिक संबंध बनाने के लिए स्वस्थ पाया। पत्नी शारीरिक संबंध नहीं बनाने देती थी और पति का दिव्यांक बोलकर मजाक उड़ाती थी। मामले में द्वितीय अपर सत्र न्यायाधीश ने दोनों पक्षों को सुनने के बाद पति को शारीरिक संबंध नहीं बनाने को क्रूरता मानकर पति को तलाक के लिए पात्र मानते हुए तलाक का आदेश दिया।

पटवारी भर्ती को लेकर प्रदर्शन कर रहे छात्र गिरफ्तार, भर्ती रद्द करने की है माँग

Bhopal: MP में पटवारी भर्ती की परीक्षा को लेकर विवाद थम ही नही रहा है। पहले अभ्यर्थि भर्ती परीक्षा में हुए घोटाले को लेकर जाँच के लिए सड़कों पर उतरे थे अब उसी जांच की रिपोर्ट को लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं। National Education Youth Union के नेतृत्व में चल रहे प्रदेश के सभी जिलों से छात्र भोपाल पहुँचे थे, प्रदर्शन कर रहे छात्र जब वल्लभ भवन की ओर बढ़े तो व्यापम चौराहे पर पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया।
बता दें कि एक ही सेंटर से टॉप 10 से 7 अभ्यार्थी थे जिस के कारण विवाद खड़ा हुआ था Shivraj सरकार ने विवाद को देखते हुए रिटायर्ड जज की अध्यक्षता में एक सदस्य जाँच समिति का गठन किया था, समिति की रिपोर्ट के अनुसार सभी को क्लीन चीट दे दी गई और जल्द ही नियुक्ति देने की बात थी।

बिना टेक्निकल सपोर्ट के कैसे निष्पक्ष होगी जाँच

प्रदर्शन कर रहे छात्रों ने बताया कि परीक्षा ऑनलाइन माध्यम से हुई थी ऐसे में जज साहब ने बिना टेक्निकल सपोर्ट लिए जाँच की रिपोर्ट सौंप दी, जो पूरी तरह से भर्ती में हुए घोटाले और कई नामदारों को बचाने के लिए बनाई गई है।

कमलनाथ बोले-मप्र के युवाओं पर तिहरी मार

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने पटवारी भर्ती परीक्षा को लेकर सरकार पर निशाना साधा। सोशल मीडिया पोस्ट पर लिखा, सरकारी नौकरी की भर्तियों में भ्रष्टाचार और लेट लतीफी के खिलाफ प्रदेश के नौजवान भोपाल में प्रदर्शन कर रहे हैं। उनकी मांग है कि पटवारी भर्ती परीक्षा को क्लीन चिट देना सही नहीं है। पहले शिवराज सरकार में युवा यह मुद्दे उठाते रहे और मोहन यादव सरकार में भी समस्या से जूझना पड़ रहा है। मप्र का युवा बेरोजगारी, भ्रष्टाचार और सरकारी उदासीनता की तिहरी मार से परेशान है।

आंदोलन पर उतरें युवाओं की मांग

युवाओं का कहना है कि पटवारी भर्ती परीक्षा रद्द हो। 6 महीने के अंदर सरकार दोबारा परीक्षा आयोजित करें। जांच कमेटी की रिपोर्ट सार्वजनिक की जाना चाहिए। नई कमेटी गठित कर उच्च स्तरीय जांच नए सिरे से होना चाहिए। एमपी एसआई के 2000 पद पर भर्ती जल्दी होना चाहिए। एमपीएसईबी की परीक्षाओं के रुके हुए नतीजे को भी जल्द घोषित करने की मांग की है। राज्य सरकार द्वारा पटवारी भर्ती परीक्षा में ओबीसी आरक्षण के तहत प्रत्याशी 87-13 का जो फार्मूला निकाला है इसको भी निरस्त करने की मांग युवा कर रहे हैं। 100% के हिसाब से रिजल्ट जारी हो।

MP राज्य शिक्षा केंद्र में वाहन घोटाला, फर्जी बिलों पर करोड़ों का पेमेंट

मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने स्कूल शिक्षा विभाग में प्रायवेट वाहनों को किराए पर लेने के नाम पर करोड़ों रुपए के भ्रष्टाचार का बड़ा आरोप लगाया है। मप्र कांग्रेस मीडिया विभाग के अध्यक्ष केके मिश्रा, मप्र कांग्रेस के उपाध्यक्ष जेपी धनोपिया और मप्र कांग्रेस सूचना का अधिकार प्रकोष्ठ के अध्यक्ष पुनीत टंडन ने संयुक्त प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए बताया कि राज्य शिक्षा केंद्र से सूचना के अधिकार में मिली जानकारी के अनुसार केंद्र में लगे प्राइवेट वाहनों के नाम पर 13 महीनो में करीब 1 करोड़ 75 लाख रुपए का भुगतान श्री ट्रैवल एजेंसी को किया गया है।

मंत्री जी की गाड़ी का नम्बर अलग और मॉडल अलग

मंत्री जी के स्टाफ में अटैच एक अन्य वाहन MP04-BC-7480 नंबर की इनोवा क्रिस्टा दर्ज है। इसकी भी परिवहन विभाग में पड़ताल की गई तो यह स्कॉर्पियो निकली। इस वाहन का 1 अप्रैल 2023 से 30 अप्रैल 2023 तक एक माह का किराया 1,80,628 रुपए चुकाया गया। स्कूल शिक्षा मंत्री के नाम पर एक अन्य आवंटित वाहन इनोवा क्रिस्टा क्रमांक MP04-ZH-5566 के लिए 2 महीने की राशि 3,92,076 रुपए भुगतान की गई। यह वाहन परिवहन विभाग में प्राइवेट कोटे पर दर्ज है।

इसी तरह MP04-CA-9529 नंबर का वाहन राज्य शिक्षा केंद्र में प्रशासन कक्ष को आवंटित है। इसके मालिक को 6 माह में 2,25,057 रुपए का भुगतान किया गया। कांग्रेस ने आपत्ति दर्ज कराई है कि यह वाहन मारुति स्विफ्ट डिजायर बताया गया जबकि परिवहन विभाग में यह मारुति 800 नाम से दर्ज है।

बच्चों के लिए सुविधा नहीं और मंत्री जी कर रहे घोटाले

प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुई कांग्रेस नेताओं ने आरोप लगाया कि एक ओर शिक्षा स्तर पूरे प्रदेश में गिर रहा है मंत्री जी उस पर ध्यान ना देकर फेक बिल पास करने के लगे हुए हैं।

384 आशियानो पर चला मोहन सरकार का बुलडोजर, झुग्गी बस्ती हटाए जाने के विरोध में कांग्रेस ने मानवाधिकार आयोग को लिखा पत्र

राजधानी भोपाल के भदभदा स्थित झुग्गी बस्ती में लंबी जद्दोजहद के बाद बस्ती को हटा दिया गया है। चार दिन चली कार्रवाई के बाद 384 घर समेत बस्ती को पूरी तरह से हटा दिया गया है। एनजीटी के आदेश के बाद यह कार्यवाही हुई। चार दिन चली इस कार्रवाई के दौरान 384 घरों पर बुलडोजर चलाया गया। ज्ञात हो कि भदभदा स्थित अतिक्रमण को हटाने के लिए याचिकाकर्ता आर्या श्रीवास्तव ने वर्ष 2020 में एनजीटी में याचिका लगाई थी। इस कार्यवाही पर कांग्रेस नेताओं के बयान भी आए है।

कांग्रेस ने बीजेपी सरकार पर साधा निशाना

भदभदा क्षेत्र से झुग्गी बस्ती पूरी तरह साफ होने के बाद कांग्रेस का भी इस मामले में बयान आया है। मध्य प्रदेश चीफ पटवारी ने कहा कि यह सरकार उद्योगपति, धन्नासेठों और सूट बूट की है। कम से कम इन गरीबों को एक-एक प्रधानमंत्री आवास तो मिलना ही चाहिए। मैं मुख्यमंत्री को चिट्ठी लिखूंगा। ऐसा हम फिल्मों में देखते थे कि एक होटल एनजीटी के परिधि में आती थी, उस पर कोई कार्रवाई नहीं होती थी। इस मामले में पूर्व सीएम दिग्विजय सिंह ने भी पत्र लिखा है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष जीतू पटवारी भदभदा बस्ती पहुंचे और प्रभावित परिवारों से बात भी की। वहीं पूर्व मंत्री पीसी शर्मा का कहना है कि 10वीं-12वीं की परीक्षा चल रही है। इस बीच घरों पर बुलडोजर चला दिया। पीसी शर्मा ने कहा कि बगैर नोटिस के बिजली-पानी कनेक्शन काट दिए, लोगों को सामान नहीं निकालने दिया गया, खाने पीने की व्यवस्था नहीं है। ऐसा लग रहा है कि युद्ध की स्थिति हो गई, जिसमें सब तोडफ़ोड़ देते हैं। वहीं एनजीटी कोर्ट में प्रैक्टिस कर रहे वकील शारीख चौधरी का कहना है कि यह गलत है। यह नियम के विरुद्ध है। अतिक्रमण हटाया जाता है, लेकिन विस्थापित करके न की बेघर करके, प्रशासन ने इन गरीबों के साथ बहुत गलत किया है। झुग्गी बस्ती हटाए जाने को लेकर कांग्रेस ने मानवाधिकार आयोग को भी पत्र लिखा है।

राहुल गांधी की न्याय यात्रा पहुंचने वाली है महाकाल नगरी, कांग्रेस की ओर से तैयारियां तेज

राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा मध्य प्रदेश के उज्जैन पहुंचने वाली है। जानकारी के मुताबिक आगामी पांच मार्च को उज्जैन पहुंच रही भारत जोड़ो न्याय यात्रा से राहुल गांधी सीधे महाकाल मंदिर पहुंचकर भगवान महाकाल का आशीर्वाद लेंगे।जिसके बाद कार्तिक मेला ग्राउंड पर आमसभा को संबोधित करेंगे।

यात्रा सफल बनाने के लिए कांग्रेस पार्टी कर रही पूरी तैयारी

भारत जोड़ो न्याय यात्रा के उज्जैन पहुंचने से पहले प्रदेश कांग्रेस के प्रभारियों द्वारा लगातार बैठकें की जा रही हैं। कांग्रेस कार्यालय में शहर कांग्रेस के अध्यक्ष रवि भदौरिया की अध्यक्षता में प्रदेश प्रभारियों की उपस्थिति में सोमवार को शहर एवं जिला कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और कार्यकर्ताओं की एक महत्वपूर्ण बैठक आयोजित की गई। बैठक में राहुल गांधी की यात्रा के दौरान भगवान महाकाल के दर्शन और आमसभा की रणनीति तैयार की गई। दर्शन पश्चात कार्तिक मेला ग्राउंड पर राहुल गांधी आमसभा को संबोधित करेंगे। राहुल गांधी की न्याय यात्रा को ऐतिहासिक बनाने के लिए मध्यप्रदेश के प्रभारी कुलदीप सिंह इंदौरी, यात्रा प्रभारी प्रियव्रत सिंह खींची, रवि जोशी, सज्जन सिंह वर्मा ने शहर अध्यक्ष रवि भदौरिया के साथ यात्रा के दौरान आमसभा स्थल का चयन किया। भारत जोड़ो न्याय यात्रा की तैयारी का जायजा लेने 29 फरवरी को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष जीतू पटवारी उज्जैन पहुंचेंगे यहां पर समिति के सदस्यों कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं और ब्लॉक अध्यक्षों के साथ बैठक करेंगे और यात्रा की तैयारी को अंतिम रूप देंगे।

पिछले वर्ष लाडली बहना कार्यक्रम में प्रस्तुति देने वाले कलाकारों को भुगतान के लिए अब तक चक्कर लगाना पड़ रहे

आठ माह से कलाकार प्रशासनिक संकुल में भुगतान के लिए चक्कर लगा रहे है

पिछले वर्ष जुलाई में विधानसभा चुनाव से पहले कॉरिडोर पर लाडली बहना के खाते में राशि जमा करने का कार्यक्रम मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा इंदौर में हुआ था। इस विषय में भोपाल के कलाकारों ने मंच पर नृत्य व नाटक की प्रस्तुति दी थी, लेकिन आठ माह होने को आए हैं और अभी तक कलाकारों को प्रशासनिक संकुल में भुगतान के लिए चक्कर लगाना पड़ रहे है।

भुगतान के दिए थे निर्देश

सुपरवाइजर अभिषेक शर्मा ने पिछले दिनों अपर कलेक्टर सपना लोवंशी से मिलक भुगतान दिलाने की अर्जी लगाई। एडीएम ने मामले को गंभीरता से लेते हुए जिला पंचायत के अधिकारियों को फोन लगाकर भुगतान प्रकरण की जानकारी ली। साथ ही उक्त फाइल का निराकरण करवा कर भुगतान कराने के निर्देश दिए।

भाजपा विधायक ने घर छोड़ कर अपनाया वानप्रस्थ आश्रम, बोले मेहनत की कमाई मेरे स्वागत में ना लगाइए

भोपाल। अपने बयानों को लेकर विदिशा जिले के सिरोंज क्षेत्र के भाजपा विधायक उमाकांत शर्मा का वीडियो इंटरनेट पर इन दिनों खूब सुर्खियां बटोर रहा है। वीडियो में उमाकांत शर्मा बोल रहे हैं की मैने घर छोड़ कर वानप्रस्थ आश्रम अपना लिया है।अपना स्वागत करवाना भी छोड़ दिया है। धोती कुर्ते के अलावा कोई दूसरा वस्त्र नही पहनूंगा। और क्रिकेट मैच देखने भी नही जाऊंगा क्योंकि जो बच्चे क्रिकेट खेल रहे है वह टेनिस बॉल से खेलते है। इससे वे अपने भविष्य में कभी भी अच्छे खिलाड़ी नहीं बन सकते।

विधायक उमाकांत शर्मा अक्सर लगाते हैं जनता दरबार

दरअसल गणेश की अथाई के सामने अपने निवास के बाहर चाओड़ी पर विधायक उमाकांत शर्मा अक्सर जनता दरबार लगाते हैं। यहां वे सभी की समस्या को सुनते है, ये वीडियो भी वहीं का बताया जा रहा है।वीडियो में उमाकांत शर्मा यह भी कह रहे है की मैं किसी के यहां शादी में भी नहीं जाऊंगा क्योंकि एक ही दिन में 80 कार्ड आते है ऐसे में किसी के यहां पहुंच पाता हूं किसी के यहां नहीं जिसके कारण लोगो को भी बुरा लगता है।

मेहनत की कमाई सिर्फ मेरे स्वागत में नहीं लगाइए

वीडियो में उमाकांत शर्मा यह संकल्प लेते हुए नजर आ रहे है। जिसमे उन्होंने कहा है की मैंने अपना स्वागत करवाना और पैर पड़वाना बंद कर दिया है। लेकिन फिर भी लोग तौलिया, रूमाल और फूल-मालाओं पर जबरन रुपए खर्च कर रहे हैं।

बेटियों को ढूंढने माँओं का प्रदर्शन, सीएम से न्याय की उम्मीद

पुलिस के निरंकुश होने पर दो माँओ को सड़क पर उतरकर न्याय के लिए धरना देना पड़ा, सीएम से लगाई न्याय की पुकार

शहर में दो माँओ ने अपनी अपनी बच्चियों को ढूंढने ने लिए शहीद स्मारक पर प्रदर्शन किया। जैसे ही इसकी सूचना प्रशासन को मिली तो दोनों को समझाइश देकर घर भेज दिया गया।
बात दें कि छिंदवाड़ा के दो थाना क्षेत्रों कोतवाली और कुंडीपुरा थाना क्षेत्र से गायब हुई दो युवतियों की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज हुई थी पर पुलिस की ने किसी तरह की कोई करवाई नहीं कि जिससे परेशान होकर दोनों बच्चियों की माँ शिवजी पार्क के पास शहीद स्मारक पर धरना के लिए बैठ गई।

प्रदर्शन के बाद कुछ ही घंटे में मिली बच्ची

प्रदर्शन के बाद कुछ समय मे कोतवाली थाना क्षेत्र से गायब युवती को दमुआ से एक युवक के पास से बरामद किया गया है जिसे वापस लाया जा रहा है।

लव जिहाद का है मामला

धरमटेकड़ी क्षेत्र की महिला ने अपने हाथ में तख्ती लेकर बताया कि उसकी बेटी 29 जनवरी से लापता है। जिसे क्षेत्र का एक मुस्लिम युवक भगा ले गया है। महिला का आरोप है कि पुलिस में शिकायत के बाद भी आज तक पुलिस उसकी बेटी को नहीं ढूंढ पाई। उन्हें शक है कि कहीं न कहीं उनकी बेटी के साथ लव जिहाद जैसी घटना हुई है। वहीं, दूसरी तरफ कोतवाली थाना क्षेत्र में रहने वाली महिला का आरोप है कि उनकी बेटी 17 जनवरी से गायब है, जिसकी तलाश नहीं की गई।